जैसा की नाम से ही स्पष्ट है की Udyogini Scheme महिलाओं उद्यमियों को प्रोत्साहित और उनके विकास के लिए शुरू की गई है। सरकार ने इस योजना की शुरुआत महिला उद्यमियों के कल्याण एवं विकास के उद्देश्य से की है। आम तौर पर देखा गया है की अधिकतर महिलाएं घर गृहस्थी के कामों तक ही सिमित रहती हैं, लेकिन कई ऐसी महिलाएँ भी होती हैं जो खुद का कोई काम धन्धा कर रही होती हैं या फिर करना चाहती हैं । लेकिन उनके सामने अपना धंधा बढ़ाने या शुरू करने के लिए वित्त की कमी कभी भी हो सकती है।

इसी बात के मद्देनजर भारत सरकार से समर्थित महिला विकास निगम ने Udyogini Scheme की शुरुआत की है। यह एक व्यापारिक ऋण योजना है, इसके तहत सिर्फ महिला उद्यमियों को उचित ब्याज दरों पर आसानी से व्यापारिक ऋण उपलब्ध कराया जाता है।

कहने का आशय यह है की Udyogini Scheme देश में और ग्रामीण इलाकों में महिला उद्यमियों की संख्या में बढ़ोत्तरी करना चाहती है। ताकि उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाया जा सके, और उन्हें अपने खर्चों के लिए घर के अन्य सदस्यों पर आश्रित न होना पड़े। Udyogini Scheme के तहत महिला उद्यमियों को वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने की व्यवस्था है ताकि गरीब महिलाओं के बीच भी उद्यमिता को प्रोत्साहित किया जा सके।

udyogini scheme

Udyogini Scheme क्या है?

भारत सरकार द्वारा समर्थित महिला विकास निगम द्वारा संचालित यह एक व्यापारिक ऋण योजना है। जिसका लक्ष्य गरीब परिवारों की महिलाएं जिनकी वार्षिक आमदनी 1.5 लाख रूपये से कम है। उन्हें उनका काम धन्धा शुरू करने, या पहले से मौजूद काम धंधे को पुनर्जीवित करने इत्यादि के लिए सब्सीडाइज्ड या बेहद कम ब्याज दरों पर व्यापारिक ऋण उपलब्ध कराना है।

ऋण लेने के पात्रता

कोई भी इच्छुक महिला जो नीचे दिए गए पात्रता मानदंडों को पूर्ण करती हो, Udyogini Scheme के तहत ऋण लेने के लिए पात्र है । लेकिन इस योजना का प्रमुख लक्ष्य ग्रामीण महिला उद्यमियों को रियायती ब्याज दरों पर ऋण प्रदान करना है। इसलिए ग्रामीण महिला उद्यमियों को इस योजना के तहत ऋण प्रदान करने के लिए प्राथमिकता दी जा सकती है।

  • Udyogini Scheme के तहत लोन केवल और केवल महिला उद्यमियों के लिए है।
  • महिला उद्यमी को किसी अन्य वित्तीय संसथान या बैंक का डिफाल्टर नहीं होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता की लोन पुनर्भुगतान करने की क्षमता और अच्छा क्रेडिट स्कोर होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के परिवार की वार्षिक आय 1.5 लाख रूपये या इससे भी कम होनी चाहिए।
  • विधवा और दिव्यांग महिला उद्यमियों के लिए आय सीमा निर्धारित नहीं है।

लोन लेने के लिए क्या क्या डाक्यूमेंट्स चाहिए?   

  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ के साथ अच्छे से भरा हुआ आवेदन फॉर्म।
  • आवेदनकर्ता का जन्म प्रमाण और आधार कार्ड।
  • आवेदनकर्ता का राशन कार्ड या बीपीएल कार्ड।
  • पता और आय प्रमाण।
  • यदि लागू हो तो जाति प्रमाण पत्र।
  • बैंक डिटेल्स के साथ बैंक की पासबुक।
  • बैंक या वित्तीय संस्थान द्वारा माँगे जाने वाले अन्य दस्तावेज।  

बैंक जिनके द्वारा Udyogini Scheme के तहत ऋण दिया जाता है।

एक नहीं बल्कि कई बैंकों द्वारा जिसमें सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों के बैंक शामिल हैं Udyogini Scheme के तहत इच्छुक व पात्र महिला उद्यमियों को ऋण प्रदान किया जाता है।  इनमें से कुछ प्रमुख बैंकों और वित्तीय संस्थानों की लिस्ट निम्नवत है ।

1. बजाज फाइनेंस द्वारा जारी Udyogini Scheme   

ब्याज दरसमाज के सभी वर्गों से जुड़ी महिला उद्यमियों को ब्याज मुक्त ऋण प्रदान किये जाने का प्रावधान।
कितने तक का लोन दिया जायेगाअधिक से अधिक रूपये 3 लाख रूपये देने का प्रावधान।
क्या क्या बिजनेस करने पर लोन दिया जायेगासूक्ष्म उद्योगों से जुड़ी लगभग 88 व्यवसायिक गतिविधियों के लिए लोन ले सकते हैं ।
लोन पर कितनी रियायत मिलेगीअधिक से अधिक 30% तक रियायत देने का प्रावधान।
पारिवारिक वार्षिक आय कितनी होनी चाहिए1.5 लाख रूपये से कम होनी चाहिए।
क्या कोई कौशल और प्रशिक्षण कार्यक्रम भी उपलब्ध होगाजी हाँ

2. सारस्वत बैंक द्वारा जारी Udyogini Scheme

 सूक्ष्म उद्यमलघु उद्यम मध्यम उद्यम
ब्याज दर 11.15% से ऊपर11.15% से ऊपर11.15% से ऊपर
लोन अमाउंट 2 लाख तक2 लाख से 50 लाख तक50 लाख रूपये से 1 करोड़ तक 
प्रोसेसिंग शुल्क500010 लाख तक 5000 10 लाख से 25 लाख तक – 7000 25 लाख से अधिक पर – 1000010000 रूपये
लोन पुनर्भुगतान का समय 6 साल6 साल7 साल
मार्जिन NIL20 से 25%20 से 25%
सिक्यूरिटी पति या परिवार के सदस्यों की गारंटीदो गारंटर के साथ 25% कोलेटरल सिक्यूरिटीदो गारंटर के साथ 30% कोलेटरल सिक्यूरिटी

 3. पंजाब और सिंध बैंक की Udyogini Scheme   

व्यापार लोन पर ब्याज दरकार्यशील पूँजी पर 9.65% पर
लोन अमाउंटबिजनेस की आवश्यकता पर निर्भर करता है
प्रोसेसिंग शुल्ककुछ नहीं
मार्जिन25000 रूपये तक
सिक्यूरिटी/कोलेटरल25000 रूपये तक
किस प्रकार का लोन दिया जायेगाटर्म लोन और वर्किंग कैपिटल लोन

4. कर्णाटक महिला विकास निगम की Udyogini Scheme

ब्याज दरेंबिजनेस की आवश्यकता पर निर्भर करता है
उम्र की सीमाकम से कम 18 और अधिक से अधिक 45 वर्ष
लोन अमाउंट3 लाख रूपये तक
सब्सिडीअनुसूचित जाति/जनजाति जिनकी वार्षिक आय 2 लाख रूपये से कम है 50% तक की सब्सिडी
पारिवारिक आय सीमाविशेष श्रेणी से सम्बंधित उद्यमी के लिए कोई सीमा नहीं, जबकि सामान्य श्रेणी के लिए 40000रूपये से कम
उद्यमिता विकास प्रशिक्षणलोन वितरित से पहले 3 दिन का प्रशिक्षण

 ध्यान रहे उपर्युक्त टेबल मरे दी गई ब्याज दरें इत्यादि समय समय पर परिवर्तित होती रहती हैं, इसलिए लेटेस्ट ब्याज दरों के लिए आपको सम्बंधित बैंक से संपर्क करना होगा।

किस किस काम के लिए लोन लिया जा सकता है

कुटीर उद्योगों से जुड़ी महिला उद्यमी या एक ऐसी महिला जो खुद का बिजनेस शुरू करना चाहती है वह Udyogini Scheme के तहत ऋण के लिए आवेदन कर सकती है। कुछ प्रमुख बैंकों द्वारा व्यवसाय की लगभग 88 श्रेणियों को ब्याज मुक्त ऋण दिए जाने का प्रावधान है। इनमें से कुछ प्रमुख व्यवसायों की  लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • अगरबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए।
  • बेकरी खोलने के लिए।
  • चूड़ियाँ बनाने का व्यापार।
  • ब्यूटी पार्लर खोलने के लिए।
  • तौलिया और बेडशीट बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए।
  • नोट बुक बनाने और बुक बाइंडिंग बिजनेस शुरू करने के लिए।
  • बोतल के ढक्कन बनाने के लिए।
  • बेंत और बांस की लकड़ी से वस्तुएं बनाने का बिजनेस।
  • कैटरिंग बिजनेस और कैंटीन खोलने के लिए।
  • चाक बनाने का बिजनेस।
  • चप्पल बनाने का बिजनेस।
  • सफाई का पाउडर बनाने के लिए।
  • क्लिनिक खोलने के लिए।
  • कॉफ़ी और चाय पाउडर बनाने के लिए।
  • मसालों का बिजनेस।
  • सूती धागा बनाने के लिए।
  • कट पीस कपडे का व्यवसाय।
  • डेयरी और पोल्ट्री से सम्बंधित व्यवसाय।
  • ड्राई क्लीनिंग बिजनेस।
  • खाने के तेल की दुकान।
  • सस्ते गल्ले की दुकान।
  • आटा चक्की खोलने के लिए।
  • फूलों की दुकान।
  • आइस क्रीम पार्लर।
  • जैम जैली और आचार बनाने का बिजनेस।
  • जूट से कारपेट बनाने का व्यवसाय।
  • दियासलाई बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए।
  • सिलाई का काम करने के लिए।
  • मिठाई की दुकान।
  • चाय की दुकान।
  • ट्रेवल एजेंसी खोलने के लिए।

स्टेशनरी की दुकान खोलने के लिए एवं कई अन्य कामों के लिए महिला उद्यमी Udyogini Scheme के तहत ऋण प्राप्त कर सकती है ।  

Udyogini Scheme के तहत लोन के लिए कैसे आवेदन करें  

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की जिन बैंकों का जिक्र हमने अपने इस लेख में किया है केवल वही बैंक Udyogini Scheme के तहत ऋण प्रदान नहीं करते हैं। बल्कि कई सारे क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक, वाणज्यिक बैंक इस योजना के तहत प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर ऋण की पेशकश करते हैं ।

इसलिए यदि आप एक ग्रामीण महिला हैं, जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहती है। तो सबसे पहले आपको उस बैंक का चयन करना होगा जहाँ से आप Udyogini Scheme के तहत ऋण लेना चाहती हैं।

उसके बाद आप सम्बंधित बैंक की शाखा में जाकर या उसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी इस तरह के लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं।

प्रश्न – Udyogini Scheme के तहत मैं कितने तक का लोन ले सकती हूँ?

उत्तर – उद्योगिनी स्कीम के तहत अधिक से अधिक 3 लाख रूपये तक ऋण देने की व्यवस्था की गई है।

प्रश्न – इस योजना मुख्य उद्देश्य क्या है?

उत्तर – इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिला उद्यमियों को रोजगार की ओरप्रोत्साहित करना है।

प्रश्न – क्या कोई पुरुष भी इस योजना के तहत ऋण प्राप्त कर सकता है?

उत्तर – नहीं, यह योजना केवल और केवल महिला उद्यमियों के लिए है।

प्रश्न – पुरुष उद्यमी कहाँ से ऋण प्राप्त कर सकते हैं?

उत्तर – पुरुष उद्यमियों के लिए भी अन्य कई योजनाएँ जैसे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टार्टअप योजना, क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम इत्यादि हैं।  

अन्य लेख भी पढ़ें

मुद्रा लोन क्या है और बिजनेस के लिए मुद्रा लोन कैसे लें.

बिजनेस के लिए सब्सिडी वाला लोन पीएमईजीपी कैसे मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: Content is protected !!