कार धुलाई का बिजनेस कैसे शुरू करें? 7 Steps to Start a Car Washing Business.

जैसा की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की वर्तमान में Car Washing का बिजनेस शुरू करना बेहद लाभकारी हो सकता है इसका मुख्य कारण मध्यम वर्ग परिवारों में हो रही वृद्धि और देश में कारों की बढती बिक्री है। जैसा की हम सब जानते हैं की हमारा देश भारत जनसँख्या में दूसरा सबसे बड़ा देश है इसलिए यहाँ पर हर तरह के उत्पाद के लिए एक बहुत बड़ा बाजार विद्यमान हैं। और लोगों की जीवनशैली में हो रहे बदलाव एवं मध्यम वर्ग परिवारों की संख्या में हो रही वृद्धि के चलते वाहन धारकों की संख्या भी देश में बढ़ रही है।

इन वाहनों में कार और मोटरसाइकिल व्यकितगत वाहन के तौर पर इस्तेमाल में लाये जाने वाले प्रमुख वाहन हैं। अब जब कारधारकों की संख्या देश में बढ़ रही है तो इनके मेंटेनेंस, रिपेयरिंग और धुलाई सेण्टर की संख्या का बढ़ना भी स्वभाविक है इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से कोई इच्छुक व्यक्ति खुद की Car Washing Unit कैसे स्थापित कर सकता है। विषय पर वार्तालाप करने वाले हैं लेकिन उससे पहले यह जान लेते हैं की इस तरह की यह यूनिट होती क्या है।

Car Washing Business

कार वाशिंग यूनिट क्या है? (What is Car Washing Unit):

Car Washing Unit से हमारा आशय एक ऐसे स्थान या जगह से है जहाँ पर लोग अपनी कार को धोने के लिए ले जाते हैं। आम तौर पर ऐसी जगह पर कार को खड़ा करने की जगह सीमेंट इत्यादि से थोड़ी ऊँची बनाई जाती है और बीच की जगह को पानी का निकास करने के लिए नीचे रखा जाता है। विकाशशील देशों में तो आम तौर पर मैन्युअल कार वाशिंग यूनिट का ही चलन है जबकि विकसित देशों में आटोमेटिक कार वाश यूनिट काफी आम हैं।

वहां पर आम तौर पर ऐसे सेण्टर पेट्रोल पंप या फिर ईधन भरने वाले स्टेशनों के नज़दीक होते हैं। इन आटोमेटिक कार धुलाई वाले सेण्टरोंको स्वचालित ब्रश और लॉजिकल प्रोग्राम कंट्रोलर के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है। इस तरह के सेण्टरों में फोमिंग, वाशिंग, ड्राइंग और ब्रुशिंग इत्यादि सभी प्रक्रियाएं आटोमेटिक की जा सकती हैं।

आटोमेटिक कार वाश सिस्टम

Automatic Car Washing Unit की यदि हम बात करें तो पहली स्वचालित कार धुलाई सेण्टर की शुरुआत 1930 के दशक में हो गई थी। इस तरह के केंद्र सुरंग टाइप बिल्डिंग में खोले जाते हैं ताकि कारों के ड्राईवर कार को आसानी से धुलाई के लिए खड़ी कर सकें। इनमें भुगतान करने का सिस्टम भी स्वचालित होता है तो कहीं भुगतान मैन्युअल तरीके से भी किया जाता है। इन स्वचालित केन्द्रों में ऐसा तंत्र विकसित किया जाता है की यहाँ पर सभी प्रकार का नियंत्रण एक मास्टर कंप्यूटर के माध्यम से हो रहा होता है।

इसमें जब ग्राहक सुरंग द्वार तक पहुँचता है तो आम तौर पर एक कर्मचारी उसे गाड़ी को खड़ी करने में इस्तेमाल होने वाले ट्रैक या कन्वेयर की तरफ इशारा करता है ताकि ग्राहक उसी ट्रैक पर कार को खड़ा कर सके। कुछ Car Washing Unit में कार के टायर को सेंसर से होकर गुज़ारा जाता है और सिस्टम कई रोलर्स को भेज देता है टायर सेंसर का काम यह बताने का होता है की पहिये कहाँ और कितनी दूर हैं। जबकि मैन्युअल प्रणाली में ग्राहक को कर्मचारी द्वारा ही मार्गदर्शित किया जाता है।

और कार की धुलाई भी पानी के तेज प्रेशर वाले पाइप के माध्यम से मैन्युअल ढंग से ही की जाती है। हालांकि भारत में आटोमेटिक कार वाशिंग यूनिट स्थापित करने के लिए करोड़ों रूपये का निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है इसलिए उद्यमी चाहे तो शुरूआती दौर में मैन्युअल तरीके से कार धुलाई सेण्टर शुरू कर सकता है।

कार वाशिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to Start a Car Washing Business):

यदि कोई इच्छुक उद्यमी Car Washing Business को सही ढंग से शुरू करे तो उसके लिए यह बिजनेस शुरू करना मजेदार, दिलचस्प और लाभदायक व्यवसाय हो सकता है। और यह उद्यमी के बजट पर निर्भर करेगा की वह आटोमेटिक वाशिंग यूनिट स्थापित करना चाहता है या फिर मैन्युअल तरीके से कार धुलाई का सेण्टर खोलना चाहता है। वैसे शुरूआती दौर में उद्यमी के लिए कम बजट वाला यानिकी मैन्युअल तरीके से कार धुलाई सेण्टर खोलने की ही योजना बनानी चाहिए और जैसे जैसे उसका व्यवसाय बढ़ने वैसे वैसे वह उस धुलाई केंद्र में मशीनरी और उपकरणों की संख्या में बढ़ोत्तरी कर सकता है।

इसके अलावा यदि उद्यमी अपने व्यवसाय के लिए सही स्थान का चुनाव करे, अच्छी मार्केटिंग करे और ग्राहकों को हाई क्वालिटी सर्विस प्रदान करे तो वह कई ग्राहकों को आकर्षित करने में कामयाबी पा सकता है। तो आइये जानते हैं की कोई इच्छुक व्यक्ति कैसे स्वयं का Car Washing Unit शुरू कर सकता है।

1. Car Washing बिजनेस पर रिसर्च करें

बात जब Car Washing Business की हो रही हो तो इसमें कोई दो राय नहीं की इस व्यवसाय में कोई आम आदमी तो उद्यमी का ग्राहक होगा नहीं, बल्कि सिर्फ वही लोग उद्यमी के ग्राहक होंगे जिनके पास खुद की कार होगी। इसलिए उद्यमी को सबसे पहले उस एरिया में निवासित ऐसे लोगों की संख्या का पता करना होगा जिनके पास खुद की कार हो, क्योंकि उद्यमी यदि एक ऐसे एरिया में इस तरह का व्यवसाय शुर करेगा, जहाँ कारधारकों की संख्या अधिक होगी।

तो उसके व्यवसाय के चलने की संभावना स्वत: ही अधिक हो जाती है, इसके अलावा उद्यमी को उस एरिया में निवासित लोगों की आदतों के बारे में भी पता होना चाहिए। क्योंकि बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो अपने घर पर ही अपनी कार की धुलाई करना पसंद करते हैं तो वहीँ कुछ लोग हर हफ्ते या पन्द्रह बीस दिन में एक बार व्यवसायिक रूप से धुलाई करना पसंद करते हैं। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो हर बार कार धुलाई के लिए Car Washing Unit में जाना ही पसंद करते हैं।

2. स्थानीय क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा का जायजा लें

हालांकि किसी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा का होने का मतलब यह बिलकुल नहीं होता है की हमें उस क्षेत्र में उसी तरह का व्यवसाय शुरू नहीं करना चाहिए। बल्कि ऐसे क्षेत्र जहाँ पर पहले से ही Car Washing Unit में प्रतिस्पर्धा हो वहां पर पहले से चल रही इन इकाइयों की कमी और मजबूती का पता करना और उसी हिसाब से अपने व्यवसाय की योजना बनाना उद्यमी को पहले से मौजूद इकाइयों से भी आगे प्रगति करने में सहायक होता है। इसलिए उद्यमी को चाहिए की जिस क्षेत्र में वह इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने का विचार कर रहा हो, उस क्षेत्र में उपलब्ध प्रतिस्पर्धा का आकलन अवश्य करे।

3. प्रभावी बिजनेस प्लान तैयार करें  

जैसा की हम सब जानते हैं की एक बिजनेस प्लान किसी भी व्यवसाय का रोडमैप होता है जिसके माध्यम से उद्यमी व्यवसायिक उपलब्धियों और कमियों को जान पाता है। इसलिए Car Washing Unit स्थापित करने के लिए भी उद्यमी को एक प्रभावी बिजनेस प्लान तैयार करने की आवश्यकता होती है। ताकि उद्यमी को न सिर्फ उसकी परियोजना में आने वाली लागत का पता चल सके, बल्कि एक निश्चित समय के बाद उसका व्यवसाय किस मुकाम तक पहुंचेगा और कैसे पहुंचेगा इत्यादि की भी जानकारी हो सके। एक प्रभावी बिजनेस प्लान कैसे तैयार करें की अधिक जानकारी के लिए यह पढ़ें।

4. वित्त का प्रबंध करें

अब चूँकि उद्यमी ने अपने Car Wash Unit के लिए एक प्रभावी बिजनेस प्लान तैयार कर लिया होगा तो अब तक उसे उसकी योजना के अधर पर पता चल ही गया होगा की उसे अपनी परियोजना को जमीन पर उतारने के लिए कितने वित्त की आवश्यकता होगी। अब उद्यमी विभिन्न स्रोतों जैसे किसी सरकारी योजना के तहत सब्सिडी ऋण, बैंक ऋण, व्यक्तिगत बचत इत्यादि के माध्यम से वित्त का प्रबंध करने का प्रयत्न कर सकता है।

5. Car Washing यूनिट के लिए लोकेशन

Car Washing Unit स्थापित करने के लिए आदर्श लोकेशन एक ऐसा एरिया हो सकता है जहाँ पर अधिकतर लोगों के पास खुद की कार हो। इसके अलावा उद्यमी की यूनिट किसी प्रमुख सड़क के किनारे होनी भी अत्यंत आवश्यक है ताकि जरुरत पड़ने पर न सिर्फ स्थानीय लोग बल्कि उस सड़क पर आने जाने वाली हर कार उसकी संभावित ग्राहक की लिस्ट में शामिल हो सके। उसके बाद उद्यमी को उस उचित लोकेशन पर उचित जगह किराये पर लेकर थोड़ा बहुत कंस्ट्रक्शन कार्य भी कराना पड़ सकता है लेकिन ध्यान रहे उस लोकेशन पर बिजली और पानी की उपलब्धता प्रचुर मात्रा में होना अनिवार्य है।

6. उपकरण एवं कच्चा माल खरीदें

वैसे तो किसी Car Washing Unit में इस्तेमाल में लाये जाने वाले उपकरणों की लिस्ट उसके आकार, प्रकार और ऑफर की जाने वाली सर्विसेज के आधार पर अलग अलग हो सकते हैं। लेकिन कुछ प्रमुख उपकरणों की लिस्ट इस प्रकार से है।

  • स्टीम जेट मशीन
  • क्विक कनेक्ट सिस्टम, गन, होज पाइप इत्यादि के साथ हाई प्रेशर
  • स्प्रे एक्सट्रैक्शन मशीन
  • वेट और ड्राई वैक्यूम मशीन
  • ड्यूल एक्शन पॉलिशर     

कच्चे माल की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है

  • कार वाश केमिकल
  • कार केयर प्रोडक्ट्स
  • रबिंग और वाशिंग
  • पेंट प्रोटेक्शन
  • एलाय ट्रीटमेंट
  • इंजन कोटिंग इत्यादि  

7. मार्केटिंग करें और अपनी सर्विस प्रदान करें

अब यदि उद्यमी ने सफलतापूर्वक अपनी Car Washing Unit को स्थापित कर दिया हो तो अब उसका अगला कदम अपने व्यवसाय की मार्केटिंग करने का होना चाहिए। इसके लिए उद्यमी चाहे तो मार्केटिंग के पारम्परिक तरीके जैसे गली मोहल्ले में स्पीकर इत्यादि के माध्यम से लोगों को सूचित कराना, घर घर जाकर पम्पलेट बंटवाना, लोकल केबल टेलीविजन में विज्ञापन देना या फिर आधुनिक एवं इन्टरनेट मार्केटिंग के तरीके फेसबुक, यूट्यूब, गूगल इत्यादि कजा भी सहारा ले सकता है।  

अन्य भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *