स्टेपल पिन बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें। Staple Pins Making Business.

यदि आपके घर में पढने वाले बच्चे हैं तो आप अवश्य Staple Pins का इस्तेमाल तरह तरह के कार्यों को निबटाने के लिए अवश्य करते होंगे । इसके अलावा यदि आप किसी सरकारी या गैर- सरकारी कार्यालय में अपना कोई दस्तावेज सम्बन्धी कार्य करने के लिए गए होंगे तो आपने देखा होगा की विभिन्न दस्तावेजों का एक बंच बनाने के लिए स्टेपलर का इस्तेमाल किया जाता है।

और जिसके माध्यम से स्टेपलर उन दस्तावेजों को एकत्रित या बाँधने में कामयाब हो पाता है वह Staple Pins होती हैं जो एक निश्चित मोटी इकाई के कागज़ के बंच को एक साथ बाँधने का सामर्थ्य रखती हैं। हालांकि मोटे बंच को एक साथ बाँधने के लिए बड़े स्टेपलर जिनमें स्टेपल पिन्स भी मोटी और बड़ी लगती हैं का इस्तेमाल किया जाता है। और कागज़ की पतली बंच को बाँधने के लिए छोटे स्टेपलर और छोटी ही पिन का इस्तेमाल होता है।

वर्तमान में आम तौर पर दो तरह की स्टेपलर पिन बाजार में उपलब्ध सभी तरह के स्टेपलर में फिट आ जाती है। इसलिए Staple Pins Manufacturing Business शुरू करने वाले उद्यमियों द्वारा दो तरह की ही स्टेपल पिन का निर्माण किया जाता है।

Staple Pins Banane ka business

स्टेपल पिन क्या हैं (What is Staple Pins):   

Staple Pins की यदि हम बात करें तो ये दोनों तरफ से मुड़ी हुई नुकीली पिन होती है जिसे पंक्तिबद्ध रूप से लगाया जाता है ताकि इस पंक्ति को एक साथ स्टेपलर में बनें सांचे में डाला जा सके। स्टेपलर पिन का काम किसी कागज़ के बंच को एक साथ जोड़ने का होता है क्योंकि जब इन्हें स्टेपलर द्वारा कागज़ या किसी अन्य पतली परत पर दबाया जाता है तो ये उस परत को छेदकर दूसरी तरफ चले जाते हैं।

और Staple Pins के दोनों तरफ का नुकीला हिस्सा टेढ़ा होकर उस कागज़ की परत पर अपनी मजबूत पकड़ बना लेता है। इसलिए इन्हें आम तौर पर बड़े पैमाने पर इस्तेमाल में लायी जाने वाली ऑफिस स्टेशनरी आइटम के तौर पर जाना जाता है। और इन Staple Pins का इस्तेमाल सिर्फ ऑफिस, स्कूल, कॉलेज इत्यादि में ही नहीं होता बल्कि घरों और नोटबुक किताब बनाने वाली फैक्ट्रीयों में भी बड़े पैमाने पर होता है।

आम तौर पर Staple Pins का इस्तेमाल विभिन्न दस्तावेजों जैसे चेक, बिल, चालान, फोटोकॉपी की दुकानों और सभी प्रकार के ऑफिसों में होता है। इसलिए यदि कोई उद्यमी खुद का कोई विनिर्माण बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहा हो तो उसके लिए इस व्यवसाय के बारे में सोचना भी फायदेमंद हो सकता है।

Staple Pins की बिक्री संभाव्यता

मान लीजिये की आपने किसी जॉब के लिए अप्लाई किया हुआ है, या फिर किसी कॉलेज में एडमिशन के लिए आपने अप्लाई किया हुआ है और वे आवेदन के समय आवेदन फॉर्म के साथ साथ आपके अन्य शैक्षणिक दस्तावेज, पहचान प्रमाण की फोटोकॉपी इत्यादि मांग रहे हैं। और आपके पास उन सबकी फोटोकॉपी हैं भी लेकिन आप चाहते हैं की वे एक साथ बंधे रहें ऐसे में आपको आपके घर में भी स्टेपलर और Staple Pins की आवश्यकता हो सकती है।

हमारे कहने का आशय सिर्फ इतना सा है की सिर्फ ऑफिसों, स्कूल, कॉलेज और अन्य संस्थानों में ही स्टेपल पिन का इस्तेमाल नहीं होता, बल्कि घरों में भी इनका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल देखा गया है और वह भी विशेषत: जिनके घरों में पढ़ने वाले बच्चे हों। चूँकि जनसँख्या की दृष्टी से हमारा देश भारत एक बेहद विशालकाय देश है इसलिए यहाँ हर तरह की वस्तु की बिक्री की अपार संभावना है, लेकिन  Staple Pins एक ऐसा उत्पाद है।

जिसकी मांग घरेलू बाजार में तो है ही, साथ में अंतराष्ट्रीय बाज़ारों में भी इसकी बड़ी मांग है। इसलिए इस तरह का व्यवसाय शुरू करने वाले उद्यमी के पास अपने उत्पाद को निर्यात करने के अवसर भी विद्यमान हैं। और वर्तमान में जब प्लास्टिक की थैलियाँ लगभग बंद हो चुकी हैं और कागज़ से निर्मित थैले या पैकेट इस्तेमाल में लाये जा रहे हैं तो ऐसे में कई चीजों के लिए कागज़ के पैकेट बनाते समय स्टेपलर और Staple Pins का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।

स्टेपल पिन बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें? (How to Start Staple Pins Making Business):

Staple Pins Manufacturing बिजनेस को शुरू करने के लिए भी इच्छुक उद्यमी को वे सभी प्रक्रियाएं पूर्ण करनी होंगीं, जो किसी अन्य बिजनेस को शुरू करने के लिए करनी पड़ती हैं। लेकिन यदि किसी उद्यमी के पास विनिर्माण बिजनेस के लिए बहुत अधिक फण्ड नहीं है और वह दस लाख रुपयों तक के निवेश से शुरू किया जाने वाला कोई विनिर्माण बिजनेस देख रहा है।

तो Staple Pins बनाने का यह बिजनेस उस उद्यमी के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।  हालांकि यह कोई एकमात्र ऐसे विनिर्माण बिजनेस नहीं है जिसे उद्यमी दस लाख तक के निवेश के साथ शुरू कर सकता है, लेकिन दस लाख निवेश तक किये जाने वाले विनिर्माण बिजनेस की लिस्ट में यह भी शामिल है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का स्टेपल पिन बनाने का व्यापार शुरू कर सकता है।

1. Staple Pins बिजनेस हेतु जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करें

हालांकि Staple Pins Manufacturing इकाई स्थापित करने के लिए उद्यमी को कितनी जमीन या कितनी बड़ी बिल्डिंग की आवश्यकता होगी, वह तो इस बात पर निर्भर करेगा की इकाई की उत्पाद क्षमता कितनी होगी।

क्योंकि यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की उद्यमी को योजना जितने अधिक उत्पादन क्षमता का प्लांट स्थापित करने की होगी उसे मशीनरी, कर्मचारियों इत्यादि की उतनी ही अधिक आवश्यकता होगी और स्वाभाविक है की उसे जमीन और बिल्डिंग की भी उतनी ही अधिक आवश्यकता होगी।

यद्यपि उद्यमी को विनिर्माण स्थल के लिए जगह, स्टोर रूम के लिए जगह, बिजली उपयोगिताओं के लिए जगह और एक छोटा सा ऑफिस स्थापित करने के लिए भी जगह की आवश्यकता होगी। इसलिए इस प्रकार से देखें तो उद्यमी को 900-1000 वर्ग फीट जगह की आवश्यकता हो सकती है।

ध्यान रहे उद्यमी को कंस्ट्रक्शन कार्य तभी करना चाहिए जब उसके पास या तो खुद की जमीन हो, या फिर उसके द्वारा लम्बे समय के लिए जमीन लीज पर ली गई हो। अन्यथा उद्यमी को किसी सस्ती लोकेशन पर बनी बनाई बिल्डिंग ही Staple Pins बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए किराये पर लेनी चाहिए।     

2. वित्त या पैसों का प्रबंध करें

वैसे तो यह बिजनेस दस लाख रूपये तक के निवेश के साथ आसानी से शुरू किया जा सकता है लेकिन इसके बावजूद भी यदि उद्यमी अपने Staple Pins Manufacturing Business को शुरू करने में आने वाले सटीक निवेश के बारे में भ्रमित है ।

तो उसे चाहिए की वह अपने इस व्यवसाय की एक व्यवहारिक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करे जिसके माध्यम से उसे पता चल सके की उसके व्यवसाय को शुरू करने में कितनी लागत आएगी। और जब उसे आने वाली लागत का पता चल जाय तो वह सरकारी योजनाओं के तहत मिलने वाले सब्सिडी ऋण, बैंक ऋण या फिर अपनी व्यक्तिगत बचत से वित्त का प्रबंध कर सकता है।

3. लाइसेंस और पंजीकरण करें

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए उद्यमी निम्नलिखित लाइसेंस और पंजीकरण करा सकता है।

4. मशीनरी और कच्चे माल की खरीदारी करें

Staple Pins Manufacturing के लिए अलग अलग तरह की मशीन इस्तेमाल में लायी जाती हैं लेकिन हम यहाँ पर आटोमेटिक स्टेपल पिन मेकिंग मशीन की बात कर रहे हैं जिसके कीमत उसकी कार्यक्षमता के आधार पर लग अलग हो सकती है।

इस मशीन के अलावा उद्यमी को कुछ इसके और भी सहायक उपकरण खरीदने की आवश्यकता हो सकती है इसलिए मशीनरी कच्चा माल इत्यादि खरीदने से पहले उद्यमी को चाहिए की वह किसी अच्छे से सप्लायर का चुनाव अवश्य कर ले। इस व्यवसाय में इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • प्रीफोर्मड वायर
  • चिपकाने वाला पदार्थ
  • पैकिंग सामग्री    

5. Staple Pins विनिर्माण कार्य शुरू करें

वैसे देखा जाय तो आटोमेटिक स्टेपल पिन मेकिंग मशीन के माध्यम से Staple Pins Manufacturing Process बेहद आसान हो गया है। इस प्रक्रिया में राउंड प्रीफोर्मड वायर का एक सिरा मशीन में डाला जाता है और वह मशीन उस तार को समतल करती है तथा एक निश्चित लम्बाई में लगभग 50 स्टेपल पिन का निर्माण करती है यह निश्चित लम्बाई इसलिए निर्धारित की जाती है।

क्योंकि इस प्रक्रिया में उन 50 Staple Pins को एक साथ चिपकाने में मदद मिलती है। आम तौर पर बाजार में दो तरह की स्टेपल पिन का चलन है। और इस आटोमेटिक मशीन से इसके सहायक उपकरणों की मदद से दोनों तरह के स्टेपल पिन का निर्माण किया जा सकता है। उसके बाद इन्हें इनके आकार की डिब्बी में पैक करके मार्किट में बेचने के लिए भेज दिया जाता है।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *