प्लंबिंग का व्यापार कैसे शुरू करें? How to Start Plumbing Business in India.

Plumbing Business से तो आप सभी अच्छी तरह से अवगत होंगे क्योंकि कभी न कभी आपके घर की पानी सप्लाई, नलों, बाथरूम के पाइप इत्यादि में कोई न कोई समस्या अवश्य आई होगी। जैसा की हम सबको विदित है की एक घर अनेकों पानी के नलों से सुसज्जित होता है जी हाँ घर के रसोईघर में अलग नल, स्नानघर में अलग नल, टॉयलेट में अलग नल, वाशबेसिन इत्यादि में अलग नल । कहने का अभिप्राय यह है की मनुष्य को अपने घर एवं स्वयं को स्वच्छ एवं साफ़ रखने के लिए अनेकों जगह पर पानी के नल की आवश्यकता होती है। इन पाइप एवं नलों की फिटिंग घर या बिल्डिंग में जिस व्यक्ति ने की होती है उसे प्लम्बर कहा जाता है। इसलिए यह न सिर्फ अपने देश भारत में बल्कि सम्पूर्ण विश्व में एक लाभप्रद कैरियर एवं व्यापारिक विकल्प रहा है। इसलिए यदि आप भी एक ऐसे बिजनेस या कैरियर विकल्प के बारे में तलाश कर रहे हैं जो बेहद लाभप्रद हो तो आपके लिए Plumbing Business एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हालांकि बहुत सारे लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें लगता है की प्लंबिंग का कार्य बहुत छोटा होता है। और चूँकि उन्हें टॉयलेट बाथरूम से लेकर लगभग सभी जगह कार्य करने की आवश्यकता होती है इसलिए कुछ लोगों को यह काम गन्दा भी लगता है। लेकिन ऐसे लोगों को बता देना चाहेंगे की वर्तमान में ऐसे ऐसे उपकरण एवं औजार बाजार में आ गए हैं जिनके माध्यम से प्लम्बर अपना काम बड़ी सहजता एवं स्वच्छता से आसानी से कर सकते हैं। और इसमें कोई दो राय नहीं है की जब भी घर के पाइप इत्यादि में कुछ व्यवधान उत्पन्न होता है। या कहीं से पानी इत्यादि की लीकेज की समस्या होती है तो हमें प्लम्बर ही याद आते हैं। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से Plumbing Business के बारे में विस्तृत तौर पर जानने की कोशिश करेंगे। लेकिन उससे पहले यही जान लेते हैं की इस तरह का यह व्यापार है क्या?

Plumbing Business plan in hindi

प्लंबिंग व्यापार क्या है (What is Plumbing Business):

प्लंबिंग की यदि हम बात करें तो यह एक ऐसी प्रणाली है जो विभिन्न उपयोगों के लिए तरल पदार्थों को सही जगह तक पहुँचाने का कार्य करता है। प्लंबिंग नामक इस प्रणाली में तरल पदार्थ जैसे पानी इत्यादि को सही जगह तक पहुँचाने में लोहे, प्लास्टिक या अन्य सामग्री से निर्मित पाइप, वाल्व, नलों को जोड़ने वाले उपकरण, टैंक इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है। ठंडा और गर्म, अपशिष्ट हटाना और पीने योग्य पानी की डिलीवरी इत्यादि करना प्लंबिंग के कामों में शुमार है। इसलिए साधारण भाषा में यदि हम एक प्लम्बर की बात करें तो यह एक ऐसा पेशेवर व्यक्ति है जो प्लंबिंग प्रणाली जैसे पीने योग्य पानी की नलों द्वारा डिलीवरी, सीवेज एवं ड्रेनेज के लिए इस्तेमाल में लाये जाने वाले सिस्टम को स्थापित करने एवं उनकी मेंटेनेंस करने में माहिर है। यद्यपि औद्योगिक इकाइयों में पानी के अलावा अन्य तरल पदार्थ को भी एक निर्धारित स्थान तक पहुँचाने की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन घरों की बात की जाय तो पानी, गैस पाइपलाइन, सीवेज, ड्रेनेज इत्यादि कार्यों को निबटाने के लिए प्लम्बर की आवश्यकता होती है। इसलिए जब कोई घर या बिल्डिंग बन रही होती है उसमें Plumbing Business करने वाले उद्यमी का भी अहम् योगदान होता है।

प्लंबिंग का व्यापार क्यों करें (Why Should Start Plumbing Business)

यदि आपके मष्तिष्क में भी यही प्रश्न आ रहा ही की Plumbing Business क्यों शुरू करें तो आपको लोगों की वर्तमान रहन सहन प्रणाली पर एक नजर डालनी होगी। वर्तमान में चाहे शहर हो या ग्रामीण इलाका शायद ऐसे कुछ ही घर होंगे जहाँ उचित स्नानघर एवं टॉयलेट की व्यवस्था न हो। भारत सरकार के अथक प्रयासों की बदौलत आज लगभग हर घर में बाथरूम हैं और इनमें से अधिकतर बाथरूमों में नल, पाइप इत्यादि के माध्यम से ड्रेनेज एवं सीवेज की उचित व्यवस्था है। अब बात आती है इनके रखरखाव एवं मेंटेनेंस की, तो इसके लिए हर व्यक्ति को प्लम्बर की आवश्यकता होती है। उद्योगों एवं व्यवसायिक बिल्डिंगों में भी आये दिन प्लंबिंग के कार्यों को पूर्ण करने की आवश्यकता होती है जिसके चलते उनको भी प्लम्बर की आवश्यकता होती रहती है। भले ही इस तरह के कार्य को पहले उतना आदर, सम्मान नहीं मिलता था लेकिन चूँकि वर्तमान में इस काम के जरिये लोग अच्छे खासे पैसे कम रहे हैं। और इसके अलावा अब लोगों को समझ आ गया है की कोई भी काम छोटा नहीं होता यदि उसमें पूरी लगन एवं जूनून के साथ मेहनत करो तो उसमें सफलता पाई जा सकती है। यही कारण है की वर्तमान में लोग प्लंबिंग इंजीनियरिंग में भी अपना सुनहरा भविष्य देख पा रहे हैं और उद्यमी भी Plumbing Business को कमाई का एक बेहतरीन स्रोत माँ रहे हैं।

प्लंबिंग का व्यापार कैसे शुरू करें (How to Start a Plumbing Business): 

हालांकि एक ऐसा व्यक्ति जिसे Plumbing Business का न सिर्फ ज्ञान हो बल्कि उसे यह काम करने का अनुभव भी हो। वह बिना किसी निवेश के अपने घर से भी व्यक्तिगत तौर पर इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकता है। क्योंकि इस बिजनेस मॉडल में उद्यमी को उन घरों एवं बिल्डिंग इत्यादि में अपनी सेवाएं प्रदान करनी होती हैं जो उसे फ़ोन इत्यादि के माध्यम से अपनी समस्या से अवगत कराते हैं। इसलिए इस तरह का कार्य करने के लिए उद्यमी को न तो किसी ऑफिस की आवश्यकता होती है और न ही किसी कर्मचारी को काम पर रखने की हाँ इतना जरुर है की लोगों तक पहुँचने के लिए उद्यमी के पास अपना वाहन होना नितांत आवश्यक है। लेकिन यदि Plumbing Business शुरू करने के इच्छुक व्यक्ति के पास न तो इसका ज्ञान है और न ही अनुभव लेकिन वह इस व्यापार में निवेश करने के लिए सक्षम है। तो ऐसे व्यक्ति को इस तरह का यह व्यापार शुरू करने के लिए निम्नलिखित कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है ।

1. प्रशिक्षण एवं अनुभव प्राप्त करें

जैसा की हम सबको अच्छी तरह से ज्ञात है की Plumbing Business शुरू करने के लिए उद्यमी को विशेष कौशल की आवश्यकता होती है । वह इसलिए क्योंकि एक प्लम्बर को केवल स्वच्छ पानी एवं स्वच्छता को बनाये रखने के लिए इस्तेमाल में लाये जाने वाले टैंकों, ड्रेनेज एवं सीवेज सिस्टम का ही काम नहीं करते हैं। अपितु गणित, रचनात्मकता, डिजाईन और समस्या को सुलझाने के लिए कौशल का उपयोग करते हैं। इसलिए प्लंबिंग नाम का काम केवल वही व्यक्ति कर सकता है जिसे इस काम की जानकारी एवं अनुभव प्राप्त हो। इसलिए यदि उद्यमी इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने के लिए गंभीर है तो उसे सर्वप्रथम किसी संस्थान से इसका प्रशिक्षण एवं व्यवहारिक ज्ञान प्राप्त करना होगा। वैसे उद्यमी चाहे तो इसका प्रशिक्षण लेकर काम के बारे में जानकारी हासिल करके उसके बाद कोई अनुभवी प्लम्बर अपने व्यापार के लिए नियुक्त कर सकता है। और काम मिलने पर उसके साथ ग्राहकों के घर या बिल्डिंग पर जाकर अनुभव प्राप्त कर सकता है। उद्यमी को इस काम की गहनता एवं अनुभव इस कदर प्राप्त करना होता है ताकि वह नई नई बनने वाली बिल्डिंगों अन्य कंस्ट्रक्शन के कामों को करने के लिए भी आत्मविश्वास से ओत प्रोत हो।      

2. संचालन करने के लिए जगह किराये पर लें

अब जब Plumbing Business कर रहे उद्यमी द्वारा प्रशिक्षण एवं व्यवहारिक ज्ञान प्राप्त कर लिया हो तो अब उसका अगला कदम अपने प्लंबिंग बिजनेस को संचालित करने के लिए जगह का प्रबंध करने की आवश्यकता हो सकती है। अर्थात उद्यमी को एक ऐसी जगह की आवश्यकता हो सकती है जहाँ से वह अपने व्यापार को आसानी से संचालित कर सके। इसके लिए उद्यमी किसी स्थानीय मार्किट में जगह किराये पर ले सकता है और उसका रेंट एग्रीमेंट इत्यादि बनवाकर उस दस्तावेज को भविष्य में पता प्रमाण के तौर पर उपयोग में भी ला सकता है। यह जरुरी नहीं है की उद्यमी कोई बड़ी सी जगह को ही किराये में ले बल्कि यह एक ऐसा बिजनेस है जिसके लिए एक छोटा सा कमरा भी उपयुक्त है। जहाँ एक टेबल, कुछ कुर्सियां, प्लम्बर टूल एवं उपकरण, कंप्यूटर इत्यादि आसानी से आ सके।      

3. प्लम्बर टूल एवं उपकरण खरीदें

हालांकि इसमें कोई दो राय नहीं की Plumbing Business में इस्तेमाल में लाये जाने वाले टूल एवं उपकरणों की बात करें तो इनकी लिस्ट बेहद लम्बी हो सकती है। और शुरूआती दौर में उद्यमी का सभी टूल एवं उपकरण खरीद पाना व्यापारिक दृष्टी से उपयुक्त भी नहीं होगा। इसलिए उद्यमी को अपने काम एवं आवश्यकता के अनुसार ही टूल एवं उपकरणों की खरीदारी करनी चाहिए। यहाँ पर हम प्लम्बर के द्वारा इस्तेमाल में लाये जाने वाले कुछ प्रमुख टूल एवं उपकरणों की लिस्ट दे रहे हैं। उद्यमी इनमें से अपनी काम के आवश्यकतानुसार टूल एवं उपकरणों का चयन करके खरीद सकते हैं ।

  • पाइप रेंच
  • बेसिन रेंच
  • होल सॉ (लकड़ी, कांक्रीट, चिनाई इत्यादि पर छेद करने का उपकरण)
  • रिब जॉइंट प्लायर्स
  • होज कटर
  • ड्रेन औगेर्स
  • मेटल फाइल
  • एडजस्टेबल रेंच
  • हैक सॉ
  • ट्युबिंग कटर 

उपर्युक्त टूल एवं उपकरणों के अलावा Plumbing Business करने वाले उद्यमी को उसके व्यापार के आकार प्रकार के आधार पर अन्य टूल एवं उपकरणों की भी आवश्यकता हो सकती है।   

4. बिल्डर इत्यादि के साथ टाई अप करें

Plumbing Business कर रहे उद्यमी के पास सर्वाधिक एवं बड़ा काम जो आएगा वह नई नाइ बन रही बिल्डिंग के माध्यम से आ सकता है। क्योंकि इन नई बिल्डिंग को बनाने में और इनमें उपर्युक्त स्वच्छता एवं पीने के पानी का ध्यान रखते हुए इनका उचित प्रबंधन की जिम्मेदारी प्लम्बर को ही दी जा सकती है। इसके अलावा उद्यमी के पास पहले से निर्मित घरों एवं बिल्डिंग से भी रखरखाव का काम आता रहता है। इसलिए उद्यमी को चाहिए की उस एरिया विशेष में उपलब्ध बिल्डर, ठेकेदारों, राजमिस्त्री इत्यादि से संपर्क बनाये रखे और यदि उद्यमी के पास इस स्तर की कुशलता है की वह बड़ी बड़ी व्यवसायिक बिल्डिंग में भी अपने काम का लोहा मनवा सकता है। तो उसे किसी कंस्ट्रक्शन कंपनी से टाई अप शुरू करके काम शुरू कर देना चाहिए।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *