कोल्ड स्टोरेज बिजनेस कैसे शुरू करें? Cold Storage Business Plan in Hindi.

Cold Storage नामक इस व्यवसाय पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है, क्योंकि जब किसी सब्जी या फल का सीजन होता है तो उसकी पैदावार बहुत अधिक होती है जो की उस समय मौजूद मांग से कहीं अधिक होती है । इस अतिरिक्त पैदावार को संरक्षित करने और वर्ष भर उस उत्पाद की उपलब्धता बनाये रखने के लिए देश में Cold Storage की आवश्यकता होती है।

कहने का आशय यह है की आज का बदलता वैश्विक जलवायु परिदृश्य स्थायी खाद्य उत्पादन के लिए खतरा पैदा करता है, इसलिए इन पैदावारों या संसाधनों के सरंक्षण की आवश्यकता पहले के मुकाबले अधिक प्रासंगिक हो गई है। कोल्ड स्टोरेज के होने से सीजन के समय होने वाली फसलों की बर्बादी को तो रोका ही जा सकता है साथ में इन्हें लम्बे समय तक ख़राब होने से भी बचाए रखा जा सकता है। वर्तमान में संसाधनों का अधिकतम इस्तेमाल के लिए स्थायी और पर्यावरण के अनुकूल संरक्षण तकनीकों की आवश्यकता है।

हमारा देश भारतवर्ष वैश्विक स्तर पर फलों और सब्जियों का सबसे बड़ा उत्पादक देश है फिर भी आपको यह जानकार आश्चर्य होगा की यहाँ प्रति व्यक्ति के हिसाब से फलों और सब्जियों की उपलब्धता काफी कम है। लेकिन इसका मुख्य कारण यह है की फल और सब्जी उत्पादित तो हो जाती हैं, लेकिन Cold Storage या इन्हें संरक्षित करने की तकनीकों में कमी के कारण उत्पादन का लगभग एक बड़ा हिस्सा 25 से 30% फल और सब्जियाँ खराब हो जाती हैं ।

इसके अलावा फल और सब्जियों के उत्पादन की एक बड़ी मात्रा ऐसी भी है जो अंतिम उपभोक्ता तक पहुँचते पहुँचते ख़राब हो जाती है। इनमें अधिकतर वे उत्पाद होते हैं जिनकी प्रकृति जल्दी खराब होने की होती है इसलिए यदि इन उत्पादों की खपत जल्दी से नहीं होती है तो इनके बिक्री होने की संभावना कम हो जाती है जिससे किसानों को नुकसान होता है। और वे अगले साल इस स्थिति से बचने के लिए किसी और फसल का उत्पादन करना शुरू कर देते हैं और इस तरह से यह चक्र जारी रहता है ।

अब चूँकि किसान हर साल उच्च मूल्य के फलों और सब्जियों की खेती करने का जोखिम उठाते हैं जिसके चलते देश का किसान आज भी गरीब ही बना हुआ है। ऐसे में यदि उस समय किसानों को Cold Storage की सुविधा उनकी फसल को सरंक्षित करने के लिए मिल जाती है तो वे अपनी फसल को औने पौने दामों में बेचने से बच जायेंगे जिससे उन्हें बेहतर रिटर्न मिलने की उम्मीद लगाई जा सकती है ।

cold storage business plan hindi
Items Stored in a Cold Storage

कोल्ड स्टोरेज क्या है? (What is Cold Storage facility):

एक Cold Storage की यदि हम बात करें तो यह एक ऐसा कमरा, स्थान या जगह है जहाँ फलों, सब्जियों एवं अन्य उत्पादों को संरक्षित करने के लिए रखा जाता है, वह इसलिए क्योंकि यहाँ के तापमान को एयर कंडीशन इत्यादि लगाकर बेहद कम कर दिया जाता है ताकि ख़राब होने वाले फल, सब्जियों के जीवन को बढाया जा सके।

कहने का आशय यह है की एक कोल्ड स्टोर फल, सब्जियों और अन्य उत्पादों को ख़राब होने से बचाता है क्योंकि इस स्थान को बेहद ठंडा बनाया जाता है और यह उन उत्पादों को ठंडा रखता है जिससे उत्पाद खराब होने से बच जाते हैं। Cold Storage सिर्फ खाद्य उद्योग के लिए ही उपयोगी नहीं है बल्कि चिकित्सा और रासायनिक उत्पादों के भण्डारण के लिए भी ये महत्वपूर्ण हैं इसके अलावा बागवानी उद्योग को भी कोल्ड स्टोरेज की आवश्यकता पड़ती है क्योंकि पौधों और फूलों को भी ठंडे में संरक्षित करने के लिए रखना पड़ता है।

कोल्ड स्टोरेज की आवश्यकता

वैसे देखा जाय तो अधिकांश मामलों में Cold Storage Business शुरू करने वाले उद्यमी या किसानों की वित्तीय स्थिति उन्हें 5000 मीट्रिक टन से अधिक क्षमता वाले कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने के लिए स्वत: ही रोक देती है, क्योंकि इस तरह के कोल्ड स्टोर स्थापित करने के लिए करोड़ो करोड़ रूपये निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है । यहाँ पर हम एक छोटा कोल्ड स्टोरेज शुरू करने के बारे में बात कर रहे हैं जिसमें कम अवधि के लिए सब्जियों, फल, फूलों एवं अन्य उत्पादों को संग्रहित किया जा सके।

और इस तरह के कोल्ड स्टोरेज को कोई भी किसान एवं छोटा व्यवसायी आसानी से शुरू कर सके ताकि जब सीजन में किसी फसल का दाम गिरने लगे तो उत्पाद को औने पौने दामों में या लागत से भी कम दामों में न बेचकर उसे छोटी अवधि के लिए Cold Storage में संग्रहित करने के लिए रखा जा सके। कम क्षमता वाले कोल्ड स्टोरेज को बनाने में निवेश कम होता है इसलिए कोई किसान अपनी खुद की फसल को कुछ समय के लिए स्टोर करने या फिर दुसरे किसानों को इस तरह की सुविधा प्रदान करने के लिए भी इसकी स्थापना कर सकता है। कोल्ड स्टोरेज के कुछ प्रमुख उद्देश्य निम्नलिखित हैं।

  • इस तरह के कोल्ड स्टोरेज को स्थानीय सब्जी मंडी, सब्जियों के बाजार या फिर किसानों के खेतों के नज़दीक स्थापित किया जा सकता है।
  • अतिरिक्त उत्पादन को बाद में बेचने के उद्देश्य से संग्रहित करना।
  • बाजार में फलों और सब्जियों को किसान औने – पौने दामों में बेचने से बच पाएंगे।
  • जब उन्हें फलों और सब्जियों की लागत के बराबर भी मूल्य न मिल रहा हो ऐसे में फलों और सब्जियों को कोल्ड स्टोर में रखने पर इन्हें बाद में किसानों द्वारा लाभकारी दामों में बेचा जा सकता है।

कोल्ड स्टोरेज बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to Start Cold Storage Business):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्यों में पहले भी बता चुके हैं की Cold Storage Business शुरु करने मे आने  वाली लागत स्टोरेज क्षमता के आधार पर अलग अलग हो सकती है। इसलिए यदि उद्यमी कम निवेश के साथ इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करना चाहता है तो वह कम स्टोरेज क्षमता का कोल्ड स्टोर स्थापित कर सकता है।

और इस तरह का यह व्यवसाय उन क्षेत्रों में अधिक चलेगा जहाँ पर किसानों द्वारा कृषि की जाती हो चूँकि भारत में फल, सब्जियाँ, अनाज इत्यादि को कोई भी विक्रेता या व्यापारी तय की गई मात्रा से अधिक भंडारित नहीं कर सकता, इसलिए उद्यमी को किसानों या अन्य व्यापारियों को ही Cold Storage की सुविधा प्रदान करनी होगी, यदि उद्यमी खुद भी एक किसान है तो वह अपनी स्वयं की फसल को कुछ समय के लिए संरक्षण हेतु भंडारित कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति खुद का कोल्ड स्टोर शुरू कर सकता है।

1. जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध

यह बात शायद हर कोई भारतवासी जानता होगा की यहाँ पर अधिकतर फसलें ऐसी हैं जो मौसमी हैं अर्थात उनका उत्पादन पूरे वर्ष में केवल एक सीजन में ही किया जाता है। और जहाँ कृषि उत्पादों के खराब होने की बात आती है उनमें फल और सब्जियों का जिक्र प्रमुखता से होता है। अक्सर हम देखते हैं की टमाटर के सीजन में टमाटर की पैदावार इतनी अधिक हो जाती है की किसानों को इसकी लागत मूल्य के बराबर भी पैसे नहीं मिल पाते ।

ऐसे में उनके पास Cold Storage की सुविधा न होने के कारण उन्हें वे टमाटर औने- पौने दामों में बेचने होते हैं या फिर अपने पास रखकर सड़ने देने होते हैं। किसानों की इसी समस्या का समाधान कोल्ड स्टोरेज नामक इस सुविधा में निहित है। इसलिए उद्यमी को जमीन और बिल्डिंग का प्रबंध किसी ऐसे ही क्षेत्र में करना होगा जहाँ से वह किसानों को अपने ग्राहक के तौर पर आसानी से टारगेट कर सके। शुरूआती दौर में कम निवेश के साथ 14×10 Feet का चैम्बर भी पर्याप्त होगा।

2. वित्त का प्रबंध  (Fund Arrangement for Cold Storage Business):

हालांकि Cold Storage Business शुरू करने वाले उद्यमी को वित्त का प्रबंध करने से पहले अपने व्यवसाय की एक व्यवहारिक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर लेनी चाहिए। यह प्रोजेक्ट रिपोर्ट उसे इस बात का तो अनुमान देगी ही की उसे इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए लगभग कितने निवेश की आवश्यकता होगी साथ में बैंक या अन्य किसी वित्तीय संस्थान से ऋण इत्यादि प्रदान करने में भी सहायक हो सकती है।

एक आंकड़े के मुताबिक उद्यमी को लगभग 10 मीट्रिक टन क्षमता वाला कोल्ड स्टोर स्थापित करने में लगभग 12-15 लाख रूपये खर्च करने की आवश्यकता हो सकती है। उद्यमी के पास वित्त का प्रबंध करने के लिए सरकारी योजनाओं के तहत सब्सिडी ऋण, बैंक से सामान्य ऋण और व्यक्तिगत बचत इत्यादि विकल्प उपलब्ध हैं।

3. कोल्ड स्टोरेज के उपकरण

    छोटे स्तर पर Cold Storage Business शुरू करने के लिए शायद ही किसी लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती हो, लेकिन इसके बावजूद उद्यमी को स्थानीय प्रशाषन से इस बारे में अवश्य जानकारी लेनी चाहिए और यदि कोई जरुरी लाइसेंस और पंजीकरण हो तो उसे अवश्य कराना चाहिए। एक कोल्ड स्टोरेज के प्रमुख अवयव निम्नलिखित हो सकते हैं।

  • कोल्ड रूम पैनल
  • कोल्ड रूम डोर
  • कंप्रेसर
  • कंडेसिंग यूनिट
  • सीलिंग यूनिट कूलर
  • इलेक्ट्रिक कण्ट्रोल पैनल    

4. जानकारी लें और स्टोर करें (Get Knowledge of Cold Storage & Store Things):

अब जब उद्यमी द्वारा Cold Storage Business सफलतापूर्वक स्थापित कर लिया गया हो उसके बाद उसे इस बात की जानकारी लेनी भी बेहद आवश्यक है की किस फल और सब्जी के लिए किस तापमान और ह्यूमिडीटी की आवश्यकता होती है। और उस फल और सब्जी को उस आदर्श तापमान और ह्यूमिडीटी में कितने समय तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है। यहाँ पर हम कुछ फल और सब्जियों और उनके लिए उपयुक्त वातावरण की लिस्ट पेश कर रहे हैं ।

  • सेब को 1 से 4 डिग्री तापमान और 90-95 ह्यूमिडिटी में 12 Months यानिकी एक साल तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • केलों को 13 से 16 डिग्री तापमान और 80-95 ह्यूमिडिटी में तीन हफ्ते तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • जामुन और स्ट्रॉबेरी  को 0 डिग्री तापमान और 90-95 ह्यूमिडिटी में 3-7 तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • अंगूर को 0  डिग्री तापमान और 85 ह्यूमिडिटी में आठ हफ़्तों तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • नेक्टराइन, प्लम और आड़ू को 0  डिग्री तापमान और 90-95 ह्यूमिडिटी में पांच हफ़्तों तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • नाशपाती को -1 से -0 डिग्री तापमान और 90-95 ह्यूमिडिटी में 7 महीने तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • ब्रोकोली और गोभी को 0 डिग्री तापमान और 95-100 ह्यूमिडिटी में चार हफ़्तों तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • गाजर को 0 डिग्री तापमान और 98-100 ह्यूमिडिटी में 9 Months  तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।
  • प्याज को 0  डिग्री तापमान और 65-70 ह्यूमिडिटी में 8 Months तक के लिए संरक्षित करके रखा जा सकता है।

Cold Storage Business करने वाले उद्यमी को चाहिए की वह अन्य उत्पादों की भी इस तरह की जानकारी जुटाए और उसी आधार पर किसानों या अपने ग्राहकों को जागरूक कराए।

अन्य लेख भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *