Thinner Manufacturing यानिकी थिनर निर्माण की आवश्यकता की बात करें तो पेंट थिनर का इस्तेमाल तेल आधारित पेंट्स को पतला करने और उपयोग के बाद पेन्ट को विभिन्न वस्तुओं से साफ़ करने के लिए भी किया जाता है । यह एक विलायक है जिन पेन्ट थिनर का इस्तेमाल व्यवसायिक तौर पर एक विलायक के रूप में किया जाता है ये लगभग 40®C फ़्लैश पॉइंट के साथ मिनरल स्प्रिट होती हैं। जो चारकोल स्टार्टर के कुछ लोकप्रिय ब्रांडों के समान होते हैं।

थिनर की यदि हम बाद करें तो इनमें अच्छा आसंजन एवं चमक प्रदान करने की शक्ति निहित होती है जब इन्हें प्राइमर के साथ इस्तेमाल किया जाता है तो यह अधिक टिकाऊपन तो प्रदान करते ही हैं। दाग धब्बों, खरोंच इत्यादि के भी प्रतिरोधी बन जाते हैं।

कहने का आशय यह है की थिनर दाग एवं खरोंच को अवरुद्ध करने में सक्षम होता है थिनर एक ऐसा विलायक होता है जो पेंट को डीजाल्व कर सकते हैं और पेन्ट की चिपचिपाहट को भी कम कर सकते हैं। थिनर पेन्ट को पतला करके स्प्रेयर एप्लीकेशन में इस्तेमाल के लिए उपयोगी बनाता है। ऐसे में Thinner manufacturing Business शुरू करना इसलिए भी लाभकारी हो सकता है क्योंकि इसके एक नहीं बल्कि अनेकों इंडस्ट्रियल उपयोग हैं।

Thinner Manufacturing Business

थिनर निर्माण बिजनेस क्यों करें? (Why to Start Thinner Manufacturing Business)     

थिनर की यदि हम बात करें तो आम तौर पर इसका इस्तेमाल विभिन्न उपकरणों एवं वस्तुओं जैसे ब्रश, रोलर्स, अन्य उपकरणों की सतह से तेल आधारित पेन्ट को हटाने के लिए किया जाता है। लेकिन इसके अलावा भी थिनर का इस्तेमाल पैसे एवं समय की बचत करने की दृष्टी से कई अन्य तरह के अनुप्रयोगों के लिए भी किया जाता है।

थिनर का इस्तेमाल जब आपका काम पूरा हो जाता है उसके बाद आपके टूल एवं उपकरणों की सफाई के लिए किया जा सकता है विशेषत: तब जब आप तेल आधारित पेन्ट का इस्तेमाल कर रहे हों। इसके अलावा पेंट थिनर का इस्तेमाल पेंट की चिपचिपाहट को कम करने के लिए भी किया जाता है ताकि पेन्ट को स्प्रेयर अनुप्रयोगों के योग्य बनाया जा सके।

Thinner Manufacturing Business करने का विचार रखने वाले उद्यमी को इसके एक और उपयोग के बारे में जानना चाहिए, जिस  उपयोग के बारे में अधिकतर लोगों को पता नहीं है वह यह है की थिनर का इस्तेमाल खुले पेन्ट को सख्त होने से रोकने के लिए भी किया जा सकता है। लेकिन इसमें ध्यान देने वाली बात यह है की लेटेक्स पेंट, शेलैक या लाह के साथ पेन्ट थिनर का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

इसके उपयोग और अनुप्रयोगों को देखते हुए तो यही लगता है की इस उत्पाद की मांग बाज़ारों में कभी समाप्त नहीं होती है वह इसलिए क्योंकि इस उत्पाद को घरेलू एवं इंडस्ट्रियल दोनों क्षेत्रों में इस्तेमाल में लाया जाता है। इन्हीं सब कारणों के चलते Thinner Manufacturing Business शुरू करना लाभकारी हो सकता है ।

थिनर निर्माण बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Thinner Manufacturing Business):

यद्यपि जब भी कोई उद्यमी विनिर्माण क्षेत्र में कोई बिजनेस शुरू करना चाहता है तो उसकी सर्प्र्थम उत्कंठा उस व्यवसाय में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की जानकारी प्राप्त करना होता है।

और सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल, आवश्यक लाइसेंस एवं पंजीकरण, जमीन, कर्मचारी इत्यादि के बारे में भी जानने की उत्सुकता होती है। इसलिए Thinner Manufacturing Business शुरू करने के इच्छुक व्यक्तियों को आगे हम इस लेख में यही सब बातों पर जानकारी प्रदान करने वाले हैं।  

1. बिजनेस प्लान तैयार करें (Prepare Thinner Manufacturing Plan)

बिजनेस प्लान से हमारा आशय बिजनेस की योजना से है जिसे किसी व्यवसाय का रोडमैप भी कहा जा सकता है। Thinner Manufacturing शुरू करने के इच्छुक उद्यमी को सर्वप्रथम अपने बिजनेस के लिए एक ऐसा दस्तावेज लिखित रूप मेर तैयार करना होगा जिसमें बिजनेस को शुरू करने की लागत से लेकर उसकी अनु,अनुमानित कमाई एवं आने वाले कुछ वर्षों के लिए उसके लक्ष्यों को भी निर्धारित किया गया हो।

सिर्फ इतना ही नहीं उन लक्ष्यों को पाने के लिए उद्यमी द्वारा समय समय पर क्या क्या कदम एवं कौन से निर्णय लेने की आवश्यकता होगी उनका भी पहले से निर्धारण करना अति आवश्यक है। कहने का आशय यह है की इस बिजनेस प्लान में व्यवसाय से सम्बंधित हर छोटी बड़ी जानकारी एवं इसके लक्ष्यों एवं उन लक्ष्यों तक पहुँचने के मार्गों की स्पष्ट जानकारी होनी चाहिए।

व्यवसाय के इस रोडमैप के माध्यम से उद्यमी किसी इन्वेस्टर को भी इसकी ओर आकर्षित कर सकता है, और यह बैंक या अन्य वित्तीय संस्थानों से ऋण प्राप्त करने भी मददगार साबित होता है।     

2. आवश्यक जमीन का प्रबंध करें

उद्यमी को Thinner Manufacturing इकाई स्थापित करने के लिए इन्वेंटरी के लिए जगह, कार्यशाला के लिए जगह, मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के लिए जगह, बिजली आपूर्ति उपयोगिताओं के लिए जगह एवं जनरेटर सेटअप के लिए भी जगह की आवश्यकता होती है। इसके अलावा उद्यमी को अपनी फैक्ट्री में एक छोटा सा ऑफिस भी स्थापित करने की आवश्यकता होती है।

इसलिए इस तरह के व्यवसाय को शुरू करने के लिए उद्यमी को 800-1000Square Feet जगह की आवश्यकता हो सकती है। इस कार्य को करने के लिए उद्यमी चाहे तो पहले से निर्मित किसी बिल्डिंग को किराये पर ले सकता है या फिर लम्बे समय के लिए जमीन को लीज पर लेकर उसमें सिविल कंस्ट्रक्शन शुरू करवा सकता है।

3. लाइसेंस एवं पंजीकरण कराएँ 

इस तरह के इस व्यवसाय यानिकी Thinner Manufacturing Business शुरू करने के लिए संभावित लाइसेंस एवं पंजीकरणों की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • सबसे पहले उद्यमी को अपने व्यवसाय को वैधानिक स्वरूप प्रदान करने के लिए इसे प्रोप्राइटरशिप, वन पर्सन कंपनी, पार्टनरशिप फर्म, प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में से किसी एक एंटिटी के तहत रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है। वैसे अन्य की तुलना में प्रोप्राइटरशिप की प्रक्रिया सरल एवं कम औपचारिकताओं वाली है।
  • उसके बाद उद्यमी को टैक्स रजिस्ट्रेशन जैसे जीएसटी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होगी। इसे भी उद्यमी ऑनलाइन आसानी से कर सकता है।
  • फैक्ट्री लाइसेंस या ट्रेड लाइसेंस लोकल प्राधिकरण जैसे नगर निगम इत्यादि से लिया जा सकता है।
  • यदि उद्यमी एमएसएमई के तौर पर सरकारी योजनाओं का फायदा लेना चाहता है तो उसे उद्यम आधार रजिस्ट्रेशन एवं एमएसएमई डाटा बैंक रजिस्ट्रेशन करना भी आवश्यक हो सकता है ।
  • इसके अलावा ब्रांड नाम को सुरक्षित करने के लिए ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता हो सकती है। 
  • Thinner Manufacturing Business करने वाले उद्यमी को इन सबके अलावा बैंक में चालू खाता एवं बिजनेस के नाम से पैन कार्ड इत्यादि बनवाने की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • थिनर ज्वलनशील पदार्थों में गिना जाता है इसलिए फायर डिपार्टमेंट से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट की भी आवश्यकता हो सकती है।          

4. मशीनरी एवं कच्चे माल का प्रबंध करें

इस व्यवसाय में इस्तेमाल में लायी जाने वाली प्रमुख मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • मिक्स करने के लिए बर्तन
  • विभिन्न स्टोरेज टैंक
  • फिलिंग और कैपिंग मशीन
  • अन्य उपकरण जैसे पम्प एवं भार मापने वाली मशीन इत्यादि  

Thinner Manufacturing Process में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की खरीदारी से पहले उद्यमी को इसके अनेक सप्लायर से कोटेशन मंगा लेनी चाहिए। और फिर इनका तुलनात्मक विश्लेषण करने के पश्चात् किसी अच्छे सप्लायर का चुनाव करना चाहिए। जहाँ तक कच्चे माल का सवाल है थिनर बनाने में इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल की लिस्ट निम्नवत है।

  • टोल्यूनि
  • नेफ्था
  • तारपीन का तेल
  • एसीटोन
  • खनिज
  • अन्य योजक
  • पैकिंग सामग्री   

कच्चे माल की खरीदारी भी उपर्युक्त बताई गई प्रक्रिया के माध्यम से ही की जा सकती है।

5. कर्मचारीयों की नियुक्ति करें

इसमें कोई दो राय नहीं की उपर्युक्त बताये गए मशीनरी एवं उपकरणों से थिनर का उत्पादन करने के लिए कुशल एवं अनुभवी मशीन ऑपरेटरों की आवश्यकता हो सकती है। और Thinner Manufacturing Process से गुणवत्तायुक्त थिनर का ही उत्पादन हो यह बात सुनिश्चित करने के लिए कुशल एवं अनुभवी क्वालिटी इंजिनियर की भी आवश्यकता होगी।

इनके अलावा एक कार्य स्टेशन से दुसरे कार्य स्टेशन तक सामग्री पहुँचाने के लिए श्रमिकों की भी आवश्यकता होगी और ऑफिस का कार्यभार सँभालने के लिए भी एक कुशल एवं अनुभवी व्यक्ति की आवश्यकता हो सकती है। कुल मिलकर उद्यमी को इस तरह का व्यवसाय शुरू करने के लिए 7-8 कर्मचारी नियुक्त करने की आवश्यकता हो सकती है।  

6. थिनर का निर्माण कार्य शुरू करें (Start Thinner Manufacturing Business)

Thinner Manufacturing Process में सर्वप्रथम ख़रीदे गए कच्चे माल को स्टोरेज टैंक में रखा जाता है और फिर इन्हें निर्धारित मात्रा में इन टैंक से निकालकर मिक्सर बर्तन में डाला जाता है। निर्धारित मात्रा से आशय फार्मूला के अनुसार कच्चे माल की मात्रा से है । मिक्सर बर्तन में सामग्री आवश्यक तापमान पर आवश्यक समय तक गर्म होती रहती है, और मिलती रहती है।

आवश्यक समय तक गर्म कर लेने के बाद और मिला लेने के बाद और इन्हें ठंडा कर लेने के बाद सामग्री या उत्पादित उत्पाद को फिलिंग मशीन के माध्यम से कंटेनरों में भर दिया जाता है। और फिर कैपिंग मशीन की मदद से इन कंटेनर को बंद कर दिया जाता है। और उसके बाद थिनर बाजार में बेचने क्ले लिए तैयार हो जाता है। 

यह भी पढ़ें

बालों का तेल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

सरसों तेल बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

error: Content is protected !!