लैदर बेल्ट बनाने का बिजनेस। Leather Belt Making Business Plan in Hindi.

Leather Belt की यदि हम बात करें तो यह कमर पर इस्तेमाल की जाने वाली एक प्रमुख उत्पाद है जी हाँ बेल्ट का इस्तेमाल पहनावे के तौर पर कमर पर किया जाता है । और इसे लगभग हर आयु वर्ग के लोगों द्वारा पहना जाता है । वैसे देखा जाय तो आम तौर पर इसका इस्तेमाल पैंट पर किया जाता है ताकि पैंट कमर पर अच्छी तरह डटी रहे । लेकिन वर्तमान में इसका इस्तेमाल एक फैशन आइटम के तौर पर होता है । इसलिए बेल्ट की यदि हम बात करें तो यह एक फैशन आइटम होने के अलावा एक फंक्शनल वैल्यू रखने वाली वस्तु भी है क्योंकि इसका काम पैंट को कमर पर कसकर रखने के लिए किया जाता है। यही कारण है की लोगों की कमर एवं उम्र के आधार पर इनका निर्माण अलग अलग लम्बाई एवं चौड़ाई में किया जाता है। हालाँकि बेल्ट अनेकों सामग्री जैसे सिंथेटिक लैदर, रेग्जीन, कपड़ा एवं अन्य सामग्री से भी बनाई जाती है, लेकिन यहाँ पर बात Leather Belt की हो रही है। इस्तेमाल में लाये जाने वाला लैदर सादा या क्रोम टेंड हो सकता है। और यह आम तौर पर काले या भूरे रंग का होता है लेकिन ग्राहकों के अनुरूप इसे अनेकों रंगों में ढाला जा सकता है। और इन बेल्ट में अनेको तरह के आकर्षक डिजाईन वाले बकल इस्तेमाल में लाये जाते हैं ये ग्राहक की पसंद के अनुसार अलग अलग एवं फिट होते हैं। सामान्य बेल्ट की तुलना में Leather Belt अधिक आरामदायक एवं टिकाऊ होती है इसलिए यह आम बेल्ट की तुलना में महंगी भी होती है। लेकिन इसके लम्बे समय तक चलने के गुण के कारण यह एक किफायती आइटम के तौर पर देखी जा सकती है। चूँकि इन बेल्ट को बनाने की अर्थात इनकी निर्माण प्रक्रिया बेहद सरल एवं सहज होती है इसलिए इच्छुक उद्यमी कुटीर उद्योग के तौर पर Leather Belt Manufacturing Business शुरू कर सकते हैं।

Leather belt making business

बिक्री संभाव्यता

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Leather Belt अन्य सामग्री से निर्मित बेल्ट की तुलना में अधिक आरामदायक एवं अधिक समय तक चलने वाली होती है । यही कारण है की वर्तमान में चमड़े से बने कमर बेल्ट की मांग बहुत अधिक बढ़ रही है। यह उन बच्चों एवं युवाओं के बीच काफी प्रसिद्ध है जो पश्चिमी पोशाकें अधिक पहनते हैं। इस तरह की यह बेल्ट पुरुषों में केवल युवाओं को ही नहीं बल्कि बल्कि बच्चे, बूढ़े, युवा सभी आयु वर्ग में काफी प्रसिद्ध है। भारत एक जनाधिक्य वाला देश है इसलिए यह हर उत्पाद के लिए एक बड़ा बाजार है लेकिन भारतीय चमड़े से निर्मित उत्पादों की बाहरी देशों में भी बड़ी मांग है। इसलिए उद्यमी चाहे तो अपने उत्पाद को बाहर देशों की ओर निर्यात भी कर सकता है। इसके अलावा इस तरह का यह काम करने के लिए न तो कुशल श्रमिकों की कमी है और न ही कच्चे माल की, इसलिए इच्छुक उद्यमी इस तरह के व्यवसाय को आसानी से शुरू कर सकता है।

उत्पाद एवं इसके अनुप्रयोग (Uses of Leather belt):

हालांकि इसमें कोई दो राय नहीं की बाजार में एक नहीं बल्कि अनेकों प्रकार के चमड़े से निर्मित बेल्क्त होती हैं इसलिए किसी के लिए भी Leather Belt काफी भ्रामक हो सकता है। जब हम बात बेल्ट की कर रहे होते हैं तो इसमें विभिन्न प्रकार की बेल्ट का वर्णन हो जाता है जो की गुणवत्ता एवं कीमत में भिन्न भिन्न होते हैं। ये सभी बेल्ट चमड़े की एक साधारण पट्टी की तरह दिखते हैं जिन पर बकल लगा हुआ होता है लेकिन इनके निर्माण में वैचारिक मतभेद बेहद कम होते हैं अर्थात सबके निर्माण की प्रक्रिया लगभग एक सी ही होती है। जहाँ तक चमड़े की बेल्ट का सवाल है इस्तेमाल में लायी गई चमड़े की गुणवत्ता के आधार पर इसकी मजबूती, टिकाऊपन, लचीलापन विभिन्न स्तरों पर अलग अलग हो सकता है।

लैदर बेल्ट के प्रकार  (Types of Leather Belt):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्यों में भी बता चुके हैं की Leather Belt के अनेकों प्रकार हो सकते हैं इनमें से कुछ प्रकारों का संक्षिप्त विवरण निम्नवत है।

1. सिंथेटिक लैदर बेल्ट (Synthetic Leather Belt):

सिंथेटिक लैदर बेल्ट की यदि हम बात करें तो इसमें किसी प्रकार का कोई चमड़ा नहीं होता है यह एक ऐसे पॉलीमर से बना होता है जो चमड़े की उपस्थिति का एहसास दिलाता है।  और इस तरह की बेल्ट की निर्माण प्रक्रिया भी बेहद सरल है चूँकि इसमें चमड़े का इस्तेमाल नहीं होता है इसलिए यह खरीदने में किफायती भी होती है। और इसे अनेकों  रंगों, डिजाइनों और पैटर्नों में बनाया जाता है इस तरह की यह बेल्ट उन लोगों के लिए अच्छा विकल्प हैं जो अपनी पसंद के मुताबिक विभिन्न बेल्ट को अपनी अलमारी में देखना चाहते हैं। हालांकि ये बहुत अधिक टिकाऊ तो नहीं होते हैं लेकिन यदि इनका उपयोग लगातार नहीं किया जा रहा हो तो ये वर्षों तक भी चल सकते हैं।

2. बोंडेड लैदर बेल्ट

वास्तविक लैदर की यदि हम बात करें तो बांडेड Leather Belt बाजार में सबसे सस्ते वास्तविक लैदर बेल्ट के विकल्प का प्रतिनिधित्व करती है। इस तरह की ये बेल्ट चमड़े के बेकार स्क्रैप को कच्चे माल के तौर पर इस्तेमाल में लाकर बनायीं जाती हैं। इसमें चमड़े के छोटे छोटे तंतुओं को चिपकाकर चमड़े का एक टुकड़ा बनाया जाता है और उसी से इस प्रकार के बेल्ट का निर्माण किया जाता है। यही कारण है की इस तरह की यह बेल्ट वास्तविक चमड़े की बेल्ट का सबसे सस्ते विकल्प के तौर पर बाजार में उपलब्ध हैं।

3. जेन्युइन लैदर बेल्ट  (Genuine Leather belt):

इस तरह की ये कमर बेल्ट असली उच्च श्रेणी के चमड़े की बनायीं जाती हैं हो सकता है की इस प्रकार की बेल्ट को बनाने में भी लैदर का इस्तेमाल किया जाय, लेकिन यह इस्तेमाल सिर्फ बेल्ट के बीच में कुछ परतें बनाने के लिए किया जाता है। इस तरह के बेल्ट की बाहरी परते टॉप ग्रेन लैदर से तैयार की जाती हैं जो इसकी मजबूती और स्थायित्व को बढ़ाती हैं। इस प्रकार की ये बेल्ट भी केवल टॉप ग्रेन लैदर से निर्मित बेल्ट की तुलना में सस्ती होती हैं । और इस प्रकार की बेल्ट की भी यदि उचित रखरखाव किया जाय तो यह लम्बे समय तक चल सकती है।

4. फुल ग्रेन लैदर बेल्ट

फुल ग्रेन Leather Belt को उच्चतम ग्रेड के चमड़े की बेल्ट भी कहा जा सकता है क्योंकि इसका निर्माण शीर्ष गुणवत्तायुक्त चमड़े से किया जाता है यह चमड़ा केवल और केवल जानवरों की उपरी त्वचा पर पाया जाता है। इस बेल्ट की परतों में ब्लेमिश हो सकते हैं लेकिन इन्हें केवल और केवल बेल्ट के आकर्षण को बढाने के लिए शामिल किया जाता है। इस तरह की यह बेल्ट मजबूती, लचीलापन एवं टिकाऊपन में बेजोड़ है लेकिन इनकी कीमत भी अन्य से थोड़ी अधिक हो सकती है। यह बेल्ट उन लोगों की पसंद होती हैं जो क्वांटिटी नहीं बल्कि क्वालिटी पर विश्वास करते हैं।

5. फॉर्मल और कैजुअल

वैसे देखा जाय तो अधिकतर पुरुषों द्वारा फॉर्मल कपड़ों में Leather Belt का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए एक अच्छी बेल्ट चुनने के लिए कुछ व्यक्तिगत नियम हो सकते हैं। आम तौर पर अधिकतर पुरुष उसी रंग, कंट्रास्ट, टोन की बेल्ट चुनते हैं जिस रंग के उनके जूते हों। और यह फॉर्मल बेल्ट लगभग 3 से 4.5 सेमी चौड़ी और 3 मिमी तक मोटी हो सकती है। जहाँ तक कैजुअल बेल्ट का सवाल है इसके लिए यह जरुरी नहीं है की यह बेल्ट चमड़े से ही निर्मित हो, बल्कि यह किसी भी सामग्री से निर्मित हो सकती है। लेकिन इसके बावजूद भी इस श्रेणी में कुछ लोगों की पसंद चमड़े से निर्मित बेल्ट ही हैं। 

आवश्यक मशीनरी और कच्चा माल

Leather Belt Manufacturing में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी को 1-2 लाख रूपये में आसानी से ख़रीदा जा सकता है। और इसकी उपलब्धता भी ऐसे स्थानों पर आसानी से हो जाती है जहाँ पर लोग पहले से इस तरह का यह व्यवसाय शुरू कर रहे हों। तो आइये जानते हैं इस व्यवसाय में कौन कौन सी मशीनरी इस्तेमाल में लायी जाती है।

  • स्ट्रेप कटिंग मशीन
  • अपर लैदर स्किविंग मशीन
  • लैदर सिलाई मशीन
  • साइड क्रीजिंग मशीन
  • हैण्ड टूल्स 

Leather Belt Mmanufacturing में इस्तेमाल में लाये जाने वाले आवश्यक कच्चे माल की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • क्रोम टेंड अपर लैदर
  • स्प्लिट अपर
  • बकल
  • धागा, सोल्यूशन इत्यादि
  • पैकिंग सामग्री

कच्चा माल स्थानीय बाज़ारों से आसानी से ख़रीदा जा सकता है।

लैदर बेल्ट निर्माण प्रक्रिया (Leather belt making Process):

बेहद छोटे स्तर पर अर्थात कुटीर उद्योग के तौर पर Leather Manufacturing Business शुरू करने के लिए उद्यमी को किसी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता तो नहीं है, लेकिन फिर भी उद्यमी को स्थानीय प्रसाषन से इस बारे में अवश्य पता करना चाहिए की उस एरिया विशेष में उसे इस तरह का कार्य करने के लिए किसी लाइसेंस, परमिशन, रजिस्ट्रेशन इत्यादि की आवश्यकता तो नहीं है। इस निर्माण प्रक्रिया में सबसे पहले उस चमड़े का चयन किया जाता है जिससे उद्यमी बेल्ट बनान चाहता है उसके बाद उस चमड़े को स्ट्रेप कटिंग मशीन की मदद से विभिन्न आकारों के बेल्ट काट लिए जाते हैं। और किनारों से इसे तिरछा किया जाता है और आवश्यक आकार में चमड़े के अस्तर को काट लिया जाता है। उसके बाद तिरछे किनारों को मोड़ा जाता है और उसके बाद लाइनिंग को चिपकाकर अटेच किया जाता है बेल्ट को चिपकाने के बाद सिलाई मशीन से सिलाई की जाती है। इसके अलावा Leather Manufacturing Process में अस्तर की अधिकता को ठीक से ट्रिम किया जाता है उसके बाद डिजाईन के आधार पर बेल्ट पर बकल पहनाये जाते हैं। उसके बाद बेल्ट का अच्छे ढंग से निरीक्षण किया जाता है और फिर उसे पैकिंग के लिए भेज दिया जाता है ।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *