फ़ूड डिलीवरी बिजनेस कैसे शुरू करें? 6 Steps to Start a Food Delivery Business.

हमारा देश भारत एक विशाल देश है और यह विशिष्ट व्यंजनों के लिए जाना जाता है ऐसे में यहाँ Food Delivery Business शुरू करना काफी लाभकारी हो सकता है। भारत में अलग अलग राज्यों में खान पान की आदतें और व्यंजन अलग अलग हैं यहाँ के हर हिस्से में खाने का ऐसा स्वाद है जो एक हिस्से से दुसरे हिस्से में बहुत अलग है। पिछले कुछ वर्षों में भारत में Food Delivery का प्रचलन काफी ज्यादा बढ़ गया है यहाँ पर भारतीय व्यंजनों के साथ साथ वैश्विक व्यंजनों की मांग में भी काफी वृद्धि देखी गई है।

फ़ूड होम डिलीवरी नामक इस संस्कृति की यदि हम बात करें तो सबसे पहले इसकी शुरुआत टेलीफ़ोन डिलीवरी के माध्यम से हुआ था क्योंकि उस समय त्वरित डिलीवरी प्रदान करना काफी जटिल और महंगा हुआ करता था। इसलिए लोग अपने घर के पास के रेस्तरां से टाई अप रखते थे और जब उन्हें जरुरत होती तब वे टेलीफोन के माध्यम से पास के रेस्तरां से खाना डिलीवर करने के लिए कह देते थे। लेकिन आज भारत में जोमेटो, स्विगी जैसी कंपनीयाँ फ़ूड होम डिलीवरी का काम सफलतापूर्वक करके आगे बढ़ रही हैं।

आज के समय में लोग घर बैठे अपने शहर के किसी भी रेस्टोरेंट, होटल, भोजनालय का खाना आसानी से आर्डर कर सकते हैं। चूँकि लोगों के जीवनस्तर में हो रहे बदलावों और अलग अलग खाने का स्वाद चखने की आदत के कारण लोग अपने घर पर ही विभिन्न रेस्तरां, होटल इत्यादि से खाना मंगाना पसंद करने लगे हैं। ऐसे में Food Delivery Business शुरू करना किसी भी उद्यमी के लिए एक लाभकारी बिजनेस हो सकता है।

Food Delivery Service Business

फ़ूड डिलीवरी बिजनेस क्या है (What is Food Delivery Business in Hindi):

Food Delivery एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें होटल, रेस्तरां, ढाबा, भोजनालयों इत्यादि से भोजन लेकर ग्राहकों के घरों तक पहुँचाया जाता है। इस तरह के इस व्यवसाय में उद्यमी को लोगों द्वारा किसी होटल, रेस्तरां से आर्डर किये गए खाने को एक निर्धारित समय में उनके घरों या दिए गए पते तक पहुँचाना होता है। वर्तमान में बड़े शहरों में यह प्रचलन बड़ी तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है और लोग किसी भी होटल, रेस्तरां के प्रसिद्ध खाने को अपने घर बैठे आर्डर कर सकते हैं।

फ़ूड डिलीवरी व्यवसाय की बढती मांग

इसमें कोई दो राय नहीं की समय व्यतीत होने के साथ साथ Food Delivery की माँग में भी काफी वृद्धि देखने को मिली है। नई नई तकनीक संचालित इनोवेशन के आने से लोगों की पसंद ऑनलाइन खरीदारी और होम डिलीवरी के प्रति काफी बढ़ी है। आज ऑफिस इत्यादि में काम करने वाला वर्ग बड़े पैमाने पर लंच ऑफिस में ही मंगाना पसंद करता है। गूगल और बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत का ऑनलाइन खाद्य वितरण व्यापार 25-30% चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि की दर से बढ़ सकता है जिसकी 2022 तक लगभग 7.5-8 बिलियन डॉलर होने की संभावना है।

फ़ास्ट फ़ूड देश में काफी प्रचलित हो गया है, और पिज़्ज़ा, बर्गर इत्यादि फ़ास्ट फ़ूड लोगों द्वारा ऑनलाइन आर्डर किये जा रहे हैं। कहने का आशय यह है की वर्तमान में लगभग हर प्रकार के खाने को लोग ऑनलाइन आर्डर करना पसंद कर रहे हैं वह इसलिए क्योंकि उनका मनपसंदीदा रेस्टोरेंट होम डिलीवरी की सुविधा की वजह से उनके घर में ही आ जा रहा है।

फ़ूड डिलीवरी बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start a Food Delivery Business in India):  

Food Delivery Business को कोई भी उद्यमी बेहद कम संसाधनों के माध्यम से भी शुरू कर सकता है लेकिन अपने व्यवसाय की मार्केटिंग और उसके लिए योग्य कर्मचारियों की नियुक्ति से लेकर प्रशिक्षण इत्यादि में उद्यमी को अच्छे खासे निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है।

इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने के लिए भी उद्यमी को ऑफिस, कंप्यूटर, लैपटॉप, सॉफ्टवेयर, मैनपावर, लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन इत्यादि की आवश्यकता होती है। तो आइये जानते हैं की उद्यमी किसी तरह से इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकता है।

1. व्यवसाय का स्वरूप चुनें

Food Delivery Business को उद्यमी दो तरीकों से शुरू कर सकता है पहला तरीका यह है की वह एक विशेष एरिया में स्थित होटल, रेस्तरां, भोजनालयों इत्यादि से इस तरह के अनुबंध कर सकता है की जो भी उनकी वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन आर्डर होंगे उनकी डिलीवरी की जिम्मेदारी उसकी रहेगी। बदले में होटल, रेस्तरां को उसे प्रत्येक डिलीवरी के हिसाब से भुगतान करना होगा।

इस तरीके में उद्यमी को खुद की वेबसाइट या मोबाइल एप्प डेवलप करने की आवश्यकता नहीं होती, क्योंकि लोग होटल और रेस्तरां की वेबसाइट या फोन कॉल पर ही आर्डर दे देते हैं। लेकिन पहले तरीके से बेहतर इस व्यवसाय को शुरू करने का दूसरा तरीका है इसमें उद्यमी को खुद की वेबसाइट और मोबाइल एप्प डेवलप करने की आवश्यकता होती है और वह भी तब जब उसने उस एरिया विशेष में उपलब्ध सभी होटल रेस्तरां इत्यादि से टाई अप कर लिया हो।

टाई अप से आशय उद्यमी ने प्रत्येक डिलीवरी पर रेट, नियम, शर्तें इत्यादि फाइनल कर ली हों उसके बाद ही वह विभिन्न होटल रेस्तरां के मेनू और उनकी अन्य जानकारी अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकता है। इस तरीके में ग्राहकों द्वारा सीधे उद्यमी की वेबसाइट के माध्यम से खाना आर्डर किया जाता है और इसकी सूचना डिलीवरी कंपनी को उस होटल या रेस्तरां को देनी होती है जहाँ से ग्राहक ने खाना आर्डर किया हो। सूचित करने की यह प्रक्रिया आटोमेटिक और मैन्युअल दोनों तरीके से हो सकती है। Food Delivery Business शुरू करने के लिए सर्वप्रथम उद्यमी को व्यवसाय के स्वरूप को चुनना होगा।      

2. ऑफिस की स्थापना करें (Office for Food Delivery Business)

हालांकि शुरूआती दौर में Food Delivery Business को घर से भी शुरू किया जा सकता है लेकिन यदि उद्यमी इस व्यवसाय को सफल बनाकर लम्बी अवधि तक इसमें बना रहना चाहता है तो उसे किसी स्थानीय मार्किट में एक ऑफिस किराये पर अवश्य लेना चाहिए ताकि होटल, रेस्तरां इत्यादि उद्यमी के साथ व्यवसाय शुरू करने में किसी प्रकार की कोई शंका न रखें।

ग्राहक भी एक ऐसे उद्यम पर अधिक विश्वास करते हैं जिसका अपना कोई पंजीकृत ऑफिस उपलब्ध हो। इसके अलावा इस व्यवसाय को शुरू करने में इस्तेमाल में लायी जाने वाली वेबसाइट और मोबाइल एप्प पर ट्रैफिक बढ़ जाने के बाद उद्यमी को वेब डेवलपर, सॉफ्टवेयर इंजिनियर भी नियुक्त करने की आवश्यकता हो सकती है, वे भी उद्यमी के साथ काम करने में तभी दिलचस्पी दिखायेंगे जब उद्यमी का कोई पंजीकृत ऑफिस हो।  

3. आवश्यक लाइसेंस और पंजीकरण प्राप्त करें

भारत में Online Food Delivery Business शुरू करने के लिए उद्यमी को निम्नलिखित लाइसेंस और पंजीकरण की आवश्यकता हो सकती है।

  • अपने व्यवसाय को प्रोप्राइटरशिप या वन पर्सन कंपनी के तहत रजिस्टर कराएँ।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होगी।
  • स्थानीय प्राधिकरण से शॉप्स एंड एस्टाब्लिश्मेंट एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन।
  • FSSAI License की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • डोमेन रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होगी।
  • पेमेंट गेटवे की आवश्यकता होगी।
  • खुद का ब्रांड स्थापित और उसकी सुरक्षा के लिए ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होगी।  

4. एक वेबसाइट और मोबाइल एप्प बनायें

Online Food Delivery बिजनेस शुरू करने के लिए उद्यमी को अपने व्यवसाय के नाम की एक वेबसाइट बनानी होगी वर्तमान में जो भी उद्यमी इस व्यवसाय से जुड़े हुए हैं उनके द्वारा इस व्यवसाय के इसी स्वरूप को अपनाया गया है। कहने का आशय यह है की खुद का फ़ूड डिलीवरी बिजनेस शुरू करने के लिए उद्यमी को खुद की वेबसाइट बनानी होगी वेबसाइट बनाने के लिए उद्यमी को सबसे पहले अपने व्यवसाय के नाम के मुताबिक डोमेन रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

गोडैडी डोमेन बेचने वाली एक प्रसिद्ध वेबसाइट है। उद्यमी चाहे तो यह पूरा काम किसी फ्रीलांसर वेब डेवलपर की मदद से भी कर सकता है। सिर्फ वेबसाइट ही नहीं उद्यमी को व्यवसाय की मोबाइल एप्प भी तैयार करनी होगी जिसका इस्तेमाल करके ग्राहक अपने फ़ोन से ही खाना आर्डर कर सकें।      

5. डिलीवरी नेटवर्क स्थापित करें (Delivery Network for Food Delivery Business)

Food Delivery Business शुरू करने के लिए जब उद्यमी द्वारा उपर्युक्त सभी कदम पूर्ण कर लिए जाते हैं तो उसके बाद उद्यमी को डिलीवरी नेटवर्क स्थापित करने की आवश्यकता होती है। डिलीवरी नेटवर्क से हमारा आशय उन लोगों से है जो आपके लिए एक एजेंट के तौर पर कार्य करेंगे। उन्हें अपने साथ जोड़ने के लिए आप अपनी वेबसाइट या ऑफिस का पता दे सकते हैं।

कहने का आशय यह है की अब उद्यमी का अगला कदम डिलीवरी पार्टनर की नियुक्ति का होना चाहिए हालांकि इन्हें सैलरी बेस पर न रखकर प्रत्येक डिलीवरी के भुगतान के आधार पर रखना डिलीवरी पार्टनर और डिलीवरी कंपनी दोनों के लिए बेहतर होता है। उद्यमी दो पहिये वाहन धारकों को अपने डिलीवरी पार्टनर के तौर पर नियुक्त करके उन्हें कमाने का मौका देने के साथ साथ खुद के व्यवसाय को भी सफल बना सकता है।      

6. अपने वेबसाइट की मार्केटिंग करें

Online Food Delivery का व्यवसाय शुरू कर चुके उद्यमी को एक बात का ध्यान रखना चाहिए की उसकी कमाई तभी संभव है जब लोग उसकी वेबसाइट या उसकी मोबाइल एप्प के माध्यम से खाने का आर्डर करने लगें। और लोग यह तब करेंगे जब उन्हें वेबसाइट या मोबाइल एप्प के बारे में सूचना या जानकारी होगी इसलिए अपने संभावित ग्राहकों को सूचना या जानकारी देने के लिए उद्यमी को अपने वेबसाइट एवं मोबाइल एप्प को अनेकों तरीके अपनाकर प्रमोट करना होगा।  

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *