बिना पैसों और बेहद कम पैसों के साथ शुरू किये जाने वाले कुछ बिजनेस.

क्या कोई व्यक्ति बिना पैसों के बिजनेस करने की सोच सकता है यदि हाँ तो क्या उसका ऐसा सोचना वर्तमान काल में व्यवहारिक है । जी हाँ ऐसे ही बहुत सारे प्रश्न भारत में अनेकों लोगों के अंतर्मन में कौंधते हैं। और वह अपनी इसी जिज्ञासा को शांत करने के लिए इसका जवाब इन्टरनेट पर ढूंढने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोगों को हम बताना चाहेंगे की जी हाँ वर्तमान में व्यक्ति अगर मेहनती एवं कौशल से परिपूर्ण हो तो वह बिना पैसों के भी खुद का व्यापार शुरू करके कमाई कर सकता है। और हम यहाँ पर यह भी स्पष्ट कर देना चाहते हैं की ये जो बिना पैसों के शुरू किये जाने वाले बिजनेस होते हैं इनमें अधिकतर बिजनेस इन्टरनेट या ऑनलाइन से जुड़े होते हैं । इसलिए जैसा की हमें ज्ञात है की वर्तमान में लगभग हर व्यक्ति के पास खुद का स्मार्टफोन एवं उसमें इन्टरनेट की सुविधा उपलब्ध है। इसलिए वह ऑनलाइन या इन्टरनेट से जुड़ा हुआ है। हालांकि यहाँ इस तरह के इन व्यापारों को दो भागों में विभाजित कर दिया है। यहाँ पर पहली लिस्ट हम ऐसे बिजनेस की पेश कर रहे हैं जिन्हें बिना पैसों के भी आसानी से शुरू किया जा सकता है। और दूसरी लिस्ट में हमने उन बिजनेस आइडियाज को रखा है जिन्हें शुरू करने में निवेश या पैसों की आवश्यकता तो होती है लेकिन यह बेहद कम होती है।

Zero investment business ideas in hindi

Table of Contents

बिना पैसों के शुरू किये जाने वाले व्यापारों की लिस्ट          

1. फ्रीलांसर (Work as an freelancer)

यद्यपि यह बिना पैसों के शुरू किया जाने वाला बिजनेस आइडियाज सिर्फ उन लोगों के लिए है जिनमें कुछ न कुछ कौशल हो। इसलिए ऐसे लोग जिन्हें ग्राफ़िक डिजाईन की जानकारी हो, वेब डेवलपर हों, मोबाइल एप्प डेवलपर हों, वर्डप्रेस डेवलपर हों, लिखने का काम आता हो, मार्केटिंग, एकाउंटिंग, कस्टमर सर्विस इत्यादि क्षेत्रों में महारत हासिल किये हुए लोग। घर बैठे बिना पैसों के ही इस काम की शुरुआत कर सकते हैं। चूँकि वर्तमान में वैश्विक स्तर पर फ्रीलांसिंग के माध्यम से लाखों लोग अपनी कमाई कर रहे हैं इसलिए इस क्षेत्र में बहुत सारी ऐसी वेबसाइट एवं पोर्टल हैं जो केवल भारत में ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व में अपनी सर्विस प्रदान करते हैं। यही कारण है की इस तरह का बिजनेस या काम करके उद्यमी घर बैठे ही विदेशी मुद्रा को अर्जित कर सकता है। यह काम योग्य व्यक्ति अपवर्क, फ्रीलांसर जैसी वेबसाइट के माध्यम से शुरू कर सकता है।      

2. यूट्यूब (Create a channel and make Useful Videos) :

यूट्यूब चैनल किसी भी विषय एवं क्षेत्र को माध्यम बनाकर शुरू किया जा सकता है यदि आपमें लोगों को हँसाने का कौशल छिपा है तो आप इसे यूट्यूब चैनल के माध्यम से लोगों तक ला सकते हैं । इसके अलावा टेक्नोलॉजी से प्यार करने वाले हैं और आपको इसकी जानकारी है तो आप टेक्नोलॉजी पर चैनल बना सकते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की आप जिस विषय या क्षेत्र में अनुभव एवं रूचि रखते हैं आप उस क्षेत्र में उपलब्ध अपने ज्ञान एवं कौशल को लोगों के साथ यूट्यूब चैनल के माध्यम से शेयर कर सकते हैं। यदि आप एक अच्छे कुक या सैफ हैं तो आप अपना कुकिंग चैनल भी शुरू कर सकते हैं। यूट्यूब में किसी भी विषय पर चैनल बनाया जा सकता है और जब लोगों को यह चैनल पसंद आने लगता है तो वे उसे सब्सक्राइब करते हैं। और जब आपके लाखों करोड़ों में सब्सक्राइबर हो जाते हैं तो आपके विडियो के वायरल होने की अधिक संभावना रहती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए बड़ी बड़ी कम्पनियां आपसे उनके उत्पाद या सेवा के बारे में प्रायोजित विडियो बनाने को कहते हैं जिसके बदले वे यूट्यूबर को पैसों का भुगतान करते हैं। यहाँ तक की कुछ प्रसिद्ध यूट्यूब चैनल के लिए अभिनेता एवं अभिनेत्री अपने फिल्म के प्रमोशन के लिए विडियो बनाते हैं जिससे यूट्यूबर के फॉलोअर में वृद्धि हो सकती है । यूट्यूब चैनल बनाने के लिए केवल व्यक्ति को एक जीमेल आईडी की आवश्यकता होती है जिसे फ्री में बनाया जा सकता है। जहाँ तक कमाई का सवाल है स्पोंसर्ड विडियो, डायरेक्ट विज्ञापन, गूगल विज्ञापन के माध्यम से कमाई की जा सकती है। इसलिए बिना पैसों के शुरू किये जाने वाले बिजनेस की लिस्ट में यह भी एक अहम् व्यापार है।                 

3. टिक टोक  जैसी एप्प रोपोसो इत्यादि के माध्यम से :

टिक टोक एक शोर्ट विडियो शेयरिंग चाइनीज एप्लीकेशन है चूँकि शुरूआती दौर में इसे सिर्फ एक फनी एप्प के तौर पर देखा जाता था यही कारण है की भारत में लोगों ने मनोरंजन के लिए इसे भारी मात्रा में डाउनलोड करना शुरू कर दिया। लेकिन आज इस एप्प के जरिये सिर्फ फनी विडियो नहीं बल्कि हर श्रेणी के विडियो उपयोगकर्ताओं द्वारा पब्लिश किये जा रहे हैं। यही कारण है की या एप्लीकेशन भारत में काफी प्रसिद्द एवं प्रचलित हो गई है। इसलिए यदि आपको लिप्सिंग, थोड़ी बहुत एक्टिंग, लोगों को हंसाने के आईडिया जैसे कौशल आते हैं तो आप इस एप्लीकेशन में लाखों करोड़ों फॉलोअर बनाने में कामयाब हो सकते हैं । हालांकि इस एप्लीकेशन के द्वारा कोई भी व्यक्ति यूट्यूब के जैसे विडियो में विज्ञापन सेट अप करके पैसे तो नहीं कमा सकता है।  लेकिन वह इसके माध्यम से फेमस हो सकता है और प्रायोजित विडियो बनाकर पैसे कमा सकता है। चूँकि वर्तमान में हर व्यक्ति के पास स्मार्टफोन है इसलिए यह काम करने के लिए भी किसी भी व्यक्ति को एक रूपये खर्च करने की आवश्यता नहीं होती। बल्कि जो मौजूदा इन्टरनेट प्लान चल रहा है उसी का डाटा इस्तेमाल में लाकर टिक टोक एप्प प्ले स्टोर से इनस्टॉल करने की आवश्यकता होती है। वर्तमान में टिक टोक नामक यह एप्प भारत में बैन हो चुकी है। इसलिए लोग इसी तरह की अन्य एप्प जैसे रोपोसो इत्यादि के माध्यम से भी पैसे कमा सकते हैं।           

4. पेड राइटिंग

पेड राइटिंग से आशय लिखने के काम से है यदि आपको लिखने का शौक है यानिकी यदि आपको किसी भी विषय पर लिखना पसंद है। तो वर्तमान में बहुत सारे लोग जैसे ब्लॉगर, कम्पनियां, मैगज़ीन, अख़बार इत्यादि अपनी वेबसाइट के लिए नए नए लेख लिखवाते रहते हैं। हालांकि आम तौर पर इन कम्पनियों या ब्लॉगर को उस क्षेत्र से सम्बंधित एक्सपर्ट की सलाह एवं अनुभव अपने दर्शकों एवं पाठकगणों तक पहुँचाने की होती है। इसलिए यदि आप किसी क्षेत्र के बारे में गहरी जानकारी रखते हैं तो आप उस विषय पर लेख लिख सकते हैं अन्यथा ऑनलाइन रिसर्च करके भी लिखने का शौक रखने वाले लेखक अपने इस शौक को कमाई का स्रोत बना सकते हैं।     

5. भाषा ट्रांसलेशन सर्विस

इस तरह का यह बिजनेस करने के लिए व्यक्ति को किसी दो या दो से अधिक अंतराष्ट्रीय भाषाओँ का ज्ञान होना अति आवश्यक है। जी हाँ भाषा ट्रांसलेशन सर्विस की आवश्यकता न सिर्फ बड़ी बड़ी कम्पनियों एवं बिजनेस ओनर को ही होती है। बल्कि सरकारी कार्यों को निष्पादित करने के लिए भी होती है लेकिन कोई भी सरकार बाहर की भाषा ट्रांसलेशन सर्विस लेने से कतराती है। क्योंकि अंतराष्ट्रीय मुद्दों पर कुछ ऐसी बात भी हो सकती हैं जिन्हें गोपनीय रखना सामाजिक, आर्थिक, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से बेहद जरुरी होता है। लेकिन निजी क्षेत्रों में भी इस तरह के कामों को करने वाले व्यक्तियों की अच्छी खासी डिमांड है। यद्यपि कुछ कंपनियां जैसे गूगल इत्यादि ऐसी सर्विस को ऑटोमेट करने को प्रयासरत है।    

6. ऑनलाइन फोटोग्राफ बेचना

आप यह तो नहीं सोच रहे हैं की आपके द्वारा खिंची गई फोटो का भला और क्या करेंगे यदि आप ऐसा सोच रहे हैं। तो आपको बता देना चाहेंगे की विभिन्न वेबसाइट ओनर, ब्लॉगर, कंटेंट प्रोडयूसर, ग्राफ़िक डिज़ाइनर इत्यादि को हर दिन किसी न किसी प्रोजेक्ट के लिए फोटो की आवश्यकता होती है। चूँकि इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेट पर कॉपीराइट का नियम लागू होता है । इसलिए ऐसे लोग खुद की ओरिजिनल फोटोग्राफ ऑनलाइन प्रॉपर्टी में पब्लिश करना पसंद करते हैं। इसलिए यदि आपको लगता है की आप एक अच्छे फोटोग्राफर हैं तो आप अपने द्वारा खींचीं गई फोटो को इन्टरनेट पर मौजूद विभिन्न फोटो सेलिंग वेबसाइट के माध्यम से बेच सकते हैं। यह काम करने के लिए भी उद्यमी को किसी भी प्रकार के कोई खर्च करने की आवश्यकता नहीं होती है।      

7. ऑनलाइन कोचिंग (Online Coaching)

यदि आपको किसी विषय जैसे विज्ञान, भूगोल, गणित इत्यादि विषयों में से किसी एक विषय की अच्छी जानकारी है और आपको लगता है की आप यह विषय औरों को भी पढ़ा सकते हैं। तो आप ऑनलाइन क्लास या ऑनलाइन कोचिंग शुरू कर सकते हैं। इस तरह का यह काम करने के लिए अनेकों फ्री वाले एवं भुग्तानित सॉफ्टवेर मौजूद हैं जो व्यक्ति को एक समय में एक से अधिक लोगों को पढ़ाने में मददगार साबित होते हैं। व्यक्ति को शुरू में फ्री वाले सॉफ्टवेर का ही इस्तेमाल करना चाहिए और जैसे जैसे उसका कारोबार बढ़ने लग जाय वैसे वैसे वह उसी सॉफ्टवेर का प्रो वर्जन भी खरीद सकता है। ऑनलाइन कोचिंग कंप्यूटर, लैपटॉप, वेबकैम इत्यादि की मदद से आसानी से प्रदान की जा सकती है। इसे बिना पैसों के शुरू किये जाने वाले बिजनेस की लिस्ट में इसलिए रखा है क्योंकि याडियो व्यक्ति के पास लैपटॉप या कंप्यूटर पहले से मौजूद है तो वह इस काम को बिना किसी खर्च के शुरू कर सकता है।     

8. ऑनलाइन कंसल्टिंग सर्विस

ऑनलाइन कंसल्टिंग सर्विस केवल और केवल कुछ पेशेवर व्यक्तियों जैसे डॉक्टर, वकील, चार्टेड अकाउंटेंट इत्यादि के लिए ही है । क्योंकि आम व्यक्ति से कंसल्टेशन के लिए कोई नहीं आता है और उसकी सलाह या विचारों को प्रदान करने के लिए कोई पैसे खर्च बिलकुल भी नहीं करेगा। इसलिए यदि आप वकील, डॉक्टर, चार्टेड अकाउंटेंट इत्यादि हैं तो आप अपना ऑनलाइन कंसल्टिंग सर्विस बिजनेस आसानी से बिना किसी खर्च के शुरू कर सकते हैं। क्योंकि वर्तमान में हर क्षेत्र से जुड़े कंसल्टिंग पोर्टल उपलब्ध हैं जैसे प्रेक्टो, क्लियरटैक्स, कानून इत्यादि इसके उदाहरण है। और यदि इस तरह का पेशेवर व्यक्ति चाहे तो खुद की वेबसाइट के माध्यम से भी ऑनलाइन कंसल्टेशन शुरू कर सकता है ।     

9. सोशल मीडिया एक्सपर्ट और मेनेजर

सोशल मीडिया की शुरुआत लोगों का मनोरंजन करने का तौर पर हुई थी शुरूआती दौर में लोग इसे केवल एक फोटो शेयरिंग वेबसाइट के तौर पर उपयोग में लाते थे। लेकिन वर्तमान में फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप्प, इन्स्टाग्राम इत्यादि का व्यापक इस्तेमाल सामने आ गया है।  और लोग सोशल मीडिया को विभिन्न कार्य सिद्ध करने के लिए इस्तेमाल में ला रहे हैं जहाँ कम्पनियां अपने उत्पाद या सेवा को प्रमोट करने के लिए, तो राजनेता अपनी छवि चमकाने के लिए वहीँ अभिनेता एवं अभिनेत्री प्रभाव दिखाने के लिए इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। यही कारण है की इसमें भी बिजनेस के अवसर उपलब्ध हुए हैं चूँकि वर्तमान समय में हर कंपनी, सेलेब्रिटी, राजनेता इत्यादि के लिए सोशल मीडिया में मौजूद होना लगभग अनिवार्य सा हो गया है चूँकि ये सभी पब्लिक फिगर होते हैं इसलिए इन्हें अपने सोशल मीडिया के माध्यम से बेहद छोटी से छोटी बात भी बड़ी सोच समझकर रखनी होती है। इसके अलावा अपने सोशल मीडिया अकाउंट से कुछ न कुछ नियमित रूप से पोस्ट करने की जिम्मेदारी भी सेलेब्रिटी इत्यादि की होती है। लेकिन इनके पास इतना समय नहीं होता इसलिए ये अपने सोशल मीडिया अकाउंट को मैनेज करने की जिम्मेदारी किसी सोशल मीडिया एक्सपर्ट को दे देते हैं। यदि आपको भी सोशल मीडिया की अच्छी जानकारी है तो आप इस तरह का यह बिजनेस बिना पैसों के आसानी से शुरू कर सकते हैं।        

10. ऑनलाइन किताबें प्रकाशित करना

यदि आप लेखक हैं या किसी खास विषय के ज्ञाता हैं तो आप ऑनलाइन अपनी किताब लिखकर इसे मुफ्त में प्रकाशित करके अमेज़न के माध्यम से बेच भी सकते हैं। वह इसलिए क्योंकि वर्तमान में अमेज़न कींडल नामक यह सुविधा किसी भी व्यक्ति को उसकी किताब ऑनलाइन प्रकाशित करने का मौका तो देती ही है। साथ में इसे अमेज़न कींडल स्टोर के माध्यम से पूरी दुनिया के लोगों के लिए उपलब्ध भी कराती है कोई भी व्यक्ति कहीं से भी इसे खरीद सकता है। जब किताब की एक निश्चित संख्या से अधिक बिक्री हो जाती है तो अमेज़न जैसी बड़ी कंपनी उस किताब को प्रमोट करने के लिए अपने खर्चे पर विज्ञापन चलाती है।     

11. कैरियर काउन्सलिंग

यदि आपको लगता है की आपके द्वारा बताई गेऊ बातें लोगों के दिलो दिमाग में खासा असर करती हैं और वे उन्हें किसी संताप या मायूसी से खुशियों की तरफ मोड़ सकती हैं। तो आप इस तरह का यह बिजनेस मुफ्त में शुरू कर सकते हैं बशर्ते आपके पास अपने क्लाइंट या स्टूडेंट से मिलने के लिए कोई पर्याप्त जगह मौजूद होनी चाहिए। जी हाँ कैरियर काउंसलर का काम व्यक्ति को कैरियर सलाह देने का होता है और साथ में ऐसे लोग जो अपने काम से हतोत्साहित हो गए हों उनमें नई उर्जा का संचार करके उनका मार्गदर्शन करने का भी होता है।   

12. फिटनेस इंस्ट्रक्टर

यदि आपने अपने शरीर पर अच्छा काम किया है अर्थात यदि लोग आपके आकर्षक शरीर की तारीफ करते नहीं थकते। और आपने यह खुद किसी रणनीति के तहत किया है तो आपको एक एक मूव अच्छी तरह याद होगा की वह मनुष्य शरीर पर ढांचागत किस तरह का प्रभाव डालता है। या फिर आप चाहें तो किसी संस्थान से फिटनेस इंस्ट्रक्टर का कोर्स भी कर सकते हैं लेकिन यह जरुरी है की आपका अपना शरीर भी आकर्षक होना चाहिए। अन्यथा आपके द्वारा बताई गई टिप्स का किसी पर कोई सकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ेगा जो इस बिजनेस के लिए उचित नहीं है। आज के युग में बड़े बड़े लोगों जैसे नेता, अभिनेता, अभिनेत्री, मॉडल इत्यादि को फिटनेस इंस्ट्रक्टर की आवश्यकता होती है।     

13. सिलाई सिखाने का काम

इस तरह के इस बिजनेस को बिना पैसों के सिर्फ वही लोग शुरू कर सकते हैं जिन्हें सिलाई का काम काफी कुशलता से आता हो और वे मौजूदा काल में इसी काम के जरिये अपनी आजीविका चला रहे हों। और जिन्हें भी वे अपनी यह सर्विस दे रहे हों उन्हें उनके द्वारा सिलाई किये हुए कपड़े बेहद पसंद आती हों। चूँकि उद्यमी के पास मशीनें इत्यादि पहले से मौजूद होती है इसलिए वह सिलाई सिखाने के लिए विज्ञापन कर सकता है ।   

नाम मात्र पैसों के साथ शुरू किये जाने वाले बिजनेस

अब तक हमने ऐसे बिजनेस के बारे में बात की जिन्हें शुरू करने के लिए पैसों की आवश्यकता नहीं होती है अर्थात उन्हें बिना पैसों के भी शुरू किया जा सकता है। अब आगे इसी लेख में हम ऐसे बिजनेस के बारे में बात करने वाले हैं जिन्हें नाम मात्र पैसे खर्च करके शुरू किया जा सकता है। कहने का आशय यह है की व्यापारों की यह ऐसी लिस्ट है जिन्हें बेहद कम निवेश के साथ शुरू किया जा सकता है।    

1. ब्लॉग्गिंग (Blogging)

वर्तमान में विश्व में ही नहीं अपितु भारत में भी इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या में काफी वृद्धि हुई है जब से भारत में मोबाइल डाटा में जिओ क्रांति का आवागमन हुआ है। तब से इन्टरनेट पैक काफी सस्ते होने के कारण भारत में और अधिक इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं में वृद्धि हुई है और इसके कारण ब्लॉग्गिंग को भी काफी फायदा हुआ है। लेकिन ब्लॉग्गिंग जितना आसान सुनने में लगता है उतना आसान है नहीं यह सिर्फ उन लोगों के लिए है जो एकाग्रचित होकर किसी विषय पर गहराई में जाकर लिखने का सामर्थ्य रखते हैं । इसके अलावा इस तरह के बिजनेस में काफी धैर्य की आवश्यकता होती है और जब एक बार उद्यमी का ब्लॉग लोगों के बीच प्रसिद्ध हो जाता है तो उसके बाद वह अपने ब्लॉग से गूगल एडसेंस के माध्यम से कमाई तो कर ही सकता है। इसके अलावा विषयक प्रायोजित लेख लिखकर, वेबसाइट में डायरेक्ट विज्ञापन स्लॉट बेचकर एवं कई अन्य तरीकों से भी कमाई कर सकता है। यद्यपि ब्लॉग्गिंग मुफ्त में भी शुरू की जा सकती है ब्लॉगर एवं वर्डप्रेस मुफ्त में ब्लॉग बनाने के लिए अपना प्लेटफोर्म मुहैया कराते हैं। इसके अलावा उद्यमी के पास दूसरा विकल्प 7-10 हज़ार रूपये खर्च करके अपनी फुल कण्ट्रोल वाली वेबसाइट बनाने का भी है। इसमें उद्यमी डोमेन, वेबहोस्टिंग इत्यादि खरीदने की आवश्यकता होती है।

2. डोमेन खरीदने बेचने का बिजनेस

आम तौर पर एक डोमेन दो सौ से सात सौ रूपये में आसानी से ख़रीदा जा सकता है। यह नाम मात्र पैसों से शुरू किया जाने वाला एक ऐसा बिजनेस है यदि उद्यमी की रणनीति एवं किस्मत अच्छी रही तो एक ही डोमेन उसे करोड़पति बनाने का सामर्थ्य रखता है। जी हाँ दोस्तों पीछे घटी ऐसी ही घटनाएँ ये साबित करती हैं की यदि डोमेन खरीदने एवं बेचने वाला व्यक्ति डोमेन खरीदते समय बड़ी बड़ी कम्पनियों एवं सर्च इंजन फ्रेंडली इत्यादि बातों का ध्यान रखकर डोमेन ख़रीदे तो हो सकता है की उसका कोई एक ही डोमेन लाखों रूपये में बिक जाय। 2010 में जिस सख्स ने कुछ पांच दस डॉलर में FB.com ख़रीदा था शायद उसे पता नहीं था की या डोमेन उसकी जिन्दगी बदल देगा। 2011 में FB.com को उस सख्स से फेसबुक ने 8.5 मिलियन डॉलर में खरीद लिया था। यानिकी आज यदि इन 85 लाख डॉलर को हम इंडियन रूपये में कन्वर्ट करेंगे तो यह लगभग 65 करोड़ रूपये होंगे। कहने का आशय यह है की अच्छे डोमेन को कोई भी किसी भी देश का व्यक्ति या कंपनी अपनी करेंसी में खरीद सकते हैं। डोमेन खरीदने एवं बेचने के बिजनेस को ध्यान में रखकर ही गोडेडी जैसी मल्टी नेशनल कंपनी ने गो डेडी ऑक्शन नामक प्लेटफोर्म की स्थापना की है।        

3. विडियो एडिटिंग बिजनेस

यद्यपि यह बिजनेस सिर्फ उन लोगों के लिए हैं जिनके पास घर में हाई कंफिगरेशन वाला लैपटॉप या कंप्यूटर उपलब्ध हो। और उन्हें बेसिक कंप्यूटर संचालित करने की जानकारी हो। यद्यपि जिनके पास कंप्यूटर या लैपटॉप नहीं है यदि वे इस तरह का यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो उन्हें 40-50 हजार रूपये की निवेश की आवश्यकता होती है। जबकि जिनके पास स्वयं का लैपटॉप या कंप्यूटर है उन्हें सिर्फ 8-10 हज़ार विडियो एडिटिंग के एडवांस सॉफ्टवेयर खरीदने में खर्च करने पड़ सकते हैं। ऐसे लोग जो फोटो स्टूडियो या शादी इत्यादि की वीडियोग्राफी करते हैं उनके लिए विडियो एडिटिंग का काम सीखना काफी फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि जिस विडियो को वे मिक्सिंग इत्यादि के लिए किसी अन्य विडियो एडिटिंग करने वाले को देते हैं वे यह काम खुद कर सकेंगे और और फोटोग्राफर का भी काम स्वयं कर सकेंगे।     

4. एफिलिएट मार्केटिंग

एफिलिएट मार्केटिंग शुरू करने के लिए भी उद्यमी को खुद की वेबसाइट या ब्लॉग बनाने की आवश्यकता होती है और जिस ब्लॉग में अच्छा खासा ट्रैफिक होता है। अच्छी एफिलिएट मार्केटिंग कम्पनियां उन्हीं के आवेदन स्वीकार करती हैं। हालांकि जैसे की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की खुद की वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए वेब होस्टिंग की आवश्यकता होती है और जब व्यक्ति द्वारा वेब होस्टिंग खरीद ली जाती है। तो अधिकतर कम्पनियाँ ऐसी होती हैं जो उसके अकाउंट में उसका एफिलिएट लिंक आटोमेटिक क्रिएट कर देती हैं और उद्यमी उसी लिंक को अपनी वेबसाइट या अन्य प्लेटफोर्म में सर्कुलर करके लोगों से वेब होस्टिंग खरीदने की अपील कर सकता है। इन कम्पनियों द्वारा प्रत्येक बिक्री पर दिया जाने वाला कमीशन ई कॉमर्स वेबसाइट की तुलना में काफी अधिक होता है । ये वेब होस्टिंग कम्पनियाँ अलग अलग होस्टिंग प्लान पर अलग अलग कमीशन ऑफर कर रही होती हैं जो $30 से लेकर $100 तक हो सकता है। यही कारण है की बहुत सारे टेक ब्लॉगर एफिलिएट मार्केटिंग की बदौलत काफी अच्छा पैसा कमा रहे हैं।     

5. साइकिल रिपेयरिंग शॉप

यह व्यापार भी एक ऐसा व्यापार है जो कौशल प्रधान है अर्थात इस व्यापार को भी सिर्फ वही व्यक्ति कर सकता है जिसे साइकिल रिपेयरिंग का काम करना अच्छी तरह से आता है। इसमें पंक्चर लगाना, साइकिल को असेम्बल करना, साइकिल के हर एक पुर्जे की जानकारी रखना इत्यादि शामिल है। हालांकि इच्छुक व्यक्ति चाहे तो साइकिल रिपेयरिंग का प्रशिक्षण या तो किसी संस्थान या फिर किसी साइकिल रिपेयरिंग दुकान से ही लगता है । हफ्ते पन्द्रह दिन की ट्रेनिंग इस काम के लिए पर्याप्त होगी। लेकिन यह काम उद्यमी को वहां पर शुरू करना चाहिए जो रिहायशी इलाका हो और वहां पर बच्चों की संख्या अधिक हो क्योंकि वर्तमान मने देखा जा रहा है की साइकिल का अधिक से अधिक इस्तेमाल बच्चों द्वारा ही किया जा रहा है। शुरुआत में रिपेयरिंग से शुरू करके उद्यमी नई साइकिल बेचना भी शुरू कर सकता है।      

6. हाउसकीपिंग एवं मेड एजेंसी

हर तरह के व्यवसायिक प्रोजेक्ट के लिए हाउसकीपिंग की आवश्यकता तो होती ही है साथ में आजकल घरों में भी मेड रखने का रिवाज सा चल गया है। इसलिए उद्यमी चाहे तो हाउसकीपिंग एवं मेड एजेंसी शुरू करके भी अपनी कमाई कर सकता है। यद्यपि इस तरह के बिजनेस को शुरू करने के लिए उद्यमी का अपने बिजनेस को कम्पनीज एक्ट के तहत मिस्त्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर्स में रजिस्टर कराना बेहद आवश्यक है । इसके अलावा उद्यमी को टैक्स रजिस्ट्रेशन, ईपीएफ, ईएसआई इत्यादि रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता होती है। लेकिन चूँकि हाउसकीपिंग की आवश्यकता होटल, हॉस्पिटल, ऑफिस, सरकारी प्रोजेक्ट इत्यादि लगभग हर क्षेत्र में होती है इसलिए यह बिजनेस एक बेहद ही लाभकारी बिजनेस के रूप में कब परिवर्तित हो जायेगा और यह उद्यमी की अपेक्षा से कब बहुत अधिक कमाई करने लग जाएगा यह कोई नहीं जानता है।    

7. ऑनलाइन कोर्स या मेम्बरशिप साईट

ऑनलाइन कोर्स या मेम्बरशिप साईट का यह बिजनेस भी बेहद कम निवेश यानिकी कुछ हज़ार रुपयों के साथ आसानी से शुरू किया जा सकता है। लेकिन ध्यान रहे उद्यमी को किसी विषय विशेष में एक्सपर्ट होना बेहद जरुरी है। इस बिजनेस में व्यक्ति जिस विषय में एक्सपर्ट है उस विषय पर एक ऑनलाइन कोर्स तैयार कर सकता है और फिर उस कोर्स को एक वेबसाइट बनाकर उसमें पब्लिश कर सकता है। लेकिन इस कोर्स का फुल एक्सेस पाने के लिए ग्राहकों को मेम्बरशिप लेने के लिए आग्रह कर सकता है। मेम्बरशिप सिर्फ उसी को दी जाती है जो मेम्बरशिप फीस का भुगतान करता है।     

8. ड्राप शिपिंग बिजनेस

ड्राप शिपिंग बिजनेस में उद्यमी को किसी दुसरे के उत्पाद अपनी वेबसाइट या पोर्टल के माध्यम से बेचने होते हैं इसलिए इसमें भी जो खर्चा आएगा वह स्वयं की ई कॉमर्स वेबसाइट बनाने में ही आएगा। अनुमान लगाया जा सकता है की यह बिजनेस 10 से पन्द्रह हज़ार में आसानी से शुरू किया जा सकता है । इस प्रक्रिया में उद्यमी जो भी उत्पाद बेचना चाह रहा हो उसके विनिर्माणकर्ता या सप्लायर, डिस्ट्रीब्यूटर से संपर्क करता है और उससे यह तय करता है की वह अपने उत्पाद उसको किस कीमत पर देगा। कीमत तय करने के बाद उद्यमी उस उत्पाद की फोटो और स्वयं द्वारा निर्धारित कीमत को अपनी वेबसाइट के माध्यम से पब्लिश करता है। जब कस्टमर द्वारा कोई सामान आर्डर कर दिया जाता है तो उद्यमी सप्लायर या डिस्ट्रीब्यूटर को इसकी सूचना एवं पैसे देता है जिसके बाद सप्लायर या डिस्ट्रीब्यूटर ग्राहक के दिए गए पते पर वह विशेष उत्पाद भेज देता है।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *