रबर बैंड बनाने का बिजनेस। Rubber Band Manufacturing Business Hindi.

Rubber Band के इस्तेमाल से तो शायद आप सब अच्छी तरह से अवगत होंगे क्योंकि किसी ने इनका इस्तेमाल पैसों की गड्डी को संयोजित करने के लिए किया होगा, तो किसी ने इनका इस्तेमाल खाने की पैकिंग के दौरान किया होगा, किसी ने इनका इस्तेमाल मिठाई के डिब्बों पर किया होगा, तो किसी महिला या लड़की ने अपने बालों को संयोजित करने के लिए किया होगा।

जी हाँ कहने का आशय यह है की Rubber Band एक ऐसी सामान्य सी वस्तु है जिसका इस्तेमाल प्रमुख तौर पर महिलाओं या लड़कियों द्वारा अपने बालों की ड्रेसिंग के लिए किया जाता है। लेकिन इसके अलावा मिठाई की दुकानों, कार्यालयों, बैंकों, जनरल स्टोर, डिपार्टमेंटल स्टोर, होटल ढाबों इत्यादि में बांधने या संयोजित करने के उद्देश्य से इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है। इस तरह के ये रबर बैंड बाज़ारों में तरह तरह की साइज़ और रंगों में उपलब्ध होते हैं और इनका इस्तेमाल सजावटी गुब्बारों को फुलाकर बाँधने के लिए भी किया जाता है।

वर्तमान समय की यदि हम बात करें तो Rubber Band Manufacturing प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए नई नई तकनीक और मशीनरी का इस्तेमाल किया जाने लगा है इसलिए इस तरह का यह बिजनेस शुरू करना पहले के मुकाबले अधिक आसान हो गया है। चूँकि यह लगभग सभी जगह इस्तेमाल में ले जाने वाली एक सामान्य सी वस्तु है इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इसी व्यवसाय को शुरू करने के बारे में जानकारी देने का प्रयत्न कर रहे हैं।

rubber band manufacturing business

रबर बैंड की बिक्री संभावना

Rubber Band के बारे में जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की यह बीसवीं शताब्दी का सबसे सुविधाजनक उत्पादों में से एक है और खास बात यह है की इसका इस्तेमाल व्यक्तिगत व्यक्तियों एवं उद्योगों द्वारा अनेकों उद्देश्यों के लिए बड़े पैमाने पर किया जाता है। इसलिए इसकी बिक्री की संभावना काफी अधिक हो जाती है और एक आंकड़े के मुताबिक दुनिया में रबर बैंड का सबसे बड़ा उपभोक्ता यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका है।

कार्यालयों में विभिन्न दस्तावेजों को बांधने और मोड़ने के लिए, समाचार पत्र एजेंसीयों में समाचार पत्रों को एक साथ बांधने और मोड़ने के लिए, होटल ढाबों में खाना पैकिंग के दौरान, चटनी पैकिंग के दौरान उपरी सिरे को बंद करने के लिए, मिठाई की दुकानों में मिठाई के डिब्बों पर चढ़ाने के लिए इत्यादि बहुत सारे उद्देश्यों के लिए रबर बैंड का इस्तेमाल बड़ी मात्रा में किया जाता है।

कहने का आशय यह है की घरों से लेकर ऑफिस, स्कूल, होटल, ढाबों इत्यादि सभी जगह इसके बहुउद्देशीय उपयोग देखे जा सकते हैं । यदि उद्यमी अंतराष्ट्रीय मानकों के आधार पर अच्छी गुणवत्ता के Rubber Band बनाने में सक्षम हो जाता है तो उसके लिए घरेलु बाजार के तो दरवाजे खुले ही हैं साथ में वह इस उत्पाद को विदेशों की ओर निर्यात करके भी कमाई कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति खुद कला रबर बैंड बनाने का बिजनेस शुरू कर सकता है।

रबर बैंड बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें? (How to Start Rubber Band Manufacturing Business):  

Rubber Band भी एक ऐसा सामान्य सा उत्पाद है जिसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर हर औद्यागिक क्षेत्र और घरेलु क्षेत्र में भी होता है। और जो भी इच्छुक व्यक्ति इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने का विचार कर रहे हों, उन्हें भी वे सभी प्रक्रियाएं पूर्ण करनी होती है जो किसी व्यक्ति को अन्य विनिर्माण व्यापार शुरू करने के लिए करनी पड़ सकती हैं ।

इनमें जगह का अधिग्रहण, कंस्ट्रक्शन कार्य, बिजली पानी का कमर्शियल कनेक्शन, बिजली आपूर्ति उपयोगिताओं जैसे जनसेट इत्यादि का प्रबंध, वित्त का प्रबंध, उपयुक्त लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन, कर्मचारियों की नियुक्ति, कच्चे माल और मशीनरी की खरीदारी इत्यादि गतिविधियाँ शामिल हैं। इसलिए यदि आप भी रबर बैंड बनाने के व्यापार को शुरू करने के प्रति गंभीर हैं तो आगे हम स्टाप बाई स्टेप इसे शुरू करने की प्रक्रिया के बारे में बात करने वाले हैं।

1. जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध

खुद का Rubber Band Manufacturing Business स्थापित करने के लिए उद्यमी को जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करने की आवश्यकता होती है । और जमीन और बिल्डिंग की कितनी आवश्यकता होगी वह इस बात पर निर्भर करेगा की बिजनेस का आकार कितना बड़ा रखने की योजना है।

वैसे देखा जाय तो एक औसत इकाई स्थापित करने के लिए 800-1200 वर्ग फीट जगह की आवश्यकता हो सकती है, क्योंकि उद्यमी को विनिर्माण स्थल के लिए जगह, स्टोर रूम के लिए जगह, बिजली आपूर्ति उपयोगिताओं के लिए जगह, और एक छोटा सा ऑफिस स्थापित करने के लिए भी जगह की आवश्यकता होती है।

इस त्य्रह का यह विनिर्माण बिजनेस शुरू करने के लिए कोई भीड़ भाड़ या व्यस्त लोकेशन की आवश्यकता नहीं है। इसलिए उद्यमी कहीं भी ऐसी जगह जहाँ सड़क, बिजली, पानी, श्रमिकों इत्यादि की आसान उपलब्धता हो पर सस्ती दरों पर जमीन या बिल्डिंग किराये पर ले सकता है।   

2. वित्त का प्रबंध (Arrange fund for Rubber band Manufacturing)

वित्त का प्रबंध तो उद्यमी अनेकों विकल्पों जैसे सरकारी योजना के तहत सब्सिडी ऋण, बैंक ऋण और अपनी व्यक्तिगत बचत इत्यादि से कर लेगा। लेकिन उसे अपने इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कितने वित्त की आवश्यकता है उसमें भी स्थिर लागत कितनी है और कार्यशील लागत कितनी है का विभेद जब पता चलेगा तभी उद्यमी उपयुक्त मात्रा में वित्त का प्रबंध कर पाने में सक्षम होगा।

इसलिए स्वयं का Rubber Band Manufacturing Business शुरू करने के इच्छुक उद्यमी को चाहिए की वह वित्त का प्रबंध करने से पहले अपने व्यवसाय के लिए बिजनेस प्लान या फिर प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करे। क्योंकि इन्हीं दस्तावेजों के माध्यम से उद्यमी उसके व्यवसाय में आने वाली स्थिर और कार्यशील लागत के बारे में जान पायेगा और उसी के आधार पर वित्त का प्रबंध कर पाने में सक्षम हो पायेगा।    

3. उपयुक्त लाइसेंस और पंजीकरण

Rubber Band manufacturing व्यवसाय शुरू करने के लिए निम्नलिखित लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता हो सकती है।

  • अपने व्यवसाय को रजिस्ट्रार ऑफ़ कम्पनीज में रजिस्टर करना।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन।
  • व्यवसाय के नाम से पैन और बैंक में चालू खाता।
  • स्थानीय प्राधिकरण से ट्रेड लाइसेंस।
  • उद्यम रजिस्ट्रेशन।
  • निर्यात करने के लिए इम्पोर्ट एक्सपोर्ट कोड।     

4. कच्चा माल और मशीनरी

Rubber band Manufacturing Business शुरू करने के लिए इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • बाल मिल
  • पीवीसी पाइप मोल्ड
  • आटोमेटिक डीपिंग मशीन
  • वल्कनाइजेशन के लिए स्टेनलेस स्टील टैंक
  • कटिंग मशीन
  • पॉलिथीन पैकिंग मशीन
  • हैण्ड टूल्स और अन्य उपकरण  

इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल की लिस्ट निम्नवत है

  • लेटेक्स
  • वाइटनर
  • चाक पाउडर
  • टाइटेनियम
  • रबर केमिकल
  • पैकिंग सामग्री  

Rubber Band Manufacturing Business शुरू करने वाले उद्यमी को चाहिए की वह मशीनरी और कच्चे माल की खरीदारी से पहले रेट, कोटेशन इत्यादि पर नेगोशिएशन करके अच्छे से सप्लायर का चुनाव कर ले।

5. निर्माण कार्य शुरू करें (Start Rubber band Manufacturing)

उपर्युक्त मशीनों और उपकरणों का इस्तेमाल करके Rubber Band Manufacturing Process को आसानी से अंजाम दिया जा सकता है। इसके निर्माण करने के लिए अपनाई जाने वाली प्रक्रिया निम्नलिखित हैं।

  • सबसे पहले नेचुरल लेटेक्स का प्रसंस्करण किया जाता है।
  • इसकी सफाई और शोधन करके स्लैब बनाये जाते हैं।
  • इन स्लैब को आवश्यक आकार होने तक निचोड़ा जाता है।
  • उसके बाद मिक्सिंग और मिलिंग प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है।
  • गरम करने की और स्क्विजिंग की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है।
  • गरम करने बाद यानिकी हीटिंग के बाद एक्सट्रूजन प्रक्रिया को पूर्ण किया जाता है।
  • उसके बाद इन्हें बंडलों में व्यवस्थित किया जाता है।
  • अंत में Rubber Band बनाने के लिए स्लाइसिंग यानिकी कटाई प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है।
  • उसके बाद इन्हें तोलकर पन्नियों में पैक करके मार्किट में बेचने के लिए भेज दिया जाता है।  

प्रश्न/उत्तर (FAQ):

इस व्यापार को शुरू करने के लिए मशीनरी और कच्चा माल कहाँ से खरीदें?

वैसे तो हर शहरी बाजार में इस व्यापार को शुरू करने में काम आने वाली मशीनरी और कच्चा माल मिल जाता है। लेकिन यदि उद्यमी चाहे तो इंडियामार्ट, ट्रेडइंडिया जैसी वेबसाइट का इस्तेमाल सप्लायर ढूँढने और उनसे संपर्क करने के लिए कर सकता है।

इस तरह के व्यापार को शुरू करने के लिए शुरूआती दौर में कितने लोगों को काम पर रखने की आवश्य्क्लता हो सकती है?

Rubber Band Manufacturing इकाई के लिए उद्यमी को मशीन ऑपरेटर, क्वालिटी इंजिनियर, श्रमिकों, हेल्पर, सुपरवाइजर इत्यादि को मिलाकर 7-8 कर्मचारियों को नियुक्त करने की आवश्यकता हो सकती है।

मशीनरी या प्लांट के लिए कितने पॉवर की आवश्यकता होगी।

हालांकि यह उद्यमी के प्लांट के आकार के आधार पर अलग अलग हो सकती है लेकिन आम तौर पर मशीनरी 20hp पॉवर कन्जम्पशन कर सकती है।

मशीन और कच्चा माल खरीदने में कितना खर्चा आएगा?

यह भी प्लांट की उत्पादन क्षमता पर निर्भर करता है और कच्चे माल की कीमत इस बात पर निर्भर करती है की उद्यमी एक साथ कितने समय के लिए कच्चा माल खरीद रहा है। लेकिन एक 150 किलो प्रतिदिन क्षमता का प्लांट स्थापित करने में उपयोग होने वाली मशीनरी की कीमत दस लाख रूपये तक हो सकती है।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *