वेडिंग प्लानिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? Wedding Planning Business in Hindi.

Wedding Planning को यदि हम सरल भाषा में समझने की कोशिश करें तो हम इसे शादी विवाह की योजना बनाने का व्यापार कह सकते हैं। यह इवेंट मैनेजमेंट से जुड़ा हुआ ही बिजनेस है कहने का आशय यह है की इवेंट मैनेजमेंट करने वाले उद्यमी भी Wedding Planning इत्यादि करते हैं । भारत में शादी – विवाह को बड़ा महत्व दिया जाता है इसमें लोग अपनी हैसियत के मुताबिक या हैसियत से बाहर जाकर भी खर्चा करने से नहीं कतराते हैं। कल्पना कीजिये की आपके घर में किसी सदस्य की शादी है और आप कभी रसोइये, कभी टेंट वाले, कभी फूल वाले, कभी बैंड बाजे वाले, कभी मेहमाननवाजी में लगे हुए हैं तो आप ही बताइए की आप उस शादी को एन्जॉय कब कर पाएंगे। कहने का आशय यह है की घर में किसी सदस्य की शादी होने पर घर के सदस्य ही उस शादी को एन्जॉय नहीं कर पाते क्योंकि उन्हें उस शादी के और भी कई प्रबंध देखने की आवश्यकता होती है। लोगों की इसी समस्या को हल करने का नाम ही Wedding Planning Business है इसमें घर के सदस्यों द्वारा एक राय बनाकर वेडिंग प्लानर को पहले ही बता दिया जाता है की उन्हें शादी में कैसी व्यवस्था चाहिए। उसके बाद उस शादी को सुचारू रूप से सम्पन्न करने की जिम्मेदारी वेडिंग प्लानर की हो जाती है क्योंकि इस काम के बदले उसे कमाई करने का अवसर प्राप्त होता है। भारत की यदि हम बात करें तो यहाँ बहुत सारे लोग शादी के बारे में यह सोचते हैं की शादी जीवन में एक बार होती है तो इसमें यदि हैसियत से थोड़ा बधुत ज्यादा खर्च हो भी जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ता। इसलिए लोगों को दिखाने के लिए वे अपने प्रियजनों की शादी को भव्य से भव्य बनाना चाहते हैं ताकि उस शादी के चर्चे लम्बे समय तक लोगों की जुबान पर रहे। शादियों को भव्य और सुचारू रूप से संपन्न कराने में जितना योगदान पंडित जी का होता है उतना ही योगदान वर्तमान में वेडिंग प्लानर का भी हो गया है। इसलिए Wedding Planning Business शुरू करना किसी भी इच्छुक एवं पात्र उद्यमी के लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

Wedding Planning Business in Hindi

वेडिंग प्लानिंग क्या है (What is Wedding Planning in Hindi):

एक वेडिंग प्लानर वह होता है जो दूसरों की शादी की योजना, आर्गेनाइजेशन और प्रबंधन करने का काम करता है। जैसा की हम सब जानते हैं की शादी किसी भी व्यक्ति के जीवन में सबसे महत्वपूर्ण और खुशहाल घटनाओं में से एक है। लेकिन यह घरवालों के लिए तनावपूर्ण भी हो सकता है क्योंकि उन्हें शादी के आयोजन, आर्गेनाइजेशन, प्रबंधन को लेकर बहुत सारी चिंताएं रहती हैं। इसलिए लोग अपने मन की शांति को सुनिश्चित करने के लिए वेडिंग प्लानर की नियुक्ति करते हैं। Wedding Planning से आशय किसी शादी के आयोजन, आर्गेनाइजेशन और प्रबंधन करने से है।

वेडिंग प्लानिंग की आवश्यकता:

भारत विश्व में जनाधिक्य के मामले में दूसरा सबसे बड़ा देश है और वर्ष के कुछ महीनों को छोड़ दें, तो बाकी महीने यहाँ शादी, विवाह के कार्यक्रम होते रहते हैं। लेकिन घर में यदि किसी सदस्य की शादी हो तो पूरे परिवार वालों का चैन सुकून तब तक गायब रहता है जब तक की शादी अच्छे ढंग से निबट नहीं जाती है। जी हाँ दोस्तों वैसे तो शादी जैसा खुशहाल और महत्वपूर्ण दिन जीवन में शायद ही कोई और हो, लेकिन सब कुछ कैसे सुचारू रूप से होगा यह चिंता परिवार वालों को निरंतर होती रहती है। यही कारण है की आपने भी देखा होगा जिस घर में शादी होती है उस घर के सदस्य उस शादी को एन्जॉय करने के बजाय अन्य अन्य कामों में व्यस्त रहते हैं। क्योंकि कोई भी यह नहीं चाहता की उनके द्वारा निमंत्रित मेहमान शादी में कोई भी कमी निकाल पाने में सफल हो पायें। कुछ लोग खुद से यह सफलतापूर्वक कर पाते हैं तो कुछ नहीं भी कर पाते हैं इसी समस्या के समाधान के लिए लोग Wedding Planning के लिए वेडिंग प्लानर को नियुक्त कर लेते हैं ताकि उनकी मानसिक शांति बनी रहे और वे अपने प्रियजनों की शादी में एन्जॉय कर सकें ना की काम और चिंता के बोझ में दबे रहें। जैसे जैसे लोगों के जीवनस्तर और आमदनी में बढ़ोत्तरी हो रही है लोग हर काम के लिए पेशेवर व्यक्तियों को नियुक्त कर रहे हैं शादी विवाह का आयोजन करने के लिए भी वेडिंग प्लानर की मदद ली जा रही है।

वेडिंग प्लानिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to Start a Wedding Planning Business):

Wedding Planning Business शुरू करने के बारे में खास बात यह है की उद्यमी चाहे तो इसे शुरूआती दौर में अपने घर से भी शुरू कर सकता है। लेकिन इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने से पहले उद्यमी को एक बात का ध्यान अवश्य रखना होगा की यह बिजनेस वर्तमान में सिर्फ शहरी और नगरीय इलाकों में ही शुरू किया जा सकता है। क्योंकि संपन्न लोग जो इस तरह के कार्यों में पैसे खर्चा करते हैं वे इन्हीं इलाकों में निवास करते हैं यह व्यवसाय ग्रामीण इलाके के लिए बिलकुल भी नहीं है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का वेडिंग प्लानिंग बिजनेस शुरू कर सकता है।

1. प्रशिक्षण या अनुभव प्राप्त करें

यदि उद्यमी ने वेडिंग प्लानर  का कोई कोर्स किया हो तो उसे प्रशिक्षण की आवश्यकता तो नहीं होगी लेकिन इस व्यवसाय की अन्दुरुनी बातों का पता करने के लिए उसे अनुभव लेने की आवश्यकता अवश्य होगी। इसके अलावा यदि उद्यमी ने कोई कोर्स इत्यादि न किया हुआ हो तो वह कोई लघु अवधि के प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लेकर Wedding Planning की जानकारी ले सकता है और उसके बाद अनुभव लेने के लिए किसी इवेंट कंपनी या फिर वेडिंग प्लानिंग कंपनी में जॉब कर सकता है। जब उद्यमी को इस बात का पता चल जाता है की उसे इस व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने के लिए किन किन चीजों की आवश्यकता होगी और इस व्यवसाय में क्या क्या चुनौतियाँ उसके सामने भविष्य में आ सकती है और उद्यमी उनसे किस तरह से निबटेगा। तो फिर वह इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आगे कदम बढ़ा सकता है।    

2. बिजनेस प्लान तैयार करें (Business Plan for Wedding Planning)

अब यदि उद्यमी ने आवश्यक प्रशिक्षण और अनुभव Wedding Planning Business शुरू करने के लिए प्राप्त कर लिया हो तो अब उद्यमी का अगला कदम एक प्रभावी बिजनेस प्लान तैयार करने का होना चाहिए। यह एक ऐसा दस्तावेज होता है जिसे व्यवसाय का रोडमैप कहा जाता है इसमें उद्यमी घर से शुरू करेगा या ऑफिस स्थापित करके शुरू करेगा, बिजनेस की लागत, टीम कैसे बिल्ड करेगा, किन किन लोगों को अपने साथ जोड़ेगा, एक निश्चित समय के बाद उद्यमी के व्यवसाय में कितनी वृद्धि हो चुकी होगी, इत्यादि बातों को उल्लेखित करना आवश्यक होता है। क्योंकि अक्सर देखने में आया है की जो बिजनेस बिना योजना बनाये शुरू किये जाते हैं ,उनके सफल होने की संभावना कम और फेल होने की संभावना अधिक होती है ।

3. ऑफिस सेटअप कराएँ

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की शुरूआती दौर में उद्यमी चाहे तो इस व्यवसाय को केवल एक फ़ोन के माध्यम से अपने घर से भी शुरू कर सकता है। लेकिन यदि उद्यमी Wedding Planning Business में बहुत आगे तक जाने की सोच रहा है तो उसे खुद का एक ऑफिस सेटअप कराना ही होगा। इसे उद्यमी चाहे तो किसी स्थानीय बाजार में या अपने घर के किसी खाली कमरे में भी खोल सकता है वास्तव में देखा जय तो ऑफिस इसलिए जरुरी हो जाता है ताकि आपके ग्राहक और सहयोगी जैसे टेंट वाला, बैंड वाला, फूल वाला, लाइट वाला इत्यादि आपसे आपके ऑफिस में संपर्क कर सकें।   

4. लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन (License For Wedding Planning)

Wedding Planning Business को व्यक्तिगत तौर पर शुरू करने के लिए शायद ही किसी लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता होलेकिन यदि उद्यमी अपने व्यवसाय को एक संगठनात्मक स्वरूप प्रदान करना चाहता है तो उसे निम्न लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता हो सकती है।

  • व्यवसाय का नाम सर्च करना और रजिस्टर करना।
  • प्रोप्राइटरशिप या वन पर्सन कंपनी के तौर पर रजिस्ट्रेशन।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन।
  • व्यवसाय के नाम से बैंक में चालू खाता।
  • स्थानीय प्राधिकरण से ट्रेड लाइसेंस।
  • उद्यम रजिस्ट्रेशन ।

5. अपनी टीम बनायें (Build Team for Wedding Planning)

यदि उद्यमी को Wedding Planning की जानकारी और अनुभव है तो ग्राहकों से डील इत्यादि तो उद्यमी स्वयं अकेले भी फाइनल कर लेगा। लेकिन जब बात उस डील को कार्यान्वित करने की आएगी तो उद्यमी को एक बड़ी सी टीम की आवश्यकता होती है। जी हाँ अक्सर देखा गया है की लोग अपनी मानसिक शांति के लिए किसी एक वेडिंग प्लानर को नियुक्त करके ही सारी ज़िम्मेदारियाँ जैसे मेहमाननवाजी, खान पान, डी. जे, बैंड बाजा, टेंट, फोटोग्राफी इत्यादि सभी कुछ उसी को दे देते हैं। इसलिए इन सभी कार्यों को निबटाने के लिए उद्यमी को बड़ी सी टीम की आवश्यकता होती है इसके लिए उद्यमी को चाहिए की वह शुरूआती दौर में अपने एरिया में उपलब्ध सभी टेंट वालों, डीजे वालों, कैटरिंग वालों, बैंड बाजा ढोल वालों, लाइट वालों, फोटोग्राफी वालों इत्यादि से संपर्क बनाये और उनसे टाई अप करे की यदि वह उन्हें अपनी टीम का हिस्सा बनाकर काम दिलाता है तो उसमें उसका क्या कमीशन रहेगा। यह सारी बातें पहले ही लिखित रूप में तय होनी चाहिए।     

6. मार्केटिंग करें और कमायें  

अब Wedding Planning बिजनेस कर रहे उद्यमी के पास खुद का ऑफिस भी है और उसके साथ बहुत बड़ी टीम जुड़ी भी हुई है। तो अब उद्यमी का अगला कदम अपने व्यवसाय की मार्केटिंग करने का होना चाहिए इसके लिए उद्यमी ऑनलाइन और ऑफलाइन मार्केटिंग के अनेकों माध्यमों को अपना सकता है। जैसे जैसे उद्यमी को काम मिलता जायेगा और वह उन कार्यक्रमों को सफलतापूर्वक निभाता जायेगा उसके काम के बारे में चर्चएंभी होंगी और उद्यमी का काम बढ़ता जायेगा। इस तरह का यह व्यापार लोगों को उनकी मानसिक आज़ादी प्रदान करने का काम करता है इसलिए उद्यमी के व्यवसाय की टैगलाइन इससे मिलती जुलती होनी चाहिए।       

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

error: Content is protected !!