Distilled Water बैटरी का पानी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें ।

वैसे देखा जाय तो आम बोलचाल की भाषा में Distilled Water को बैटरी का पानी भी कहा जाता है वह इसलिए क्योंकि इसका इस्तेमाल बैटरी में ही किया जाता है। वर्तमान परिदृश्य में भले ही बिजली की पहुँच ग्रामीण इलाकों तक हो गई हो लेकिन आज भी भारत जैसे विशालकाय देश में बिजली की खपत बहुत अधिक होती है ।

और विशेषकर गर्मियों में तो सभी विद्युत् उपकरण जैसे पंखे, कूलर, एसी इत्यादि के संचालित होने के कारण बिजली की खपत और बढ़ जाती है। इसी कारण बिजली विभाग वालों को बड़ी देर देर तक बिजली काटनी पड़ती है ताकि मांग एवं पूर्ति में संतुलन बनाया जा सके। 

इसलिए इन दिनों में घरों एवं छोटे बड़े व्यवसायिक स्थलों पर इनवर्टर, जनरेटर के बिना काम चला पाना मुश्किल हो जाता है । और Distilled Water का इस्तेमाल इनवर्टर की बैटरी में किया जाता है इस कारण इन दिनों इसकी माँग काफी बढ़ जाती है। इस पानी का इस्तेमाल केवल और केवल इनवर्टर की बैटरी में ही नहीं किया जाता बल्कि वाहनों की बैटरी में भी किया जाता है। इसलिए सिर्फ गर्मियों में ही नहीं अपितु हर मौसम में इस तरह के पानी के बिकने की संभावना बनी रहती है।

ऐसे में यदि कोई उद्यमी खुद का व्यवसाय शुरू करने की सोच रहा हो तो उसके लिए Distilled Water Plant Business शुरू करना फायदेमंद हो सकता है।  

Distilled water manufacturing
Distilled Water

Distilled Water क्या है? परिचय

बैटरी चाहे वह इनवर्टर की हो या फिर वाहनों की इनमें इस्तेमाल में लाये जाने वाला पानी नमक, क्लोरीन एवं आयरन से मुक्त होना चाहिए। वह इसलिए क्योंकि पानी में उपलब्ध ये अशुद्धियाँ इलेक्ट्रोड को ख़राब कर देती हैं जिससे बैटरी कम काम करती है या फिर काम करना बंद कर देती है।

यही कारण है की बैटरी के लिए कम से कम अशुद्धियों वाला पानी तैयार किया जाता है जिसे बैटरी वाटर या Distilled Water के नाम से भी जाना जाता है। वैसे वर्तमान में बैटरी में डेमिनरलाइज़्ड वाटर भी इस्तेमाल में लाया जा रहा है वाटर को डेमिनरलाइज़्ड करने के लिए कच्चे माल के तौर पर बोरवेल या निगम से प्रदान किये जाने वाले पानी को इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

Distilled Water बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

बढती वाहनों एवं घरों में इस्तेमाल में लाये जाने वाले इनवर्टर की संख्या को देखते हुए यदि आप भी खुद का Distilled Water Manufacturing Business करने का सोच रहे हैं। तो हो सकता है की आपके मष्तिष्क में पहला प्रश्न यही आ रहा हो की आप इस तरह का यह व्यवसाय कैसे शुरू कर सकते हैं। हालांकि खादी एंड विलेज इंडस्ट्री कमीशन की एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट के आधार पर यदि हम कहें तो इस बिजनेस को शुरू करने में 4-5 लाख रूपये का खर्चा आ सकता है।

और इस तरह के बिजनेस को शुरू करने के लिए उद्यमी चाहे तो प्रधानमंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत ऋण के लिए भी आवेदन कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का Distilled Water Manufacturing Business शुरू कर सकता है।

1. मार्किट रिसर्च करें

वैसे देखा जाय तो यह व्यवसाय मनुष्य की अत्यंत आवश्यक आवश्यकताओं से जुड़ा हुआ तो है नहीं की लोग बिना इसे ख़रीदे रह ही नहीं पाएंगे या फिर यूँ कहें की उनका काम ही नहीं चल पायेगा। इसलिए इस तरह के व्यवसाय को शुरू करने के लिए उद्यमी को सोच समझकर आगे कदम बढाने की आवश्यकता होती है।

एक ऐसा एरिया जहाँ पर लोगों के पास इनवर्टर है ही नहीं यदि उद्यमी उस एरिया को टारगेट करके Distilled Water Manufacturing Business शुरू करेगा तो इसमें कोई दो राय नहीं की यह बिजनेस कभी सफल नहीं हो पायेगा। यही कारण है की उद्यमी जिस एरिया को टारगेट करके यह व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहा है सबसे पहले उस एरिया में मार्किट रिसर्च अवश्य कर ले।

जिसमें वह उस एरिया विशेष में लोगों के पास इनवर्टर हैं या नहीं, वाहनों की संख्या क्या है, जो उस एरिया में पहले से बैटरी वाटर सप्लाई कर रहे हैं उस कंपनी की स्थिति क्या है। अपने इस उत्पाद को बिकवाने में उद्यमी के सामने क्या क्या चुनौतियाँ आ सकती हैं इत्यादि लगभग सभी बातों को ध्यान में रखकर मार्किट रिसर्च किया जाना बेहद जरुरी है।       

2. प्लांट के लिए जगह इत्यादि का प्रबंध करें

यद्यपि छोटे स्तर पर Distilled Water का प्लांट स्थापित करने के लिए उद्यमी को बहुत बड़ी जगह की आवश्यकता नहीं होने वाली 500-700 Square Feet जगह भी शुरूआती दौर में पर्याप्त रहेगी। उद्यमी को अपनी टारगेट मार्किट के लगभग 10-20 किलोमीटर के अंतर्गत ही अपने बिजनेस के लिए जगह का प्रबंध करना चाहिए।

क्योंकि शुरूआती दौर में लोकल स्तर पर ही उत्पाद बिक जाए तो इससे बढ़िया बात कुछ नहीं हो सकती। यदि उद्यमी अन्य शहरों में भी अपने उत्पाद को बेचना चाहता हो तो उसे न सिर्फ मार्केटिंग पर पैसे खर्च करने की आवश्यकता होगी बल्कि ट्रांसपोर्ट इत्यादि पर भी भारी रकम खर्च करने की आवश्यकता होगी। इसलिए Distilled Water Manufacturing Business करने वाले उद्यमी के लिए शुरूआती दौर में बेहतर यही होगा की वह लोकल स्तर पर ही अपने उत्पाद को बेचने का प्रयास करे और धीरे धीरे अपने बिजनेस को एक्सपेंड करे।

जगह के अलावा उद्यमी को कमर्शियल बिजली पानी कनेक्शन की भी आवश्यकता होगी और इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा की उस जगह पर पानी की कोई कमी नहीं हो क्योंकि बैटरी वाटर के इस व्यवसाय में प्रमुख कच्चे माल के तौर पर पानी को ही इस्तेमाल में लाया जाएगा।      

3. आवश्यक परमिशन एवं लाइसेंस प्राप्त करें

कमर्शियल बिजली पानी कनेक्शन के अलावा उद्यमी को स्थानीय प्राधिकरण से भी इस तरह की फैक्ट्री लगाने की परमिशन लेने की आवश्यकता हो सकती है।इसके अलावा बिजनेस रजिस्ट्रेशन, टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि भी प्रमुख हैं और पानी की गुणवत्ता के लिए BIS Certification की भी आवश्यकता हो सकती है।

और उद्योग आधार, एमएसएमई डाटा बैंक में भी अपने व्यवसाय को रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है ताकि उद्यमी के उद्यम को अनेकों सरकारी योजनओं का लाभ मिल सके।     

4. मशीनरी एवं उपकरणों की खरीदारी करें

जहाँ तक Distilled Water Manufacturing Business शुरू करने के लिए आवश्यक मशीनरी एवं उपकरणों का सवाल है इसमें उद्यमी को कई तरह की मशीनरी एवं उपकरण खरीदने की आवश्यकता होगी। उद्यमी चाहे तो ऑनलाइन विभिन्न वेबसाइट जैसे ट्रेडइंडिया, इंडियामार्ट जैसी वेबसाइट के माध्यम से भी सप्लायर ढूंढ सकता है।

या फिर लोकाक्ल स्तर पर ऑफलाइन भी प्रयास कर सकता है। मशीनरी एवं उपकरणों की खरीदारी से पहले उद्यमी को इनकी एक लिस्ट तैयार कर लेनी चाहिए। कुछ संभावित मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है।

  • रेसिन आधारित बैटरी वाटर प्लांट उपकरणों के साथ
  • बोतल पैकेजिंग को श्रिंक करने के लिए हॉट एयर ब्‍लॉवर
  • पानी भण्डारण के लिए  प्‍लास्टिक ड्रम
  • वाटर लिफ्टिंग पंप
  • हार्डनेस टेस्टिंग केमिकल  किट
  • पीएच मीटर
  • सेमीऑटोमैटिक फिलिंग मशीन
  • 1 एचपी मोटर
  • क्‍वालिटी कंट्रोल इक्‍वीपमेंट    

5. स्टाफ की नियुक्ति एवं निर्माण प्रक्रिया  

Distilled Water Manufacturing Business शुरू करने के लिए अब अगला कदम उद्यमी को स्टाफ की नियुक्ति करने का होना चाहिए इसमें उद्यमी को कम से कम एक कुशल एवं एक अकुशल श्रमिक एवं सुपरवाइजर की आवश्यकता हो सकती है। कर्मचारियों की नियुक्ति करने के बाद उद्यमी को बैटरी वाटर के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर देनी चाहिए। Distilled Water का निर्माण एक्सचेंज प्रक्रिया के माध्यम से किया जाता है।

इस प्रक्रिया में दो वर्टीकल सिलिंडर होते हैं जो FRP प्लास्टिक से निर्मित होते हैं और ये स्टैंड एवं पानी की गुणवत्ता के लिए जो परीक्षण कीट होती है उसके साथ लगे हुए होते हैं। जिससे पानी की गुणवत्ता की जाँच सुनिश्चित की जाती है। इस बेलनाकार बर्तन में रेसिन होता है जो पानी से पानी की कठोरता को हटा देता है।

पानी सबसे पहले पहले सिलिंडर के बॉटम से गुजरता है और उसके बाद टॉप पहुँचता है और उसके बाद दुसरे सिलिंडर के बॉटम पर पहुँचता है जो फिर से शुद्ध रूप में दुसरे बेलनाकार बर्तन के टॉप में आ जाता है। इस प्रक्रिया में पानी दो सिलिंडर से होकर ही गुजरता है और कभी कभी गुरुत्वाकर्षण बल ही इस पर्पज के लिए पर्याप्त होता है। लेकिन यदि पर्याप्त दबाव नहीं हो तो वाटर फीडिंग के लिए एक छोटे पंप की आवश्यकता हो सकती है।

अन्य भी पढ़ें

आइसक्रीम कोन बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

नोटबुक बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *