उद्योग आधार के फायदे एवं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया। Udyog Aadhaar Benefits & Registration in Hindi.

Udyog Aadhaar Registration सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों की आवश्यकता को ध्यान में रखकर शुरू की गई एक योजना है। भारत में कोई भी उद्यमी हो जो स्वयं का बिजनेस करके देश की अर्थव्यवस्था में कुछ योगदान देना चाहता हो, को यदि आप पूछेंगे की वह बिजनेस किस स्तर पर शुरू करना चाहता है। तो अधिकतर उद्यमियों का जवाब बिजनेस को छोटे स्तर से शुरू करके बड़ा करने का ही होगा। जहाँ पहले सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया बड़ी जटिल एवं काफी समय खाने वाली हुआ करती थी। वहीँ वर्तमान में यदि उद्यमी चाहे तो अपने उद्यम को लघु उद्योग के तहत रजिस्ट्रेशन के लिए Udyog Aadhaar Registration के माध्यम से आसानी से ऑनलाइन कर सकता है वह भी बिलकुल मुफ्त में। चूँकि इस तरह के रजिस्ट्रेशन में उद्यमी को किसी प्रकार का शुल्क नहीं देना होता है यही कारण है की वर्तमान में लोग मुफ्त में लघु उद्योग रजिस्ट्रेशन के बारे में भी पूछते रहते हैं। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से यही जानने की कोशिश कर रहे हैं की कैसे कोई उद्यमी जो सूक्ष्म, लघु या मध्यम कर रहा हो कैसे अपने व्यवसाय को ऑनलाइन मुफ्त में रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। यहाँ पर हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं की इस प्रकार के इस रजिस्ट्रेशन को स्माल स्केल इंडस्ट्री रजिस्ट्रेशन या एमएसएमई रजिस्ट्रेशन भी कहा जाता है । जब पहले इस तरह के यह रजिस्ट्रेशन करवाने पड़ते थे तो इस प्रक्रिया में बहुत सारी कागज़ी कार्यवाहियां करनी पड़ती थी जिनकी वजह से उद्यमी का काफी समय बर्बाद होता था। लेकिन अब उद्यमी को विभिन्न प्रकार के फॉर्म को छोड़कर केवल दो फॉर्म Entrepreneur Memorandum-I एवं Entrepreneur Memorandum-II और वह भी यह प्रक्रिया पूर्ण रूप से ऑनलाइन है इसलिए उद्यमी को किसी कार्यालय के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ते हैं। और यह पूर्ण रूप से निःशुल्क भी है और Udyog Aadhaar Registration के बहुत सारे फायदे भी हैं जिनका जिक्र हम इस पोस्ट के अंत में करने वाले हैं।   

Udyog-Aadhaar-Registration
Udyog-Aadhaar-Registration

UAM क्या है? (What is Udyog Aadhaar Memorandum):      

अक्सर लोग जानना चाहते हैं की इस प्रक्रिया में यह UAM क्या होता है तो आपको बता देना चाहेंगे की इसका फुल फॉर्म Udyog Aadhaar Memorandum होता है। और यह एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म है जिसमें पंजीकरण करने वाले उद्यमी को अपने एवं अपने बिजनेस से जुडी हुई जानकारियां जैसे आधार डिटेल्स, बैंक अकाउंट डिटेल्स इत्यादि प्रदान करने की आवश्यकता होती है। इस फॉर्म को ऑनलाइन सबमिट करने के बाद या जमा करने के बाद आवेदक को एक पावती उसकी ईमेल आईडी पर जारी की जाती है जिसमें 12 डिजिट का यूनिक उद्योग आधार नंबर उल्लेखित होता है। चूँकि उद्योग आधार मेमोरेंडम एक स्व घोषित फॉर्म होता है इसलिए इस प्रक्रिया में इसके साथ किसी भी सहायक दस्तावेज की आवश्यकता नहीं होती है।

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के लिए दस्तावेज (Required Documents for Udyog Aadhaar Registration):

  •  उद्यमी के आधार नंबर, पैन नंबर की आवश्यकता होती है।
  • आधार कार्ड के अनुसार ही उद्यमी का नाम भरने की आवश्यकता हो सकती है।
  • उद्यमी की जातिगत श्रेणी जैसे सामान्य/अनुसूचित जाति/जनजाति इत्यादि भरने की आवश्यकता हो सकती है।
  • बिजनेस का नाम जिस नाम के तहत उद्यमी व्यापार कर रहा हो।
  • संगठन का प्रकार जैसे इकाई प्रोप्राइटरशिप, पार्टनरशिप, हिन्दू अनडीवाईडेड फैमिली, को ऑपरेटिव सोसाइटी, प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, लिमिटेड कंपनी इत्यादि में से क्या है।
  • संचार/पत्राचार इत्यादि के लिए बिजनेस का एड्रेस भरने की आवश्यकता हो सकती है।
  • बिजनेस स्टार्ट करने की तिथि भी Udyog Aadhar Registration Form भरते वक्त भरनी होती है।
  • यदि एमएसएमई रजिस्ट्रेशन पहले भी कराया हुआ हो तो उसकी डिटेल्स।
  • कंपनी की बैंकिंग डिटेल्स जैसे खाता नंबर IFSC Code इत्यादि।
  • बिजनेस की गतिविधि के प्रमुख क्षेत्र जैसे बिजनेस मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ा है या फिर सर्विस से।
  • नेशनल इंडस्ट्रियल क्लासिफिकेशन कोड यह कोड NIC की हैंडबुक में मिल जायेगा।
  • काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या।
  • मशीनरी एवं उपकरणों पर किया गया या किया जाने वाला कुल निवेश।
  • इस इकाई के नज़दीक उपलब्ध जिला उद्योग केंद्र की जानकारी।

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन कैसे करें (Process to get Udyog Aadhaar Registration online): 

  • Udyog Aadhaaar Registration के लिए या फिर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के तहत अपने बिजनेस को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले उद्यमी को इस दिए गए अधिकारिक लिंक पर जाना होगा।  
  • उसके बाद अपना आधार नंबर एवं आधार के अनुसार अपना नाम भरकर Validate & Generate OTP  पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद Udyog Aadhaar Registration Portal द्वारा उद्यमी के आधार के साथ लिंक हुए नंबर पर ओटीपी आता है। इसलिए यदि आपका UIDAI के साथ फोन नंबर रजिस्टर नहीं है तो सबसे पहले आपको यही काम करवाना होगा।
  • आधार नंबर वेलिदेट करने के बाद ही सिस्टम उद्यमी को रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने की इजाजत देगा जिसमें उद्यमी को पैन नंबर, लिंग, प्लांट की लोकेशन इत्यादि सभी डिटेल्स भरनी होंगी।
  • ये सभी जरुरी डिटेल्स भरकर आवेदनकर्ता को सबमिट पर क्लिक करना होता है जिसके बाद फिर से एक ओटीपी आधार लिंक्ड मोबाइल नंबर पर आता है।
  • ओटीपी भरकर उद्यमी को कैपचा भरना होता है उसके बाद फाइनल सबमिटिंग करनी होती है।

उद्योग आधार  रजिस्ट्रेशन के फायदे (Benefits of Udyog Aadhaar Registration in Hindi):

Udyog Aadhaar Registration के अनेकों फायदे हैं इनमें से कुछ प्रमुख फायदों की लिस्ट निम्नवत है।

  • उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के माध्यम से यह स्पष्ट हो जाता है की उद्यमी का उद्यम सूक्ष्म, लघु या फिर मध्यम उद्यम के अंतर्गत आता है। और बैंकों द्वारा लघु उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए नअनेकों योजनायें चलाई जाती हैं। इसलिए Udyog Aadhaar Registration का पहला लाभ यही है की इस प्रकार का पंजीकरण करके उद्यमी बैंकों द्वारा चलाई जा रही अनेकों योजनाओं का लाभ ले सकता है।
  • छोटे उद्योगों या लघु उद्योगों को इनके प्रारम्भ में एक्साइज ड्यूटी में छूट या फिर प्रत्यक्ष कर लाभ भी प्राप्त हो सकता है ।
  • ऐसे उद्योग जो उद्योग आधार से जुड़े हुए हैं उन्हें राज्य सरकार द्वारा भी प्रोत्साहित किया जाता है और उन्हें बिजली, टैक्स एवं उनके प्रवेश पर सब्सिडी दे सकती है। इसके अलावा सेल्स टैक्स इत्यादि में छूट एवं उन इकाइयों द्वारा निर्माण किये गए सामान को खरीदने में प्राथमिकता दे सकती है।
  • इन उद्योगों को केंद्र द्वारा चलाई गई योजनाओं जैसे क्रेडिट गारंटी स्कीम, जीरो इफ़ेक्ट जीरो डिफेक्ट, महिला उद्यमिता, इन्क्यूबेशन इत्यादि का लाभ मिलता है।
  • कहने का अभिप्राय यह है की Udyog Aadhaar Registration के बाद उद्यमी सभी सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए पात्र हो जाता है। इनमें सरल ऋण, बिना गारंटी के ऋण, ब्याज में सब्सिडी के साथ ऋण इत्यादि लाभ शामिल हैं।
  • इस तरह की इकाइयों को अपने उत्पादों का प्रदर्शन करने हेतु विदेशी एक्सपो में हिस्सा लेने के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता भी प्राप्त की जा सकती है।
  • इस तरह की इकाइयाँ सरकारी सब्सिडी प्राप्त करने के लिए पात्र हो जाती हैं।
  • इस तरह का रजिस्ट्रेशन करने के बाद उद्यमी अपने बिजनेस के नाम से आसानी से बैंक में करंट बैंक अकाउंट खोल सकता है।
  • इस तरह का यह रजिस्ट्रेशन इकाइयों को सरकारी सूक्ष्म व्यापार ऋण और ऐसी ही अन्य योजनाओं का लाभ देने के पात्र बनाता है।

Udyog Aadhar Registration के माध्यम से भारत सरकार के पास सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों का एक सही आंकड़ा प्रबंधित हो पायेगा। जिसे सरकार को इनके हितों के लिए सरकारी योजनायें चलाने एवं उनका क्रियान्वयन करने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें:  

3 Replies to “उद्योग आधार के फायदे एवं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया। Udyog Aadhaar Benefits & Registration in Hindi.”

  1. Party ko kitne din ka payment ka time hota hai msme me ya udhyog aadhaar me registration karne pr, kuchh partya paisa nhi de to kya hota hai ya u khu ki paisa kha jaati hai plz solution

    1. Udyog Aadhar registration is simple and whole process can be completed online free of cost. You can go through the official link given with this article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *