हेल्थ और फिटनेस सेण्टर कैसे शुरू करें? Health and Fitness Center Business.

Health and Fitness Center पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि हमारा देश भारतवर्ष उन देशों की लिस्ट में शामिल है जहाँ लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता कम है । और वे नियमित एक्सरसाइज के महत्व से भी लगभग अनभिज्ञ हैं। आंकड़े बताते हैं की विश्व में तम्बाकू इत्यादि उत्पादों से होने वाली मौतों के बाद निष्क्रियता एवं खराब आहार के कारण होने वाली मौतें संख्या में दुसरे स्थान पर हैं।

यदि हम ऐसी घातक बीमारियों की बात करें जिनका कोई उपचार ही उपलब्ध नहीं है तो उनसे केवल निवारक उपायों जैसे व्यायाम, योगा इत्यादि से ही बचा जा सकता है। इसमें कोई दो राय नहीं की शारीरिक निष्क्रियता मनुष्य के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालती है इसलिए उसे शारीरिक रूप से सक्रीय रहने के लिए एक्सरसाइज इत्यादि करने की आवश्यकता होती है।

ऐसे में Health and Fitness Center की महत्वता इसलिए भी बढ़ जाती है क्योंकि गतिहीन अर्थात शारीरिक रूप से निष्क्रिय जीवन बीमारी, विकलांगता एवं मृत्यु का एक प्रमुख कारण है। हर साल पूरे विश्व में बीस लाख से अधिक मौतें शारीरिक निष्क्रियता के कारण हो जाती हैं।  विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक अध्यन में शारीरिक निष्क्रियता को मृत्यु के दस प्रमुख कारणों में से एक कारण पाया।

शारीरिक निष्क्रियता से अनेकों रोग जैसे कोलन और ब्रैस्ट कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर, लिपिड डिसऑर्डर, ऑस्टियोपोरोसिस, डिप्रेशन, चिंता इत्यादि का उद्गम होता है। हाल के अध्यनों में बच्चों में भी शारीरिक निष्क्रियता देखने को मिली है वह भी विशेषकर शहरी क्षेत्रों में जहाँ आउटडोर खेलों की जगह टेलीविजन एवं मोबाइल ने अपना प्रमुख स्थान बना लिया है।

माता पिता भी इस तथ्य से बेखबर हैं की कंप्यूटर गेम एवं मोबाइल इत्यादि ने बच्चों की शारीरिक गतिविधि को कम कर दिया है और उनके जीवन में इसके परिणाम नुकसानपरक हो सकते हैं। इसलिए एक Health and Fitness Center में नियमित रूप से व्यायाम तो कराया ही जाता है साथ में अच्छे खाने पीने की आदतों, धूम्रपान से बचने, वजन की उचित निगरानी के टिप्स भी दिए जाते हैं जिससे किसी भी मनुष्य का स्वास्थ्य बेहतर हो सकता है।

समाचार पत्रों की यदि हम बात करें तो अधिकतर संचार पत्रों में स्वास्थ्य सम्बन्धी समाचार के लिए कोई कालम उपलब्ध नहीं है और टेलीविजन एवं रेडियो में भी इस विषय पर बेहद कम कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाते हैं। यही कारण है की भारत में हेल्थ एवं फिटनेस से जुड़ी गतिविधियों को बड़े पैमाने पर प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। 

health and fitness center business hindi
People are exercising in a Fitness Center

मार्किट का विश्लेषण (Analysis of Health and Fitness Center Market)


भारत की यदि हम बात करें तो यहाँ Health and Fitness Center का विकास पिछले एक दशक से लगातार हो रहा है और इसी के चलते आज लगभग सभी शहरों, नगरों में जिम एवं अन्य स्वास्थ्य क्लब आसानी से देखे जा सकते हैं। लेकिन इन सबके बावजूद भी यदि कोई उद्यमी अच्छी गुणवत्ता के हेल्थ एवं फिटनेस सेण्टर खोलता हैं तब भी उनके लिए पर्याप्त अवसर विद्यमान हैं। हमारे देश भारत में भी एक ऐसा नया समाज पैदा होकर बढ़ रहा है जो अपने एवं अपनों के स्वास्थ्य के प्रति न सिर्फ जागरूक है बल्कि अच्छा स्वास्थ्य बनाये रखने के लिए उसी के अनुरूप कार्य भी करता है।

हालांकि यह भी देखा गया है की वही Health and Fitness Center अच्छी कमाई कर पाने में सक्षम होते हैं जो एक अच्छी लोकेशन पर मौजूद होते हैं और वे अपने ग्राहकों अच्छी फैसिलिटी प्रदान कर रहे होते हैं। वह इसलिए क्योंकि ग्राहक किसी भी फिटनेस सेण्टर का चुनाव करने से पहले उसके बारे में रिसर्च करते हैं उस सेण्टर के पुराने ग्राहकों से मिलते हैं उस सेण्टर द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का मूल्यांकन करते हैं और उसके बाद ही वे किसी सेण्टर का चुनाव कर पाते हैं।

फिटनेस से सम्बंधित सुविधाएँ कीमत मके आधार पर तो भिन्न होती ही हैं बल्कि आकार, सुविधाओं और कार्यक्रमों की पेशकश, ऑफर किये जाने वाले घंटे,  प्रदान की जाने वाली सुविधायें, प्रेरक वातावरण के आधार पर भी भिन्न हो सकती हैं। बहुत सारे ग्राहक जो अपना फिटनेस सम्बन्धी लक्ष्य प्राप्त करने के लिए किसी फिटनेस सेण्टर को ज्वाइन तो करते हैं लेकिन सेण्टर के खराब प्रबन्धन के कारण वे जल्दी ही उससे दूर हो जाते हैं।

इसलिए यदि कोई उद्यमी इन सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुए एवं इनके निराकरण के साथ खुद का हेल्थ और Fitness Center शुरू करे तो वह इस व्यवसाय से अच्छी खासी कमाई कर पाने में सक्षम हो सकता है। जहाँ तक इस व्यवसाय के टारगेट ग्राहकों की बात है इसमें बड़े शहरों में रहने वाले 18-50 वर्ष आयु वर्ग के लिए उसके टारगेट ग्राहक हो सकते हैं।

फिटनेस सेण्टर के लिए कितनी जगह चाहिए

जहाँ तक Health And Fitness Center को शुरू करने में इस्तेमाल में लायी जाने वाली जगह का सवाल है तो इसके लिए उद्यमी को 3500-4000 वर्ग फीट जगह की आवश्यकता हो सकती है। क्योंकि उद्यमी को अपने ग्राहकों को जिम्नासिया, स्लिमिंग वाटर, इनडोर गेम्स जैसे टेबल टेनिस, स्नूकर इत्यादि और जिम शॉप और कैफे भी खोलने की आवश्यकता होती है।

इस उद्यम को उद्यमी किसी भी मेट्रोपोलिटन शहर में किसी विकसित एवं विकाशसील आवासीय एरिया शुरू कर सकता है बशर्ते Fitness center प्रदान की जाने वाली सेवाओं की दरें वहां पर रहने वाले लोगों की सामर्थ्य के अनुरूप ही होनी चाहियें।

इस स्थापना में उद्यमी को खुद का अलग ऑफिस, अकाउंट और एडमिन का अलग ऑफिस, चेंजिंग रूम, वाशरूम, शोवर्स, जिम्नासिया, एक्सरसाइज हाल, रिफ्रेशमेंट सेण्टर इत्यादि स्थापित करने की आवश्यकता हो सकती है। इसलिए देखा जाय तो इस तरह के व्यवसाय को शुरू करने के लिए उद्यमी को करोड़ों रूपये निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है।

हेल्थ और फिटनेस सेण्टर के लिए एक्सरसाइज उपकरण (Equipment for Health and Fitness Center )

Health and Fitness Center की यदि हम बात करें तो इसकी सफलता मशीन एवं उपकरणों की गुणवत्ता पर निर्भर करती है। इसलिए उद्यमी को मशीनरी एवं उपकरणों का चयन बेहद सावधानीपूर्वक करने की आवश्यकता होती है।

वह इसलिए भी क्योंकि एक्सरसाइज में इस्तेमाल में लाये जाने वाले विभिन्न उपकरण बाजार में उपलब्ध हैं इनमें स्वदेशी एवं विदेशों से आयात किये गए उपकरण भी शामिल हैं। उद्यमी ग्राहकों एवं खुद की समझ के अनुसार किसी भी प्रकार के उपकरण अपने व्यवसाय के लिए खरीद सकता है। इस व्यवसाय में इस्तेमाल में लाये जाने वाले कुछ प्रमुख उपकरण इस प्रकार से हैं।

  • इलेक्ट्रिक जोगर पॉवर फिट
  • एक्सरसाइज बाइसिकल एयर रेजिस्टेंस ड्यूल एक्शन और हैवी ड्यूटी ड्यूल एक्शन
  • हैंडल के साथ मिनी स्टेपर
  • हैंडल के साथ ट्विस्टर डबल और सिंगल
  • बेल्ट मसाजर
  • क्रंच
  • वर्टिकल नी रेज
  • रोमन चेयर
  • हाइपर एक्सटेंशन
  • सिट अप बेंच
  • स्टैंड के साथ अब्डोमिनल बोर्ड
  • चेस्ट एक्सरसाइज के लिए प्लेट होल्डर के साथ बेंच प्रेस
  • प्लेट होल्डर के साथ इन्क्लाइन प्रेस
  • प्लेट होल्डर के साथ डिक्लाइन प्रेस
  • बटर फ्लाई मशीन
  • सिटींग बेंच प्रेस मशीन
  • मल्टी स्मिथ मशीन बेंच प्रेस
  • फ्लाइंग मशीन
  • पुल ओवर मशीन
  • चिन अप बार के साथ केबल क्रॉस ओवर मशीन
  • लेग एक्सटेंशन
  • हैक स्कवेटस
  • पॉवर लाइन लेग प्रेस
  • लेग कर्ल मशीन
  • लेग स्टैंड
  • स्टैंडिंग काल्वस मशीन
  • सिटींग काल्वस मशीन
  • प्रीचर कर्ल बेंच मैन्युअल एवं मशीन दोनों
  • बेंट ओवर लीवर रॉ टी बार
  • स्टैंडिंग कर्ल स्टैंड
  • ट्राइसेप्स डीप
  • शोल्डर प्रेस मशीन
  • टी बार एक्सटेंशन, ट्विस्टर, लेट पुल, केबल रोइंग के साथ मल्टी फोर स्टेशन
  • प्रीचर केबल मशीन, चिन अप बार, लेट पुल, ट्राइसेप्स एक्सटेंशन, पेक डेक, केबल रोइंग के साथ मल्टी सिक्स स्टेशन
  • विभिन्न क्रोम कोटेड रॉडस
  • विभिन्न भार के डम्बल्स
  • विभिन्न वेट रैक
  • विभिन्न डम्बल्स रैक
  • योगा करने की चटाई

व्यवसाय की मजबूती, कमजोरी, अवसर एवं संकट

Health and Fitness Center की यदि हम बात करें तो इस व्यवसाय में कुछ अवसर हैं तो कुछ संकट भी हैं इसलिए इनके बारे में बात करना आवश्यक हो जाता है। यद्यपि व्यवसाय की मजबूती, कमजोरी, अवसर एवं संकट जानने की इस प्रकिया को SWOT Analysis कहा जाता है यह एक रणनीतिक उपकरण है जिसका इस्तेमाल किसी व्यवसायिक उद्यम या प्रोजेक्ट की ताकत, कमजोरियों, अवसरों एवं खतरों के मूल्यांकन के लिए किया जाता है।

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की किसी उद्यम की ताकत एवं कमजोरियां आंतरिक कारणों से पैदा होती हैं जबकि अवसर एवं खतरे बाहरी कारणों से पैदा होते हैं। इसलिए किसी भी प्रोजेक्ट के लिए इस तरह का यह मूल्यांकन करना लाभकारी हो सकता है क्योंकि यह आंतरिक स्थिति में सुधार करने में मददगार साबित होता है।

ताकत एवं अवसर

  • Fitness center के लिए संसाधन एवं उपकरण आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं।
  • इस व्यवसाय में सीखाने वाले यानिकी प्रशिक्षण भी आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं।
  • बढती जनसँख्या भी इस व्यवसाय के लिए एक लाभकारी कारक हो सकता है।
  • शहरीकरण का विस्तारिकरण भी इस व्यवसाय के लिए अवसर प्रदान करते हैं।
  • लोगों में स्वास्थ्य के प्रति चेतना एवं जागरूकता का बढ़ना भी इसके लिए अवसर लेके आता है।   

कमजोरी और खतरे

  • सेल्स टैक्स एवं इनकम टैक्स के रूप में Health and Fitness Center से होने वाली कमाई पर भारी कर लगना इस व्यवसाय की कमजोरी में शामिल है।
  • यदि उद्यमी फिटनेस सेण्टर की फीस अधिक करता है तो मध्यम एवं निम्न आय वर्ग के लोग उसके टारगेट ग्राहकों की लिस्ट से स्वत: ही बाहर हो जाते हैं।
  • वर्तमान में ऐसी ऐसी पोर्टेबल मशीन उपलब्ध हैं जिनका इस्तेमाल लोग घरों में खरीदकर बिना किसी इंस्ट्रक्टर के कर सकते हैं । ऐसे में उनकी Fitness Center ज्वाइन करने की संभावना कम हो जाती है।
  • आयातित उपकरणों का महंगा होना ।      

हेल्थ और फिटनेस सेण्टर को कैसे सफल बनायें ( Success Tips for Health and Fitness Center ):

Health and Fitness Center Business शुरू करने वाला उद्यमी निम्नलिखित टिप्स को अपनाकर अपने व्यवसाय को सफल बनाने का प्रयत्न कर सकता है।

  • इस व्यवसाय से उद्यमी द्वारा अच्छा लाभ प्राप्त करने के लिए अपने ग्राहकों को स्टेट ऑफ़ आर्ट फैसिलिटीज प्रदान करना आवश्यक है।  
  • इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने वाले उद्यमी को स्वयं इस व्यवसाय से सम्बंधित सभी जानकारी होनी चाहिए तभी वह अच्छे से अपने ग्राहकों को अपनी सर्विस पेश कर पायेगा ।
  • क्वालिफाइड इंस्ट्रक्टर और फिजिशियन की सर्विसेज पर्यवेक्षित वर्कआउट में सुधार के परिणामों के आधार पर काम पर रखना चाहिए।
  • Health and Fitness Center चलाने वाले उद्यमी की प्राथमिकता अपने ग्राहकों को एक ऐसी जीवन शैली प्रदान करने की होनी चाहिए जो सबसे सुरक्षित एवं नवीनतम साधनों के माध्यम से फिटनेस को प्रोत्साहित करती हो।
  • ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए और मोटिवेट करने के लिए हार्ट-रेट मॉनिटर, खर्च हुई कैलोरी को मापने का यंत्र इत्यादि डिस्प्ले किया जा सकता है। 

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *