कंप्यूटर कीबोर्ड [Computer Keyboard ] बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Computer Keyboard बनाने के बिजनेस पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है, क्योंकि कंप्यूटर न केवल हमारे व्यवसायों को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए आवश्यक है । बल्कि हमारे निजी जीवन को कुशलतापूर्वक चलाने के लिए सबसे प्रमुख उपकरणों में से एक है। वर्तमान समय में कंप्यूटर के बिना निजी जीवन और व्यवसायिक जीवन के बारे में सोचना भी बेहद मुश्किल कार्य है।

कहने का आशय यह है की, आज के समय में बिना कंप्यूटर के हमारे ऐसे कई काम होते हैं जो रूक जाते हैं। ये कार्य निजी जीवन और व्यवसायिक जीवन दोनों से जुड़े हो सकते हैं। कंप्यूटर एक ऐसा उपकरण है जो , इनपुट और आउटपुट डिवाइस द्वारा संचालित होता है। और Computer Keyboard एक ऐसा उपकरण है, जिसे इनपुट प्रदान करने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है ।

चूँकि वर्तमान में बिना कंप्यूटर के निजी या व्यवसायिक जिन्दगी की कल्पना मात्र करने से भी डर लगता है। इसलिए कंप्यूटर की मांग और बिक्री दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है, कंप्यूटर की माँग के साथ साथ Computer Keyboard की माँग भी स्वत: ही बढती जा रही है । नए कंप्यूटर की मांग के साथ साथ पुराने कंप्यूटर की रिपेयरिंग और कीबोर्ड के खराब होने के कारण भी कंप्यूटर कीबोर्ड की माँग बढती जा रही है।

computer keyboard banane ka business

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है

Computer Keyboard का इस्तेमाल डाटा एंट्री, डॉक्यूमेंट निर्माण, एडिटिंग, ब्राउज़िंग और कंप्यूटर के साथ बातचीत करने के लिए किया जाता है। एक अच्छे कीबोर्ड में एनेकों गुण होने चाहिए इनमें बिना जाम हुए, सुगमतापूर्वक चलने, मजबूती से माउंट करने में सक्षम और की बाउंस से मुक्त होना इत्यादि शामिल है। इसके अलावा इसमें इस्तेमाल के लिए ठीक से और समान रूप से की होनी चाहिए।

Computer Keyboard को कंप्यूटर से आसानी से अलग किया जा सकता है। इसे एक लचीली केबल के माध्यम से कंप्यूटर से कनेक्ट किया जाता है। कीबोर्ड पर कितने की होनी चाहिए यह इस बात पर निर्भर करता है की उस कीबोर्ड को कौन सी भाषाओँ के सिस्टम के साथ संयोजन के लिए बनाया जा रहा है।

साधारण कीबोर्ड में 107 या 108 कुंजियाँ होती हैं, हालांकि कभी कभी इनकी संख्या 111 तक भी हो सकती है। यह कंप्यूटर से आने वाली पॉवर के माध्यम से काम करता है। इसका इंटरफेस कंप्यूटर के पास उपलब्ध इंटरफ़ेस विकल्प के अनुसार होता है।

कंप्यूटर कीबोर्ड के बिकने की संभावना    

हाल के कुछ वर्षों में भारतीय कंप्यूटर उद्योग ने महत्वपूर्ण विकास किया है, यदि सॉफ्टवेयर विकास को हम छोड़ भी दें, तो भारत में अकेले हार्डवेयर विकास में पिछले दस वर्षों में 15% की दर से औसत वृद्धि देखी गई है। विनिर्माण और सेवा उद्योगों में कई कामों को संचालित करने, तेज, सटीक विश्लेषण और विकास के लिए कंप्यूटर पर भरोसा बढ़ा है।

यही कारण है की कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों तरह के उद्योगों का स्वस्थ विकास स्पष्ट रूप से दिखाई देता है। इसलिए देश में माइक्रो और निजी कंप्यूटर की वृद्धि और इनकी मांग को देखते हुए Computer Keyboard की अच्छी मांग है। वर्तमान में देश के लघु उद्योगों द्वारा कंप्यूटर उद्योग के लिए कीबोर्ड की मांग की पूर्ति की जा रही है।

एक आंकड़े के मुताबिक 80% से अधिक Computer Keyboard का निर्माण देश के लघु उद्योगों द्वारा किया जाता है। और प्रति वर्ष देश में कीबोर्ड की मांग बीस लाख से अधिक है, इसलिए इस क्षेत्र में 30 से पचास ऐसी इकाइयाँ हैं जो दस लाख से अधिक की बोर्ड का उत्पादन प्रति वर्ष कर रही हैं । लेकिन बाकी की मांग को आयात के जरिये पूर्ण किया जा रहा है।

ऐसे में यदि कोई इच्छुक एवं उद्यमी स्वयं का Computer Keyboard विनिर्माण इकाई शुरू करता है, तो यह उसके लिए बेहद लाभकारी हो सकता है। क्योंकि इनके लिए स्थापित बाजार पहले से उपलब्ध है।

Computer keyboard बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें ?

जैसा की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की, Computer Keyboard एक आईटी आधारित उत्पाद है। इसलिए यदि प्रमोटर के पास कंप्यूटर और सूचना प्रसंस्करण से सम्बंधित कुछ बुनियादी योग्यताएं हों, तो इस व्यवसाय के लिए बेहद अच्छा हो सकता है। कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग किया हुआ प्रमोटर, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स या कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा, हार्डवेयर टेक्नोलॉजी में कोई सर्टिफिकेट कोर्स किया हुआ प्रमोटर भी इसके लिए उपयुक्त हो सकता है।

लेकिन यदि प्रमोटर के पास उपर्युक्त बताई गई योग्यताएं नहीं हैं, तो इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है की, वह व्यक्ति Computer Keyboard Manufacturing Business शुरू नहीं कर सकता। सच्चाई तो यह है की, कोई भी व्यक्ति जो इस व्यवसाय को शुरू करने में आने वाली लागत को वहन कर सकता है, वह इस बिजनेस को शुरू कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति इस व्यवसाय को शुरू कर सकता है।

1. प्रशिक्षण प्राप्त करें

जैसा की हम पहले भी स्पष्ट कर चुके हैं की, Computer Keyboard बनाने का बिजनेस इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़ा हुआ बिजनेस है। इसलिए चाहे उद्यमी ने कंप्यूटर साइंस, हार्डवेयर साइंस या फिर इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स में कोई डिग्री, डिप्लोमा या कोर्स ही क्यों न किया हो। उसे इस व्यवसाय मो शुरू करने से पहले प्रशिक्षण प्राप्त करना ही होगा।

उद्यमी चाहे तो नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के किसी सेण्टर से भी इस तरह का यह प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा इंडियन इंस्टिट्यूट फॉर हार्डवेयर ट्रेनिंग के माध्यम से भी इच्छुक उद्यमी Computer Keyboard बनाने का बिजनेस शुरू करने से पहले प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है।    

2. जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करें

प्रशिक्षण प्राप्त करने के दौरान यदि उद्यमी को लगता है की वह Computer Keyboard Manufacturing बिजनेस को सुचारू रूप से चला पायेगा। तो अब उसे इसके लिए जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध करने की आवश्यकता होगी। उद्यमी चाहे तो शहर से दूर यानिकी पांच दस किलोमीटर के रेडियस में जहाँ भी उसे सस्ती जमीन या बिल्डिंग किराये या लीज पर मिल रही हो, ले सकता है।

उद्यमी को कच्चे माल के लिए स्टोर, तैयार माल के लिए स्टोर, विनिर्माण स्थल के लिए जगह, बिजली उपयोगिताओं के लिए जगह और ऑफिस स्थापित करने के लिए भी जगह की, आवश्यकता होती है। इस प्रकार से देखें तो, उद्यमी को 1200 से 1500 Square Feet जगह की आवश्यकता हो सकती है।

यदि उद्यमी की स्वयं की जमीन हो तो वह वहीं पर प्लांट लेआउट के आधार पर बिल्डिंग निर्माण कार्य शुरू करवा सकता है। लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो उद्यमी को चाहिए की, वह कोई बनी बनाई बिल्डिंग किराये पर लेकर Computer Keyboard बनाने का बिजनेस शुरू करे।

3. जरुरी वित्त का प्रबंध करें

वित्त का प्रबंध उद्यमी तभी कर पाएगा, जब उसे ज्ञात होगा की उसको Computer Keyboard Manufacturing बिजनेस शुरू करने के लिए कितने पैसों की आवश्यकता होगी।इसलिए उद्यमी को वित्त का प्रबंध करने से पहले बिजनेस प्लान या फिर सिर्फ प्रोजेक्ट रिपोर्ट बना लेनी चाहिए। ताकि उसे उसके व्यवसाय को शुरू करने में आने वाली लागत के बारे में ज्ञात हो सके।

वित्त का प्रबंध करने के लिए उद्यमी अनेकों स्रोतों जैसे बैंक ऋण, घर परिवारजनों से ऋण, क्राउड फंडिंग के माध्यम से फण्ड जुटाना, वेंचर कैपिटलिस्ट इत्यादि स्रोतों के माध्यम से वित्त का प्रबंध कर सकता है। उससे पहले उद्यमी को सरकारी सब्सिडी ऋण इत्यादि के बारे में भी अवश्य पता करना चाहिए।    

4. लाइसेंस और पंजीकरण प्राप्त करें

यद्यपि Computer Keyboard Manufacturing Business के लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता तो नहीं है। लेकिन इसके बावजूद उद्यमी को निम्नलिखित लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता हो सकती है ।

  • उद्यमी को अपने व्यवसाय को रजिस्ट्रार ऑफ़ कम्पनीज में रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • टैक्स रजिस्ट्रेशन के तौर पर जीएसटी रजिस्ट्रेशन करने की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • कर्मचारियों की संख्या निश्चित सीमा से अधिक होने पर ईएसआई और ईपीएफ रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता होगी।
  • अपने व्यवसाय को एमएसएमई के तौर पर पहचान दिलाने के लिए उद्यम पोर्टल पर रजिस्टर करने की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • यदि उद्यमी Computer Keyboard को निर्यात करने की योजना बना रहा है, तो उसे इम्पोर्ट एक्सपोर्ट कोड की भी आवश्यकता होगी।     

5. मशीनरी और उपकरण खरीदें

Computer Keyboard बनाने में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी और उपकरणों की लिस्ट तो निश्चित हो सकती है, लेकिन इनकी संख्या में प्लांट की उत्पादन क्षमता जे आधार पर अंतरित हो सकता है।

उदाहरणार्थ – जैसे छोटे स्तर पर इस तरह का व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 Bench Drilling Machine की आवश्यकता हो सकती है। तो वहीँ थोड़े बड़े स्तर पर इस तरह का व्यवसाय शुरू करने वाले व्यक्ति को 40-50 बेंच ड्रिलिंग मशीन की आवश्यकता हो सकती है। यह नियम सभी मशीनरी और उपकरणों पर लागू होता है।

  • बेंच ड्रिलिंग मशीन
  • बेंच ग्राइंडर
  • कंप्यूटर सेट इनस्टॉल सॉफ्टवेयर के साथ
  • पॉवर सप्लाई यूपीएस
  • डिजिटल मल्टीमीटर
  • असेंबली और टेस्टिंग यूनिट

 6. कच्चा माल और कर्मचारी नियुक्त करें

Membrane Computer Keyboard एक अनेकों परत वाली प्लास्टिक या रबर असेम्बली होती है। यह आम तौर पर विडियो गेम, मशीन, कैलकुलेटर, कैश रजिस्टर इत्यादि कई विभिन्न उपकरणों में इस्तेमाल में लायी जाती है। इस तरह के कीबोर्ड में दो रबर या प्लास्टिक शीट का इस्तेमाल कंडक्टर शीट और कॉलम कंडक्टर शीट के रूप में किया जाता है।

कर्मचारियों के तौर पर उद्यमी को मशीन संचालक, हेल्पर, अकाउंटेंट, सुपरवाईजर, मार्केटिंग और सेल्स पर्सन इत्यादि नियुक्त करने की आवश्यकता होती है। शुरूआती दौर में उद्यमी को चाहिए की वह सस्ते और अनुभवहीन व्यक्तियों को काम पर रख सकता है ।   

7. निर्माण कार्य शुरू करें  

Computer Keyboard विनिर्माण प्रक्रिया में इलेक्ट्रॉनिक असेम्बली और मैकेनिकल सब असेम्बली एवं उन्हें एक कॉम्पैक्ट यूनिट में एकीकृत करना शमिल है। डिजाईन के अनुसार प्रिंटेड सर्किट बोर्ड पर इलेक्ट्रॉनिक सर्किटरी को विभिन्न घटकों जैसे आईसी, ट्रांजिस्टर, डायोड और निष्क्रिय घटकों के साथ असेम्बल कर दिया जाता है।

मेकेनिकल असेम्बली प्रक्रिया में डिजाईन के अनुसार बेस प्लेट पर मेम्ब्रेन केबल और रबर बोर्ड को फिक्स करना शामिल है। और कुंजी बटनों पर इस तरह से अंकन किया जाना चाहिए की, वे मिट न सकें अर्थात ये अंकन अमिट होना चाहिए।

अन्य भी पढ़ें

इलेक्ट्रिक आयरन बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

एलईडी बल्ब बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *