कंप्यूटर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट कैसे शुरू करें?How to Start Computer Training Institute.

Computer Institute खोलने का व्यवसाय वर्तमान में बेहद लाभकारी व्यवसाय के तौर पर सामने आ सकता है। वह इसलिए क्योंकि वर्तमान में लगभग हर छोटे से बड़े व्यवसाय में कंप्यूटर का इस्तेमाल बड़ी तीव्र गति से बढ़ता हुआ देखा जा सकता है। आज चाहे हम किसी शॉपिंग माल में चले जाएँ या गली नुक्कड़ के किसी स्टोर से कुछ खरीदने चले जाएँ वर्तमान में बिलिंग एवं रिकॉर्ड बनाये रखने के लिए इनमें भी कंप्यूटर के इस्तेमाल देखे जा सकते हैं। कहने का आशय यह है की वर्तमान में व्यवसाय, स्कूलों, अस्पतालों, कॉलेजों, रेस्तरां, होटल इत्यादि में विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए कंप्यूटर एवं इससे जुड़े सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। जहाँ पहले नौकरी ढूँढने के पारम्परिक तरीकों में व्यवसाय के संस्थान में जाकर पता करना शामिल होता था, वर्तमान में कंप्यूटर और इन्टरनेट की मदद से नौकरी करने के इच्छुक उम्मीदवार घर बैठे कंपनी इत्यादि का पता कर सकते हैं। ऐसे में Computer Institute Business शुरू करना इसलिए भी लाभकारी हो सकता है क्योंकि किसी प्रकार की भी जॉब पाने के लिए कंप्यूटर की आधारभूत जानकारी का होना आवश्यक होता है। इसलिए हर माता पिता और बच्चों की कोशिश रहती है की वे नौकरी पर जाने से पहले किसी Computer Institute से कंप्यूटर संचालित करने का प्रशिक्षण अवश्य प्राप्त कर लें। वर्तमान में कंप्यूटर की महत्वता को देखते हुए विभिन्न स्कूलों ने इसे पाठ्यक्रम का हिस्सा बना दिया है और बच्चों को बचपन से ही कंप्यूटर की शिक्षा दी जा रही है। विभिन्न उद्योगों में कंप्यूटर का बढ़ता इस्तेमाल इस बात की गवाही है की यह व्यापारिक कार्यों को आसान बनाता है जहाँ ऑटोमोबाइल क्षेत्र में बेहतरीन डिजाईन के लिए कंप्यूटर में CAD / CAM जैसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है। वहीँ अस्पतालों में मरीजों के रिकॉर्ड, उनके बीमारी का इतिहास, रिपोर्ट का विश्लेषण करने, लेखांकन और बिलिंग के अलावा हेल्थ बीमा एजेंसी के साथ प्रबंधन इत्यादि के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही कंप्यूटर को वर्तमान पाठ्यक्रम में शामिल कर दिया हो लेकिन बच्चों को कंप्यूटर का व्यवहारिक ज्ञान दिलाने के लिए उनके माता पिता उन्हें Computer Institute में ही भेजना पसंद करते हैं। जहाँ तक बात ट्रेडर एवं विनिर्माणकर्ताओं की है ये विभिन्न कार्यों जैसे इन्वेंट्री कंट्रोल, लॉजिस्टिक्स मैनेजमेंट, अकाउंटिंग इत्यादि के लिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं। इसलिए विभिन्न क्षेत्रों के लगभग हर विभाग में कंप्यूटर उनका एक अभिन्न अंग बन गया है।

Computer Training Institute business hindi

मार्किट में अवसर और चुनौती  

वर्तमान समय की यदि हम बात करें तो सूचना प्रसंस्करण हाल के दिनों में दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण उद्योगों में से एक बन गया है । सूचना संसाधन, डेटा प्रबंधन, डिजाइन, उत्पादन, प्रबंधन और अर्थव्यवस्था के समग्र विकास के लिए अन्य विभिन्न अनुप्रयोगों हेतु इसकी जबरदस्त संभावनाओं को देखते हुए इस क्षेत्र में प्रशिक्षित और कौशलयुक्त जनशक्ति की आवश्यकता बढ़ गई है। इसलिए आने वाले वर्षों में सॉफ्टवेयर एक्सपर्ट के लिए और अच्छे अवसर पैदा हो सकते हैं। Computer Institute में न सिर्फ कंप्यूटर की आधारभूत जानकारी दी जाती है बल्कि कुछ अन्य व्यवसायिक कोर्स भी ग्राहकों को ऑफर किये जा सकते हैं। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की यदि हम बात करें तो यह प्रमुख रूप से सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर नामक दो समूहों में विभाजित है। सिस्टम सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल एप्लीकेशन डेवलपमेंट के लिए किया जाता है और यह सिस्टम में मौजूद सॉफ्टवेयर के साथ ही काम करता है और इंटरफ़ेस भी करता है। जबकि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर की तुलना में अधिक व्यापक रूप से विकसित हो सकता है व्यापक रूप से इस्तेमाल में लाये जाने वाले सॉफ्टवेयर शब्द प्रोसेसर, स्प्रेड शीट और डेटाबेस इत्यादि हैं। स्प्रेड शीट सॉफ्टवेयर की यदि हम बात करें तो इसने वित्तीय विश्लेषण के बजट को कम करने, कम समय लेने, कुशल, सटीकता, सरल और काम का पूर्वानुमान लगाने के काम को बेहद आसान कर दिया है। और डेटाबेस सॉफ़्टवेयर ने भी डेटा के बड़े स्रोत से जानकारी संग्रहीत करने, व्यवस्थित करने और उसे पुनर्प्राप्त करने के डेटा प्रबंधन में क्रांति ला दी है।

कंप्यूटर इंस्टिट्यूट कैसे शुरू करें ? (How to Start Computer Institute Business In India):

हालांकि Computer Institute Business कोई भी वह व्यक्ति शुरू कर सकता है जो इस बिजनेस में आने वाली लागत को वहन कर सके। लेकिन एक ऐसा व्यक्ति जिसे कंप्यूटर एप्लीकेशन और नेटवर्किंग की अच्छी जानकारी हो, वह यह व्यवसाय शुरू करे तो ज्यादा बेहतर होगा। यद्यपि इसमें कोई दो राय नहीं की उद्यमी चाहे कंप्यूटर सेक्टर का जानकार हो या फिर इससे अनभिज्ञ, उसे अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक चलाने के लिए विभिन्न कर्मचारियों को नियुक्त करने की आवश्यकता होती ही है जो इच्छुक लोगों को कंप्यूटर के तरह तरह कोर्स सीखा पाने में सक्षम हों। लेकिन यदि उद्यमी इस सेक्टर का जानकार होगा तो वह अपनी जानकारी एवं अनुभव का इस्तेमाल करके अपने Computer Institute को सफल बनाने में तो कामयाब होगा ही साथ ही आने वाली चुनौतियों से भी आसानी से निबट सकेगा। तो आइये जानते हैं की किसी इच्छुक व्यक्ति को खुद का कंप्यूटर इंस्टिट्यूट शुरू करने केलिए क्या क्या कदम उठाने की आवश्यकता होती है ।

1. आवश्यक जगह और बिल्डिंग

Computer Institute शुरू करने के लिए उद्यमी को एक बड़ी सी जगह या बिल्डिंग की आवश्यकता हो सकती है जहाँ पर एक ही समय में उद्यमी अनेकों तरह के अलग अलग कोर्स अपने ग्राहकों को सीखा सके। लेकिन यदि शुरूआती दौर में यदि उद्यमी के पास बजट की कमी है तो वह कुछ जरुरी कोर्स के साथ ही इंस्टिट्यूट शुरू कर सकता है और समय व्यतीत होने के साथ साथ अपने व्यवसाय को बढ़ा सकता है। उद्यमी के पास यदि किसी स्थानीय बाजार या उसके नज़दीक जमीन हो तो वह वही पर अपने इंस्टिट्यूट का निर्माण शुरू कर सकता है लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो उद्यमी कोई बिल्डिंग किराये पर लेकर भी इस तरह का यह व्यवसाय शुरू कर सकता है। लेकिन ध्यान रहे स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट इत्यादि बिजनेस को स्थापित होने में सालों का समय लगता है ऐसे में उन्हीं लोगों के लिए इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करना लाभकारी एवं सुविधाजनक रहता है, जिनके पास स्वयं की बिल्डिंग या जमीन उपलब्ध हों अर्थात उन्हें किसी को किराया देने की आवश्यकता न हो।      

2. वित्त का प्रबंध (Fund Arrangement for Computer Institute):

इस व्यवसाय को शुरू करने में आने वाला मुख्य खर्चा जमीन, बिल्डिंग और फर्नीचर का ही है और Computer Institute तभी सफलता की राह पर आगे बढ़ पायेगा, जब उद्यमी वहां पर अनुभवी एवं अपने फिल्ड में एक्सपर्ट लोगों को फैकल्टी के तौर पर नियुक्त करेगा। क्योंकि अकसर देखा गया है की सीखने सिखाने वाले व्यवसाय की सफलता में सिखाने वाले गुरुओं का अहम् योगदान होता है। इसलिए उद्यमी को अनुभवी एवं शिक्षित गुरु नियुक्त करने में भी अधिक खर्चा करने की आवश्यकता हो सकती है।  इस प्रकार से देखे तो उद्यमी को जमीन एवं बिल्डिंग का खर्चा, फर्नीचर इत्यादि खरीदने का खर्चा, कर्मचारियों की सैलरी देने का खर्चा, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर एवं अन्य उपकरण खरदीने में लाखों रूपये निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है। वित्त का प्रबंध उद्यमी स्वयं की व्यक्तिगत बचत, सरकारी योजना के तहत सब्सिडी ऋण, बैंकों से ऋण या फिर किसी वेंचर कैपिटलिस्ट इत्यादि से ऋण लेकर कर सकता है।   

3. आवश्यक लाइसेंस और पंजीकरण

वैसे जहाँ तक स्कूल कॉलेज इत्यादि खोलने की बात है तो इसके लिए सर्वप्रथम एक ट्रस्ट या सोसाइटी का निर्माण करना होता है, क्योंकि शिक्षा को आज भी मानव कल्याण का सबसे अहम् हिस्सा माना जाता है। लेकिन जहाँ तक बात Computer Institute की है इसे उद्यमी एक व्यवसायिक प्रतिष्ठान के तौर पर स्थापित कर सकता है इसके लिए उद्यमी अपने व्यवसाय को प्रोप्राइटरशिप, पार्टनरशिप इत्यादि के तहत रजिस्टर कराकर टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि भी करा सकता है। ध्यान रहे वर्तमान समय में किसी भी जॉब के लिए कोई भी वेकेंसी निकलती है तो उम्मीदवार से किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से कंप्यूटर कोर्स का कोई प्रमाण जमा करने के लिए भी कहा जाता है। इसलिए उद्यमी के Computer Institute में दो तरह के ग्राहक एक तो वे जो विद्यार्थी हों, और पहली बार कंप्यूटर सीख रहे हों, दुसरे वे लोग भी हो सकते हैं जो कहीं कार्यरत हों और अपने स्किल में सुधार या नौकरी में उन्नति पाने के लिए कंप्यूटर का कोई कोर्स करना चाहते हों। इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह अपने इंस्टिट्यूट को या तो सीधे तौर पर सरकार से मान्यता प्राप्त करवाए या फिर किसी मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट से एफिलिएट करवाए। ताकि लोगों में इंस्टिट्यूट के प्रति ट्रस्ट स्थापित हो सके।     

4. मशीनरी उपकरण कच्चा माल

मशीनरी उपकरण और कच्चे माल की यदि हम बात करें तो उद्यमी को खुद का Computer Institute खोलने के लिए कंप्यूटर, सॉफ्टवेयर, फर्नीचर इत्यादि खरीदने की आवश्यकता हो सकती है । कुछ की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • 10-12 कंप्यूटर सभी उपकरणों जैसे माउस, सीपीयू, कीबोर्ड इत्यादि के साथ।
  • 4-5 लैपटॉप फैकल्टी के लिए
  • प्रोजेक्टर
  • एडवांस्ड सॉफ्टवेयर
  • फोटोकॉपी स्कैनर के साथ कलर प्रिंटर
  • विभिन्न कंप्यूटर हार्डवेयर सामग्री
  • इन्वर्टर
  • एयर कंडीशनर
  • फर्नीचर
  • इन्टरनेट इंफ्रास्ट्रक्चर और इलेक्ट्रिफिकेशन
  • इन्टरनेट कनेक्शन
  • सॉफ्टवेयर रिन्यू
  • पेपर रिम
  • इंक कार्ट्रिज
  • अन्य स्टेशनरी

उपर्युक्त लिस्ट में हमने कुछ प्रमुख उपकरणों और कच्चे माल की लिस्ट एक साथ दे दी है लेकिन इसके बावजूद भी अनेकों ऐसी वस्तुएं हैं जो इनमें शामिल नहीं है और जिन्हें खरीदने के लिए उद्यमी को खर्चा करने की आवश्यकता हो सकती है।

5. सर्विस और मार्केटिंग (Services provided by Computer Institute):

Computer Institute Business में उद्यमी को किसी वस्तु का निर्माण तो करना नहीं है उद्यमी को सिर्फ अपने ग्राहकों को अपनी सर्विसेज यानिकी अलग अलग कोर्स प्रदान करने हैं। इसलिए उद्यमी को अनुभवी एवं शिक्षित फैकल्टी की आवश्यकता होती है। कंप्यूटर प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा अपने ग्राहकों को विभिन्न प्रकार के पाठ्यक्रम ऑफर किये जाते हैं ये कोर्स छात्रों और कार्यरत कर्मचारी जो अपने स्किल को अपग्रेड करना चाहते हैं दोनों को ध्यान में रखकर डिजाईन किये जाते हैं। Computer Institute द्वारा प्रदान किये जाने वाले कुछ प्रमुख कोर्स की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • कोरेलड्रा
  • एडोबी क्रिएटिव सुइट
  • माइक्रोसॉफ्ट स्पेशलाइजेशन
  • ओरेकल डीबी
  • माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल एडवांस
  • एनीमेशन टूल
  • CAD/Cam
  • टैली ईआरपी
  • सिस्को नेटवर्किंग कोर्स
  • क्लाउड स्पेशलाइजेशन
  • VMware/Citrix
  • सॉफ्टवेर डेवलपमेंट
  • कंप्यूटर हार्डवेयर और अस्सेम्बल
  • बिग डाटा
  • सर्टिफिकेशन प्रोग्राम     

 ध्यान रहे उद्यमी को अपने Computer Institute को सफल बनाने के लिए निरंतर प्रयास करने की आवश्यकता होती है इसके लिए इंस्टिट्यूट द्वारा संचालित कार्यक्रमों का विज्ञापन अपनी टारगेट ऑडियंस तक समाचार पत्रों में विज्ञापन, लोकल केबल टीवी में विज्ञापन करके किया जा सकता है। इसके अलावा जब आज अधिकतर छात्र और नौकरीपेशा इन्टरनेट से जुड़े हुए हैं ऐसे में ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से फ्री और पेड मार्केटिंग भी की जा सकती है।    

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *