कॉस्मेटिक वस्तुओं का बिजनेस कैसे शुरू करें? 6 Steps to Start Cosmetic Shop.

Cosmetic Shop से तो शायद आप भली भांति परिचित होंगे जी हाँ आम तौर पर कॉस्मेटिक वस्तुओं से आशय सौन्दर्य देखभाल के इस्तेमाल में लाये जाने वाले उत्पादों से लगाया जाता है। और जब सौन्दर्य उत्पादों की बात हो रही हो तो महिलाओं की बात होना भी स्वभाविक ही है। क्योंकि अक्सर देखा गया है की पुरुषों की तुलना में महिलाओं को साज, श्रंगार एवं अपने सौन्दर्य की देखभाल करने में ज्यादा रूचि होती है। इसलिए उनके द्वारा समय समय पर तरह तरह के सौन्दर्य देखभाल उत्पादों का इस्तेमाल किया जाता है।

हालांकि यहाँ पर यह स्पष्ट कर देना जरुरी है की नारी को अपने सौन्दर्य को बनाये रखने के लिए सौन्दर्य उत्पादों का इस्तेमाल वर्तमान जीवनशैली के कारण ही नहीं करना पड़ रहा। बल्कि यह कार्य तो महिलाएं प्राचीनकाल से करती आ रही हैं लेकिन फर्क सिर्फ इतना है की उस समय वे घरेलू एवं प्राकृतिक रेमेडीज का ज्यादा इस्तेमाल सौन्दर्य उत्पादों के तौर पर करती थी।

लेकिन उस समय अधिकतर महिलाओं को गृह कार्य या कृषि कार्यों को करने की आवश्यकता होती थी जिस कारण उन्हें संजने संवरने का समय कम ही मिल पाता था। या यूँ कहें की इस प्रकार के कार्यों को करने के लिए संजने संवरने की आवश्यकता नहीं होती थी। लेकिन आज जब महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुष से कंधे से कंधे मिलाकर आगे बढ़ रही हैं तो औद्योगिक क्षेत्र में भी उनका योगदान बढ़ा है। और आज की महिलाएं हर वो काम कर सकती हैं जो पुरुष कर सकते हैं इसलिए उन्हें भी घर की चारदीवारी से बाहर निकलने की जरुरत पड़ती रहती है।

ऐसे में घर से बाहर निकलने से पहले महिलाओं को संजने संवरने एवं सौन्दर्य  उत्पादों का इस्तेमाल करना अच्छा लगता है। यही कारण है की वर्तमान में हर गली मोहल्ले में कम से कम एक तो Cosmetic Shop दिखाई ही देती है। वैसे तो महिलाओं को साज श्रृंगार, सजने संवरने की आदत सी होती है इसलिए वे नित्य सौन्दर्य उत्पादों का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन दूसरी तरफ जैसे जैसे महिलाओं की सहभागिता औद्योगिक कामों से लेकर लगभग सभी क्षेत्रों में तीव्र गति से बढती जा रही है।

और उन्हें अपने कार्यों को लेकर घर की चारदीवारी से बाहर निकलने की आवश्यकता होने लगी है इन्हीं सब कारणों से संजना संवरना यानिकी सौन्दर्य देखभाल के उत्पादों का इस्तेमाल करना उनकी मज़बूरी बन गई है। इसलिए वर्तमान में Cosmetic Shop Business शुरू करना बेहद ही लाभकारी हो सकता है।

Cosmetic Shop business plan hindi

कॉस्मेटिक शॉप क्या है (What is Cosmetic Shop in Hindi):

Cosmetic Shop को सौन्दर्य प्रसाधन की दुकान भी कहा जा सकता है यानिकी एक ऐसा स्थान या दुकान जहाँ से लोग सौन्दर्य देखभाल में काम आने वाले उत्पाद जैसे क्रीम, पाउडर, काजल, बिंदी, चूड़ी, सिंदूर, आर्टिफीसियल ज्वेलरी, फेस पैक, कंघी, हेयर क्लिप इत्यादि खरीद सकें कॉस्मेटिक शॉप कहलाती है। कहने का आशय यह है की इस तरह की दुकानों में सौन्दर्य देखभाल करने के लगभग सभी उत्पाद मिलते हैं इसलिए वर्तमान में इस तरह की दुकानों की मांग बढती जा रही है।

कॉस्मेटिक शॉप बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start a Cosmetic Shop )      

भारत में ही नहीं अपितु दुनियाभर में कई लोगों ने Cosmetic Shop Business शुरू करके सौन्दर्य प्रसाधनों को बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमाया है। चूँकि वर्तमान में एक से नए नए सौन्दर्य प्रसाधन बाजार में आ रहे हैं इसलिए भारत में भी इच्छुक व्यक्ति इस तरह का व्यवसाय शुरू करके लाभ कम सकते हैं। चूँकि भारत में भी लोग अपने स्वास्थ्य एवं शरीर के बारे में अधिक जागरूक हो गए हैं और वे जानते हैं की आज का युग दिखावे का युग है इस कारण भी उनका झुकाव अनेकों प्रकार के सौन्दर्य प्रसाधनों के इस्तेमाल के प्रति बढ़ता जा रहा है।

क्योंकि वर्तमान में हर कोई अपने आपको युवा एवं सुन्दर दिखाना चाहता है और लोगों की यही सोच उन्हें सौन्दर्य देखभाल में इस्तेमाल होने वाले उत्पादों को खरीदने के लिए विवश कर देती है । लेकिन चाहे व्यवसाय कोई सा भी हो बेहतर यही होता है की उसे शुरू करने से पहले रिसर्च करनी चाहिए। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है की ऐसे भी बहुत सारे लोग हैं जो बिना कुछ रिसर्च किये एवं बिना सोचे समझे व्यापार शुरू कर देते हैं लेकिन बाद में उनके हाथ पछतावे के सिवा कुछ भी नहीं लगता है।

इसलिए यह जरुरी हो जाता है की Cosmetic Shop Business शुरू करने वाले उद्यमी को उचित ढंग से और लगभग सभी प्रक्रियाओं की जानकारी के बाद ही चरणबद्ध तरीके से इस तरह का यह व्यापार शुरू करना चाहिए। तो आइये जानते हैं इस तरह के व्यापार को शुरू करने के लिए आवश्यक कुछ चरणों के बारे में।

1. स्थानीय स्तर पर रिसर्च करें

खुद का Cosmetic Shop Business शुरू करने के लिए उद्यमी का सबसे पहला कदम उस एरिया विशेष में सौन्दर्य प्रसाधनों की मांग का जायजा लेने का होना चाहिए। जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की इस व्यापार में उद्यमी के मुख्य ग्राहक के तौर पर महिलाएं रहने वाली हैं। इसलिए उद्यमी को यही पता करने की कोशिश करनी चाहिए की उस एरिया में महिलाओं की संख्या उसके बिजनेस को चलाने के लिए पर्याप्त है या नहीं।

इसके अलावा यदि महिलाएं कामकाजी या फिर ऐसे परिवारों से सम्बंधित हो जिनकी खर्च करने की क्षमता अधिक हो तो उद्यमी के व्यापार के लिए यह बात और भी अधिक अनुकूल हो सकती है। क्योंकि अक्सर देखा गया है की कामकाजी महिलाएं, घरेलू महिलाओं की तुलना में खर्च करने के प्रति अधिक स्वतंत्र होती हैं वह शायद इसलिए क्योंकि वे खुद कमाती हैं। इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह खुद की Cosmetic Shop शुरू करने से पहले उपर्युक्त बताई गई बातों के आधार पर स्थानीय स्तर पर रिसर्च करे।      

2. लोकेशन का चयन करें (location for Cosmetic Shop)

जब उद्यमी खुद का Cosmetic Shop Business शुरू करने का निर्णय ले लेता है तो लोकेशन उसके व्यापार को अनुकूल एवं प्रतिकूल दोनों तरह से प्रभावित कर सकता है। यदि लोकेशन अच्छी हुई तो बिजनेस अनुकूल रूप से प्रभावित होगा और यदि लोकेशन ठीक नहीं हुई तो उद्यमी क व्यापार पर प्रतिकूल प्रभाव दिखाई देगा। इसलिए उद्यमी चाहे तो अपनी रिसर्च के मुताबिक ही लोकेशन का चयन कर सकता है

यानिकी एक ऐसी लोकेशन जहाँ पर महिलाएं, कामकाजी महिलाएं, लोगों की खर्च करने की क्षमता इत्यादि अधिक हो ऐसी लोकेशन पर Cosmetic Shop का व्यवसाय शुरू करना लाभकारी हो सकता है।  यद्यपि यह लोकेशन उस एरिया का स्थानीय बाजार हो सकता है जहाँ पर उद्यमी कोई दुकान किराये पर लेकर इस व्यापार को आसानी से शुरू कर सकता है। इसके अलावा उद्यमी का बजट यदि अधिक हो तो वह किसी शॉपिंग सेण्टर या मॉल में भी अपनी कॉस्मेटिक दुकान खोल सकता है।    

3. कॉस्मेटिक शॉप की डिजाईन

जब उद्यमी द्वारा चयनित लोकेशन पर दुकान किराये पर ले ली जाती है। और उसका रेंट एग्रीमेंट इत्यादि बनवा लिया जाता है तो उसके बाद उद्यमी को उस दुकान का इंटीरियर डिजाइनिंग का काम शुरू करवा देना चाहिए। यदि उद्यमी चाहता है की भविष्य में उसे किसी भी सौन्दर्य देखभाल के उत्पाद को निकालने एवं रखने में कोई परेशानी न हो तो उसे इन्हें एक लॉजिकल मैनर में रखना होगा। और चूँकि ये रखे गए उत्पाद आकर्षक एवं सुन्दर भी लगने चाहिए ताकि ग्राहक इन्हें देखते ही पसंद कर सकें इसलिए उद्यमी को अपनी दुकान में शीशे इत्यादि के दरवाजे भी लगाने होते हैं।

अर्थात दीवारों पर बनी दराज एवं काउंटर पर लगे दरवाजे पारदर्शी होने चाहिए ताकि ग्राहक इन्हें आसानी से देख सकें। यदि उद्यमी का बजट थोड़ा सा अधिक है तो वह इस फिल्ड में महारत हासिल किये किसी इंटीरियर डिज़ाइनर से सलाह लेकर ही इंटीरियर का काम करा सकता है। Cosmetic Shop की डिजाईन ऐसी होनी चाहिए की सौन्दर्य प्रसाधनों को समय समय पर ग्राहकों की मांग के अनुरूप निकला जा सके और फिर यथास्थान आसानी से रखा भी जा सके।      

4. स्थानीय नियमों का पता करें

वैसे यदि उद्यमी इस तरह का यह बिजनेस ह्कोते स्तर पर शुरू करना चाहता है तो उसे किसी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होती जब तक की उसका व्यापार एक निश्चित टर्नओवर को न पार कर जाय। लेकिन इसके बावजूद कॉस्मेटिक आइटम में भी अनेकों आइटम ऐसे होते हैं जिन्हें बिना लाइसेंस प्राप्त किये नहीं बेचा जा सकता है इसलिए उद्यमी को अपनी Cosmetic Shop को कॉस्मेटिक एवं ड्रग एक्ट के तहत रजिस्टर करने की या लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता हो सकती है।

यदि Cosmetic Shop शुरू करने वाला उद्यमी चाहता है की उसका व्यापार वैधानिक रूप से अच्छे ढंग से संचालित होता रहे तो उसे चाहिए की वह उस स्थान हा एरिया विशेष के नियमों के बारे में पता करे और उन्हीं के अनुरूप अपने व्यापार का संचालन करे। इसके अलावा उद्यमी को टर्नओवर की एक सीमा के पश्चात टैक्स रजिस्ट्रेशन, चालू खाता, पैन कार्ड इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है।    

5. सप्लायर ढूंढें एवं माल भरें (Find Supplier for Cosmetic Shop)

अब Cosmetic Shop Business शुरू करने की ओर उद्यमी का अगला कदम सप्लायर ढूँढने का होना चाहिए । यद्यपि उद्यमी चाहे तो ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से भी सौन्दर्य प्रसाधनों का सप्लायर ढूंढ सकता है लेकिन इस व्यापार में ऐसा करने से अधिक लाभ होने वाला नहीं है। क्योंकि किसी अन्य राज्य एवं अन्य शहर का सप्लायर उद्यमी को एक बार तो माल की डिलीवरी दे देगा क्योंकि पहली बार में मंगाया जाने वाला सामान आम आर्डर की तुलना में अधिक होगा। 

लेकिन बाद में वह छोटे छोटे आर्डर के लिए डिलीवरी देने से मना कर सकता है। उद्यमी चाहे तो जो जो भी प्रोडक्ट उसे चाहिए उनकी एक लिस्ट तैयर कर सकता है और उनकी कोटेशन इत्यादि सप्लायर से मंगा सकता है। बेहतर तो यही है की उद्यमी को कोई स्थानीय सप्लायर ढूंढकर उससे माल खरीदकर Cosmetic Shop में भर लेना चाहिए। क्योंकि लोकल सप्लायर आपातकालीन में भी डिलीवरी दे पाने में सक्षम हो पायेगा।     

6. कॉस्मेटिक शॉप की मार्केटिंग करें:

उद्यमी को यह बात तो माननी ही पड़ेगी की उसके संभावित ग्राहकों में उस स्थान या एरिया विशेष में रहने वाली महिलाएं ही अधिकतर होंगी। और उद्यमी यह सोचकर की उसकी दुकान में ग्राहक अपने आप आयेंगे हाथ पर हाथ धरे बैठ भी नहीं सकता। कुल मिलाकर Cosmetic Shop Business के लिए भी मार्केटिंग बेहद महत्वपूर्ण है। इसलिए उद्यमी चाहे तो स्थानीय समाचार पत्र, पोस्टर, बैनर, पम्फलेट इत्यादि वितरित करके अपने व्यापार की मार्केटिंग कर सकता है।

और यदि उद्यमी चाहता है की जो उसकी दुकान में एक बार आये और वही ग्राहक बार बार आये बल्कि और दो चार लोगों को लेके आये तो उद्यमी एवं उसके कर्मचारियों का व्यवहार ग्राहकों के प्रति बेहद सरल एवं नम्रतापूर्ण होना चाहिए। इसके अलावा उद्यमी को अपनी Cosmetic Shop में लेटेस्ट ट्रेंडिंग प्रोडक्ट भी रखने की नितांत आवश्यकता होती है। क्योंकि जब ग्राहकों को वही प्रोडक्ट मिलते रहेंगे जो उन्हें चाहिए तो उनके पैर स्वत: ही बार बार उद्यमी के कॉस्मेटिक स्टोर की तरफ चल पड़ेगें।  

अन्य लेख भी पढ़ें    

10 Replies to “कॉस्मेटिक वस्तुओं का बिजनेस कैसे शुरू करें? 6 Steps to Start Cosmetic Shop.”

  1. Mujhe cosmetic ka business Shuru karna hai iske liye Mujhe Kya Karna chahie Shuru mein aur Kitna paise se main Apna cosmetic ka Karya kar sakta hun please

    1. पंकज जी,
      आपके प्रश्न का जवाब एक लाइन में या इस टिप्पणी के माध्यम से देना आसान नहीं है, लेकिन फिर भी थोक व्यापार शुरू करने की तुलना में कॉस्मेटिक वस्तुओं का रिटेल व्यापार कम निवेश के साथ शुरू किया जा सकता है। आने वाली लागत व्यापार के आकार, शहर, राज्य, लोकेशन इत्यादि के आधार पर अंतरित हो सकती है।

  2. मै कॉस्मेटिक , स्किन केयर, का ऑनलाइन बिज़नेस करना चाहती हूं इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए

    1. जी, आपके पास दो विकल्प हैं, या तो आप दुसरे ई कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से अपने प्रोडक्ट बेच सकती हैं. या फिर खुद का ई कॉमर्स स्टोर बनाकर इन्हें बेच सकती हैं.

    1. डिस्ट्रीब्यूटर या मैन्युफैक्चरर से माल खरीदें और थोक दामों में रिटेल स्टोर को बेचें.

  3. डिस्ट्रीब्यूटर या मैन्युफैक्चरर् से माल खरीदने में कम से कम कितना पूंजी निवेश करना होगा।

    1. अपनी क्षमतानुसार लेकिन यदि डिस्ट्रीब्यूटर हर दो तीन दिन में सर्विस दे सकता है, तो कम पूँजी 50-70 हजार से ही शुरू करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *