Real Estate क्या है | बिना पैसों के रियल एस्टेट बिजनेस कैसे शुरू करें |

Real Estate जमीन, प्लाट, मकान, दुकान, ऑफिस इत्यादि की कंस्ट्रक्शन और खरीद फरोख्त से जुड़ा हुआ बिजनेस है। यही कारण है की भारत जैसे विशालकाय देश में यह सर्वाधिक आशाजनक व्यवसायिक क्षेत्रों में से एक है। एक विश्वसनीय आंकड़े के मुताबिक 2017 में इसका आकार 120 बिलियन अमेरिकी डॉलर के बराबर था। और अगले तेरह वर्षों में यानिकी 2030 तक इसके 1 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर पर पहुँचने की उम्मीद जताई गई थी।

भारत में Real Estate Industry बड़ी तीव्र गति से फल फूल रही है। शायद यही कारण है की हर कोई इस क्षेत्र में स्वयं का उद्यम शुरू करने को आकर्षित हो रहे हैं। यद्यपि भारत में रियल एस्टेट हमेशा से अच्छा व्यवसाय नहीं रहा है, क्योंकि पहले इस व्यवसाय में अस्थिरता बहुत अधिक थी। लेकिन जब से रेरा, आरईआईटी और टाइटल इंश्योरेंस जैसे सुधार इस क्षेत्र में हुए हैं । तब से पारदर्शिता एवं प्रवर्तन के साथ यह इंडस्ट्री बेहतर देखभाल और जोन में है।

इसलिए यदि आप भी Real Estate के इस बाजार में प्रवेश करने की योजना बना रहे हैं। तो इसमें प्रवेश करने से पहले आपको अपना कुछ होम वर्क पूरा कर लेना चाहिए। ताकि बाद में आपको अपने लिए गए निर्णय पर पछताने की आवश्यकता न पड़े। तो आगे इस लेख में हम यही बताने का प्रयत्न करेंगे, की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति बिना पैसों के खुद का Real Estate Business शुरू कर सकता है। लेकिन उससे पहले जान लेते हैं, की यह रियल एस्टेट होता क्या है?

Real Estate Property
Real Estate Property

रियल एस्टेट क्या है (What is Real Estate in Hindi):  

Real Estate का अर्थ अचल सम्पति से लगाया जा सकता है। आम बोलचाल की भाषा में इसे प्रॉपर्टी भी कहा जाता है। इसमें भूमि और भूमि पर किसी भी तरह का सुधार शामिल है। जमीन के सुधारों में भवन निर्माण, भवन सुधार, सड़कें, संरचनाएं और यूटिलिटी सिस्टम शामिल है। भूमि का अधिकार लोगों को भूमि का स्वामित्व, उसमें सुधार करने का अधिकार, बेचने का अधिकार और उस भूमि में उपलब्ध प्राकृतिक स्रोतों जैसे खनिज, पौधे, पानी इत्यादि पर अधिकार प्रदान करता है।

आम तौर पर Real Estate Business का अर्थ जमीन बेचने और खरीदने, मकान बनाकर बेचने, प्लाट बेचने इत्यादि से लगाया जाता है। इसलिए प्रॉपर्टी डीलर भी इसी इंडस्ट्री से जुड़े हुए होते हैं। भारत में आम तौर पर चार तरह की रियल एस्टेट जमीन, आवासीय मकान, वाणज्यिक बिल्डिंग और औद्योगिक शामिल हैं।

बिना पैसों के Real Estate Business कैसे शुरू करें?

कभी कभी सुनने में अटपटा लगता है, की जो Real Estate Business किसी भी व्यक्ति की जिन्दगी को पूरी तरह बदलने की क्षमता रखता है। उस व्यवसाय को बिना पैसों के भी शुरू किया जा सकता है। लेकिन यह सत्य है वर्तमान में हमें ऐसे अनेकों रियल एस्टेट एजेंट या प्रॉपर्टी डीलर देखने को मिल जाएँगे। जिन्होंने इस क्षेत्र में अपनी यात्रा बिना पैसों के शुरू की थी, लेकिन आज वे करोड़पति हैं।

अब सवाल यह उठता है की, क्या यह वाकई में संभव है की कोई इच्छुक व्यक्ति बिना पैसों के ही खुद का Real Estate Business शुरू कर सकता है। जी हाँ यह बिलकुल संभव है, कोई इच्छुक व्यक्ति चाहे तो बिना किसी निवेश के भी इस व्यवसाय को शुरू कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे?

1. अपने संचार और नेटवर्क का आकलन करें

बिना पैसों के Real Estate Business शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको अपने संचार और नेटवर्क का आकलन करना होगा। संचार के आकलन की यदि हम बात करें तो इसमें आप लोगों से बात करना क्तिना पसंद करते हैं? आपकी बातों से लोग कितना प्रभावित होते हैं? आप अपनी बातों से लोगों को विश्वास में ले सकते हैं या नहीं ? इत्यादि का आकलन करना होगा।

क्योंकि एक Real Estate Agent को लोगों से बातें करना अच्छा लगना चाहिए। उसे अपनी बातों से लोगों को प्रभावित करने की कला आनी चाहिए। और लोगों के प्रति उसका व्यवहार और व्यक्तित्व ऐसा हो की, लोग उस पर विश्वास करने लग जाएँ। प्रभावी संचार से एक रियल एस्टेट एजेंट को जान पहचान बढ़ाने में मदद मिलती है।

नेटवर्क से आशय उस व्यक्ति की जान पहचान से है। क्योंकि बिना पैसों के Real Estate Business तभी शुरू किया जा सकता है, जब इच्छुक व्यक्ति का नेटवर्क मजबूत हो। अपने क्षेत्र में उसकी अच्छी जान पहचान हो, तभी वह लोगों से संपर्क कर पाएगा। और उनकी प्रॉपर्टी से सम्बंधित आवश्यकताओं को भी जान पायेगा।      

2. ऐसे लोगों को ढूंढें जो अपनी प्रॉपर्टी बेचना चाह रहे हों

शुरुआत अपने नेटवर्क और जान पहचान के लोगों से ही करें। इनमें आपको ऐसे लोगों को पहचानना है, जो खुद की प्रॉपर्टी बेचना चाह रहे हों। ध्यान रहे यदि किसी को, किसी भी कारणवश अपनी प्रॉपर्टी बेचने की बहुत अधिक जल्दी है, तो ऐसे में वे हो सकता है की महंगी प्रॉपर्टी को सस्ते दामों में भी बेच दें। ऐसी डील पर Real Estate Agent अधिक लाभ कमा सकते हैं।

आप पाने नेटवर्क को बढ़ाते रहिये, इसके लिए आप चाहें तो फेसबुक, व्हाट्सएप्प इत्यादि में एक ग्रुप भी बना सकते हैं। जिसमें लोग प्रॉपर्टी बेचने और खरीदने सम्बन्धी आवश्यकताओं को पोस्ट करें। आपको उस क्षेत्र में ऐसे लोगों की एक लम्बी लिस्ट बनानी है, जो स्वयं की प्रॉपर्टी बेचना चाह रहे हों।

3. प्रॉपर्टी मालिकों के साथ खुद का कमीशन तय करें

चूँकि बिना पैसों के Real Estate Business शुरू करने के लिए आपको कोई भी प्रॉपर्टी स्वयं से खरीदने की आवश्यकता नहीं होती। बल्कि इस पूरी प्रक्रिया में आप सिर्फ बिचौलिए का किरदार निभा रहे होते हैं। प्रॉपर्टी किसी और की होती है, जिसके उसने एक निश्चित दाम तय किये होते हैं । आपको ऐसे ग्त्राहक ढूँढने होते हैं, जो प्रॉपर्टी मालिक द्वारा तय किये गए निश्चित दामों से थोड़ा अधिक में वह प्रॉपर्टी खरीदने को तैयार हो जाय।

इस प्रक्रिया में जमीन या मकान के स्वामी द्वारा तय की गई कीमत और खरीदार द्वारा भुगतान की गई कीमत का अंतर ही आपका पारिश्रमिक और कमीशन होता है। कई मामलों में जमीन और मकान के स्वामी प्रॉपर्टी डीलर या Real Estate Agent से उनकी प्रॉपर्टी बिकवाने को बोलते हैं। और बदले में उन्हें 2 या 3% कमीशन ऑफर करते हैं। इसलिए इच्छुक व्यक्ति को प्रॉपर्टी मालिकों से मिलकर खुद का कमीशन तय करने की आवश्यकता होती है।               

4. प्रॉपर्टी खरीदने के इच्छुक लोगों को ढूंढें

अब बिना पैसों के Real Estate Business शुरू करने वाले व्यक्ति का अगला कदम ऐसे लोगों को ढूंढना होता है। जो उस प्रॉपर्टी को खरीदने में रूचि रखते हों। ध्यान रहे कोई अंजान व्यक्ति आपसे तब तक कोई प्रॉपर्टी नहीं खरीदेगा जब तक की आपकी कोई कम्पनी न हो। इसलिए आपको किसी अंजान व्यक्ति पर ध्यान देना ही नहीं है। आपको सिर्फ अपने नेटवर्क में उपलब्ध लोगों, जान पहचान के लोगों के बीच ही उन व्यक्तियों को ढूंढना है। जो उस विशेष प्रॉपर्टी को खरीदने में रूचि रखते हों।

इसमें इतना जरुर हो सकता है की, आपने किसी अपने जानने वाले से कहा, उसने अपने जानने वाले को कहा और फॉर उसने आपके पास ग्राहक भेजा। लेकिन कोई अंजान व्यक्ति किसी अंजान व्यक्ति से व्यक्तिगत तौर पर प्रॉपर्टी को डील कम ही करता है। इसलिए ऐसे लोगों को अपना टारगेट कस्टमर समझकर उन पर अपनी शक्ति का नुकसान करना ही है।       

5. प्रॉपर्टी बेचें और कमीशन कमाएँ

अब जब Real Estate Business शुरू करने वाले व्यक्ति के पास दोनों तरह के लोगों की लिस्ट उपलब्ध है। तो अब उसका सम्पूर्ण ध्यान संभावित ग्राहकों को वास्तविक ग्राहकों में बदलने का होना चाहिए। इसके लिए उस व्यक्ति को उस एरिया में भविष्य में लगने वाले सरकारी प्रोजेक्ट, प्राइवेट प्रोजेक्ट इत्यादि की भी जानकारी होनी चाहिए। ताकि वह ग्राहकों को प्रॉपर्टी बेचते वक्त उस प्रॉपर्टी को खरीदने के फायदे भी बता सके।

जब व्यक्ति पहली प्रॉपर्टी बेचने में सफल हो जाता है। और उससे उसे कमीशन भी प्राप्त हो जाता है। तो यकीन मानिये इससे उसमें उस क्षेत्र में काम करने के लिए दुगुनी शक्ति का संचार हो जाता है। इसलिए वह अपनी पूरी शक्ति प्रॉपर्टी ढूँढने और उसे बेचने में ही लगा देता है। और इस प्रकार से वह बिना पैसों के शुरू किये गए Real Estate Business से अच्छी खासी कमाई कर पाने में सफल हो पाता है।

जब व्यक्ति उस एरिया विशेष का एक जाना पहचाना Real Estate Agent या प्रॉपर्टी डीलर बन जाता है। तो अब उसे RERA के तहत प्रॉपर्टी एजेंट के तौर पर पंजीकृत करवा देना चाहिए। इस तरह के पंजीकरण को कराने में अलग अलग राज्यों में अलग अलग शुल्क निर्धारित है। जो 10-25 हज़ार रूपये तक कुछ भी हो सकता है।

क्या Real Estate Agent Registration (RERA) अनिवार्य है?

जी हाँ नए नियमों के मुताबिक जो भी व्यक्ति प्रॉपर्टी बेचने और खरीदने के व्यवसाय से जुड़े हुए हैं । उन्हें Real Estate Agent के तौर पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। और अलग अलग राज्यों में इस रजिस्ट्रेशन के लिए अलग अलग शुल्क निर्धारित किये गए हैं। लेकिन आम तौर पर इस पंजीकरण में लगने वाला शुल्क रूपये 10 से 25 हजार तक हो सकता है। अब सवाल यह उठता है की, यदि रेरा रजिस्ट्रेशन जरुरी है, और इसमें शुल्क भी लगता है।

तो भला कोई कैसे बिना पैसों के Real Estate Business शुरू कर पाएगा। सवाल जायज है, लेकिन सच्चाई यह है की, भारत में आज भी बहुत सारे और बड़े बड़े प्रॉपर्टी डीलर बिना रेरा रजिस्ट्रेशन के अपना व्यवसाय कर रहे हैं। इसलिए शुरूआती दौर में व्यक्तिगत तौर पर बिना किसी ऑफिस और लाइसेंस के इस तरह के बिजनेस को बिना पैसों के आसानी से शुरू किया जा सकता है। 

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *