यदि आप बिजनेस करने की सोच रहे हैं और आप इन्टरनेट या मार्किट में इसे शुरू करने के बारे में रिसर्च कर रहे हैं तो आपने Business Plan के बारे में अवश्य सुना होगा । जी हाँ दोस्तों किसी भी बिजनेस के लिए उसकी योजना का लिखित में होना अति आवश्यक है। इसलिए हर उद्यमी जो भी कोई उद्यम स्थापित करना चाहता हो या फिर पहले से कर रहा हो उसके पास उस उद्यम से सम्बंधित उसकी योजना का होना अति आवश्यक है। जिसमें उस बिजनेस से सम्बंधित सभी तत्वों का विस्तृत तौर पर अच्छे से विवरण लिखित में होता है।

और उद्यमी उसी का अनुसरण करके अपने बिजनेस को चलाता है और उसे यह पता भी लगता रहता है की उसका बिजनेस कितने समय में कितना ग्रो कर पाया है या फिर Business Plan के मुताबिक एक निश्चित समय में परिणाम आये हैं की नहीं।यद्यपि इसकी महत्वता इत्यादि के बारे में हम एक अलग से लेख के माध्यम से बात करेंगे लेकिन इस लेख में हम एक बिजनेस प्लान होता क्या है और इसके कैसे लिखें या बनायें पर स्टेप बाई स्टेप जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं।

कहने का आशय यह है की भले ही आप छोटा सा बिजनेस शुरू कर रहे हों या फिर बड़े निवेश के साथ कोई बड़ी कंपनी स्थापित करने की योजना बना रहे हों। आपको अपने व्यापार के लिए एक लिखित Business Plan की आवश्यकता होती ही होती है। तो आइये जानते हैं की यह होता क्या है?

Business-plan-kaise-banaye
Business-plan-kaise-banaye

बिजनेस प्लान क्या होता है (What is a Business Plan ):

वैसे यदि हम Business Plan का शाब्दिक अर्थ समझने की कोशिश करेंगे तो इसे आम तौर पर एक व्यापारिक योजना कह सकते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की इसे एक ऐसा दस्तावेज कह सकते हैं जिसमें बिजनेस के भविष्य के उद्देश्य एवं उन्हें पाने की रणनीतियां लिखित तौर पर उल्लेखित होती हैं। यानिकी एक बिजनेस प्लान किसी बिजनेस के भविष्य का एक लिखित विवरण होता है यह एक ऐसा दस्तावेज होता है जो या बताता है की उद्यमी भविष्य में क्या करने की योजना बना रहा है। और वह जो भी करने की योजना बना रहा है वह उसे कैसे करेगा।

एक Business Plan का रणनीतिक होना अति आवश्यक है ताकि उन्हीं रणनीतियों पर चलकर उद्यमी अपने बिजनेस को आगे बढ़ा पाए। आम तौर पर इस तरह की यह योजनायें तीन या पांच सालों के लिए बनाई जाती हैं और उसके बाद इसी योजना में फेरबदल या फिर नई योजना बनाकर भी बिजनेस में आगे बढ़ा जा सकता है। कभी कभी बिजनेस प्रमोटर एवं लोन देने वाले वित्तीय संस्थान भी उद्यमी से उसका बिजनेस प्लान मांगते हैं ताकि उस बिजनेस पर उनका विश्वास बढ़ सके।

बिजनेस प्लान कैसे लिखें या बनायें (How to Write a Business Plan ):

अब यदि अब तक आप समझ गए हैं की Business Plan होता क्या है और यह किसी भी व्यापार के लिए क्यों जरुरी हो सकता है । तो अब आपको यह जानना बेहद जरुरी होता है की एक अच्छे बिजनेस प्लान के क्या क्या तत्व होते हैं अर्थात बिजनेस की योजना बनाते वक्त या उसे दस्तावेज में लिखते वक्त किन किन बातों को शामिल किया जाता है । तो आइये जानते हैं की बिजनेस प्लान कैसे लिखा जाता है या इसके मुख्य तत्व कौन कौन से होते हैं।

1. एग्जीक्यूटिव समरी (Executive Summary):

हालांकि यह पूरे Business plan में उल्लेखित बातों का सारांश होता है यही कारण है की यह दस्तावेज आता तो सबसे पहले हैं लेकिन अक्सर प्लान लिखने वाले इसे सबसे अंत में लिखते हैं। आम तौर पर एक आदर्श बिजनेस प्लान में यह एक दो पृष्ठों का हो सकता है।

2.  बिजनेस का विवरण (Write Business Description in your Business Plan):

इस दस्तावेज में आम तौर पर बिजनेस डिस्क्रिप्शन इस इंडस्ट्री की एक संक्षिप्त विवरण के साथ शुरू होती है। इस दस्तावेज में इंडस्ट्री का विवरण भरते समय या इसका वर्णन करते समय वर्तमान दृष्टिकोण के साथ साथ भविष्य की संभावनाओं पर भी चर्चा करनी बेहद जरुरी होती है। इसके अलावा बिजनेस का विवरण लिखते वक्त उद्यमी को उस इंडस्ट्री से सम्बंधित विभिन्न मार्किट के बारे में भी जानकारी प्रदान करनी चाहिए। इसमें कोई भी नया उत्पाद या विकास शामिल हो सकता है जो आने वाले समय में उद्यमी के बिजनेस को प्रभावित करता हो।   

3. मार्केटिंग रणनीति (Marketing Strategies):

Business Plan में मार्केटिंग रणनीति उल्लेखित करने से पहले सावधानीपूर्वक उस इंडस्ट्री के बाजार का विश्लेषण करना बेहद आवश्यक है। क्योंकि एक अच्छी मार्केटिंग रणनीति सावधानीपूर्वक की गई बाजार विश्लेषण का ही परिणाम है। जब उद्यमी बाजार का विश्लेषण कर रहा होता है तो उसे बाजार के सभी पहलुओं से अच्छी तरह से परिचित होने की आवश्यकता होती है। ताकि लक्ष्यित मार्किट को इस योजना के तहत परिभाषित किया जा सके और बिक्री बढ़ाने के उपायों को खोजा जा सके।    

4. प्रतिस्पर्धा का विश्लेषण (Do Competitive Analysis for Preparing Business Plan):

वर्तमान परिदृश्य में आप कुछ भी बिजनेस शुरू करने की योजना बना लें लेकिन उस बिजनेस में प्रतिस्पर्धा आपको अवश्य देखने को मिलेगी । इसलिए एक अच्छे बिजनेस प्लान के अंतर्गत प्रतिस्पर्धा का विश्लेषण किया जाना भी अति आवश्यक है।

इस तरह का यह विश्लेषण करके उद्यमी उस बाजार में उपलब्ध अपने प्रतिस्पर्धियों की ताकत एवं कमजोरियों को जान पायेगा जिससे उसे अपने बिजनेस की रणनीतियां बनाने में सहायता प्राप्त होगी। इससे उद्यमी न केवल प्रतिस्पर्धियों से लड़ने के लिए सज्ज हो पायेगा बल्कि उसके बिजनेस को विकसित होने में आने वाली बाधाओं, कमजोरियों, विकास चक्र का शोषण इत्यादि को दूर कर पाने में भी सक्षम हो पायेगा।  

5. डिजाईन एवं डेवलपमेंट प्लान (Design and Development):

Business Plan लिखते वक्त डिजाईन एवं डेवलपमेंट की योजना बना लेना भी अति आवश्यक होता है इस तरह की योजना का मकसद निवेशक को प्रोडक्शन के संदर्भ में उत्पाद का विवरण, डिजाईन, चार्ट इत्यादि प्रदान करना भी है। क्योंकि लोग पैसा तभी निवेश कर पाएंगे जब उन्हें लगेगा की उत्पादित होने वाला उत्पाद की डिजाइनिंग इत्यादि सब कुछ ठीक है। इसके अलावा इस तरह का यह प्लान कंपनी को मार्केटिंग बजट प्रावधानित करने में भी सहायता प्रदान करेगा जिससे कंपनी अपने लक्ष्यों को पाने में सफल हो पायेगी।   

6. संचालन एवं प्रबंधन योजना (Operations & Management):

बिजनेस प्लान में संचालन एवं प्रबंधन की योजना का वर्णन करना इसलिए जरुरी हो जाता है ताकि उद्यमी या अन्य बिजनेस प्रमोटर, निवेशक इत्यादि को पता चल सके की भविष्य में बिजनेस निरंतर किस आधार पर कार्य करने वाला है। बिजनेस की संचालन योजना संगठन की लोजिस्टिक, प्रबंधन टीम की विभिन्न जिम्मेदारियों, प्रत्येक प्रभाग/विभाग को सौंपे गए कार्यों, व्यवसाय के संचालन से सम्बंधित पूँजी एवं खर्चे की आवश्यकताओं को उजागर करने का काम करेगी। इसलिए संचालन एवं प्रबंधन योजना भी बेहद जरुरी है।   

7. वित्तीय कारक (Financial Factors of your Business Plan):

यद्यपि एक अच्छे Business Plan में वित्तीय आंकड़े/डाटा हमेशा इस योजना से पीछे ही रहते हैं। लेकिन इसके बावजूद अक्सर देखा गया है की कोई भी उद्यमी उसके पास उपलब्ध फण्ड के मुताबिक ही अपने बिजनेस की योजना को आगे बढ़ाने की योजना बनाता है। इसलिए बिजनेस प्लान बनाते समय वित्तीय कारक भी संचालन एवं प्रबंधन से कम महत्वपूर्ण नहीं है। इसलिए वित्तीय कारकों का भी वर्णन होना आवश्यक हो जाता है।  

यह भी पढ़ें

12 Comments

  1. Avatar for vineet vineet
    May 24, 2020
  2. Avatar for Kiran Garade Kiran Garade
    June 14, 2020
  3. Avatar for Dharmendra sahu Dharmendra sahu
    August 26, 2020
  4. Avatar for Jagdish kumawat Jagdish kumawat
    October 3, 2020
  5. Avatar for shikha shikha
    January 30, 2021
  6. Avatar for Md Tahir Md Tahir
    February 7, 2021
  7. Avatar for AJAY SHINDE AJAY SHINDE
    March 8, 2021
  8. Avatar for Amar Kumar Vishwakarma Amar Kumar Vishwakarma
    March 28, 2021
    • Avatar for BusinessPlan BusinessPlan
      March 30, 2021
  9. Avatar for Ajay mandloi Ajay mandloi
    June 17, 2021
  10. Avatar for Rajaram Rajaram
    July 26, 2021
  11. Avatar for Anand Anand
    September 23, 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: Content is protected !!